मौलाना साद का नया पैंतरा, क्राइम ब्रांच को दिया नया झोल

मौलाना साद ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को पत्र लिख कर कहा है कि वह उनके खिलाफ जांच में सहयोग करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि, वो पहले ही क्राइम ब्रांच की ओर से मिले नोटिसों का जवाब देकर इस जांच का हिस्सा बन चुके हैं।

नई दिल्ली: तबलीगी जमात के प्रमुख मौलाना साद कांधलवी ने पुलिस से भागते फिर रहे हैं। अब मौलाना साद ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को पत्र लिख कर कहा है कि वह उनके खिलाफ जांच में सहयोग करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि, वो पहले ही क्राइम ब्रांच की ओर से मिले नोटिसों का जवाब देकर इस जांच का हिस्सा बन चुके हैं।

यह भी पढ़ें: ‘राज कुमार’ ने दिखायी दरियादिली, लॉकडाउन रहने तक भूखे कलाकारों को लिया गोद

नोटिस का जवाब देकर पहले ही बन चुके हैं जांच का हिस्सा

गुरुवार को लिखे इस पत्र में मौलाना साद कांधलवी ने क्राइम ब्रांच से कहा कि अगर उनकी FIR में किसी नई धारा को नहीं जोड़ा गया है तो उन्हें इसकी सूचना दी जाए और उन्हें इसकी एक प्रति भी उपलब्ध कराया जाए। इस पत्र में कहा गया है कि 1 और 2 अप्रैल को जारी नोटिसों का जवाब देकर वह पहले से ही इस जांच का हिस्सा बन चुके  हैं। तबलीगी जमात के प्रमुख ने कहा है कि वह जांच में सहयोग करने के लिए हमेशा तैयार हैं।

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: इस दिन मिलेगी हॉटस्पॉट इलाकों में ढील, जान लें ये जानकारी

मौलाना साद समेत सात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज

आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच ने 31 मार्च को ही मौलाना साद समेत सात लोगों खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। पुलिस ने निजामुद्दीन थाने के एसएचओ की शिकायत पर केस दर्ज किया था। एफआईआर लॉकडाउन के आदेश का खुला उल्लंघन करते हुए धार्मिक आयोजन में तबलीगी जमात के अनुयायियों की भीड़ जमा करने के कारण दर्ज की गई है।

इसके अलावा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी मौलाना साद और जमात के जुड़े ट्रस्ट और अन्य के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया है। ईडी ने दिल्ली पुलिस की एफआईआर के आधार पर प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

यह भी पढ़ें: डॉक्टर का पड़ोसियों से झगड़ा, लोगों ने बताई कोरोना वार्ड में ड्यूटी ही वजह, लेकिन…

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App