कोरोना से राहत मिली तो 1 सितंबर से खुल सकती हैं दिल्ली की अदालतें

यूपी, केरल और महाराष्ट्र में जहां कोरोना के केस दोगुनी रफ्तार से बढ़ते ही जा रहे हैं।वहीं देश की राजधानी नई दिल्ली में कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ने लगी है।

कोर्ट की प्रतीकात्मक फोटो

कोर्ट की प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: यूपी, केरल और महाराष्ट्र में जहां कोरोना के केस दोगुनी रफ्तार से बढ़ते ही जा रहे हैं।वहीं देश की राजधानी नई दिल्ली में कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ने लगी है।

दिल्ली में अभी तक कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 1 लाख 48 हजार है। इस संक्रमण से 4153 लोगों की मौत हो चुकी है। राहत की बात है कि अब तक 1,33,405 लोग कोरोना वायरस को मात दे चुके हैं। बावजूद दिल्ली सरकार कोरोना को लेकर सतर्क है।

अब दिल्ली से ही खबर आ रही है कि अगर कोरोना की रफ्तार इसी गति से थमती गई तो 1 सितम्बर से दिल्ली हाईकोर्ट से जुड़ी अदालतों को खोल दिए जाएगा।

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस योजना पर अमल पब्लिक ट्रांसपोर्ट की स्थिति को देखते हुए ही किया जा सकता है। अगर दिल्ली में लोगों के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट उपलब्ध होंगे तभी कोर्ट खोली जाएंगे। इतना ही नहीं दिल्ली में कोरोना की मौजूदा स्थिति को भी देखा जाएगा।

ये भी पढ़ेंः सैनिकों को बड़ा तोहफा: 12 लाख रुपये का लाइफ कवर, एचडीएफसी ने किया एलान

कोरोना वायरस में मरीज की मौत की फाइल फोटो
कोरोना वायरस में मरीज की मौत की फाइल फोटो

1,33,405 लोग कोरोना वायरस को दे चुके हैं मात

गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1 लाख 48 हजार को पार कर गया है। जबकि इस संक्रमण से 4153 लोगों की जान गई है। गनीमत ये है कि अब तक 1,33,405 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित होने के उपरांत इलाज मिलने पर ठीक हो चुके हैं।

दिल्ली में कोविड-19 रिकवरी रेट पहली बार 90% के पार हुआ है। साथ ही मृत्यु दर में भी काफी कमी आई है। जबकि राजधानी में बीते 11 दिनों में चार से पांच बार कोरोना के मामले 1000 से कम रहे हैं।

ये भी पढ़ें- सहमी सरकार: केरल हादसे से हुआ कोरोना विस्फोट, सीएम-मंत्री तक पहुंचा खतरा

कोरोना टेस्ट करते डॉक्टर की फाइल फोटो
कोरोना टेस्ट करते डॉक्टर की फाइल फोटो

स्थिति पूरी तरह नियंत्रित होने के बाद ही खुलेंगे स्कूल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 2 महीने पहले दिल्ली में कोरोना के मामले बहुत ज्यादा बढ़ रहे थे, लेकिन आज स्थिति काफी अच्छी है। हमने प्लाज्मा बैंक, होम आइसोलेशन, टेस्टिंग में बढ़ोतरी, बेड की संख्या में बढ़ोतरी सहित कई कदम उठाए हैं।

दिल्ली सचिवालय में स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के अवसर पर कहा कि सरकार तब तक स्कूलों  को नहीं खोलेगी जब तक वह शहर में कोविड-19 की स्थिति ठीक होने के बारे में पूरी तरह से आश्वस्त नहीं हो जाती।

ये भी पढ़ेंः मोदीजी जान बचाओः कोरोना से लड़ाई में जान गंवा रहे निजी डॉक्टर्स, नहीं मिल पाता इलाज

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App