PNB घोटाला: कोर्ट ने सुनाया बड़ा फैसला, अब क्या करेगा भगोड़ा नीरव मोदी

पंजाब नेशनल बैंक में हुए 13 हजार करोड़ रुपये के घोटाले के मुख्य आरोपी कारोबारी नीरव मोदी को बड़ा झटका लगा है। अब उसकी जब्त संपत्तियां बैंक को सौंपी जाएंगी। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा जब्त नीरव मोदी की संपत्ति पीएनबी को दी जाएगी।

nirav modi

file photo

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक में हुए 13 हजार करोड़ रुपये के घोटाले के मुख्य आरोपी कारोबारी नीरव मोदी को बड़ा झटका लगा है। अब उसकी जब्त संपत्तियां बैंक को सौंपी जाएंगी। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा जब्त नीरव मोदी की संपत्ति पीएनबी को दी जाएगी। ईडी ने नीरव मोदी की 1,200-1,500 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है।

बता दें कि नीरव मोदी को पिछले साल मार्च में लंदन में गिरफ्तार किया गया था। तब से वह दक्षिण-पश्चिम लंदन की वैंड्सवर्थ जेल में बंद है। नीरव मोदी की 1,200-1,500 करोड़ रुपये की संपत्ति पीएनबी के पास बंधक है और ईडी द्वारा जब्त की गई ये संपत्ति अब पीएनबी को वापस कर दी जाएगी। पीएनबी के पास मॉर्गेज संपत्तियों में शेयर और दक्षिण मुंबई में प्रॉपर्टीज हैं।

इसके अलावा मेहुल चोकसी को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किए जाने के बाद पीएनबी के पास मॉर्गेज उनकी संपत्ति भी बैंक को लौटा दी जाएगी। पिछले महीने ईडी की याचिका पर एक अदालत ने फैसला सुनाया।

यह भी पढ़ें…महाराष्ट्र में कैबिनेट का एक्सटेंशन होते ही क्यों बढ़ गई है ‘उद्धव’ की टेंशन?

नीरव मोदी, विजय माल्या के बाद दूसरा ऐसा कारोबारी है जिसे नए भगोड़ा आर्थिक अपराधी अधिनियम के तहत भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित किया गया है। ये अधिनियम पिछले साल अगस्त में प्रभाव में आया था।

यह भी पढ़ें…सेना में सबसे बड़ा अधिकारी सीडीएस या फील्ड मार्शल?

नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी और कई अन्य लोगों पर पीएनबी में 13 हजार करोड़ रुपये का घोटाला करने का आरोप है। नीरव मोदी के खिलाफ फ्यूजिटिव इकनॉमिक ऑफेंडर्स एक्ट इसलिए लगाया गया, क्योंकि वह 1 जनवरी 2018 को देश छोड़कर भाग गया।

यह भी पढ़ें…नए साल पर किसानों को तोहफा: PM मोदी खाते में डालेंगे इतना पैसा

नीरव मोदी पिछले साल हुई गिरफ्तारी के बाद सेन्यायिक हिरासत में है। उसे भारत लाने के लिए प्रत्यर्पण की प्रक्रिया जारी है। पिछले महीने मामा-भांजे मेहुल चोकसी और नीरव मोदी दोनों को कोर्ट ने झटका दिया था। एक तरफ लंदन में नीरव मोदी की हिरासत 2 जनवरी तक के लिए बढ़ा दी गई है तो दूसरी तरफ बॉम्बे हाई कोर्ट ने मेहुल चोकसी की उस याचिका को खारिज कर दिया।