×

Corona Vaccine: स्वदेशी 'कोवैक्सीन' का फेज-1 सफल, दूसरा परीक्षण कल से

'भारत बायोटेक' द्वारा विकसित की जा रही पूर्ण स्वदेशी कोरोना 'कोवैक्सीन' को ड्रग रेगुलेटरी ने दूसरे चरण के लिए मंजूरी दे दी है।

Newstrack
Published on: 6 Sep 2020 9:23 AM GMT
Corona Vaccine: स्वदेशी कोवैक्सीन का फेज-1 सफल, दूसरा परीक्षण कल से
X
स्वदेशी 'कोवैक्सीन' का फेज-1 सफल, दूसरा परीक्षण कल से
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: देश में एक तरफ कोरोना कहर चरम की ओर बढ़ रहा है, वहीं दूसरी ओर थोड़ी राहत भरी खबर है कि स्वदेशी कोवैक्सीन का फेज वन ट्रायल सफल हो गया है। अब 'भारत बायोटेक' द्वारा विकसित की जा रही पूर्ण स्वदेशी कोरोना 'कोवैक्सीन' को ड्रग रेगुलेटरी ने दूसरे चरण के लिए मंजूरी दे दी है।

ये भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा: हेड कांस्टेबल को मिलेगा इंसाफ, अदालत ने किया ये फैसला

कल से शुरू होगा ट्रायल

मिली जानकारी के अनुसार फेज टू में प्रवेश के लिए वैक्सीन पूरी तरह तैयार है। फेज टू यानी दूसरे चरण में कोवैक्सीन का ट्रायल सोमवार (7 सितंबर) से शुरू हो सकता है। बता दें भारत बायोटेक की इस वैक्सीन को पहले चरण में देश के अलग-अलग हिस्सों में टेस्ट किया जा चुका है। WHO के नियमानुसार पहले चरण मानव परिक्षण में शामिल वॉलंटियरों में कोरोना की फोर फोल्ड एंटीबॉडी मिली हैं। अब इस सफलता के आधार पर दूसरे फेज के ह्यूमन ट्रायल को मंजूरी मिल गयी है।

ये भी पढ़ें: इमरान-हिजबुल आतंकी: खुल गई सरकार की पोल, ये रहा पाकिस्तान का गंदा चेहरा

380 वॉलंटियर्स पर किया जाएगा टेस्ट

अब देश भर के 12 संस्थानों में 12 से 65 वर्ष की आयु के 380 वॉलंटियर्स पर वैक्सीन को टेस्ट किया जाएगा। साथ ही वैक्सीन का डोज दिए जाने के बाद अगले 4 दिन तक सभी वॉलंटियर्स की हेल्थ की स्क्रीनिंग की जाएगी। फिलहाल देश की पहली स्वदेशी कोरोना वैक्सीन को ट्रायल के दूसरे चरण में भेजने की तैयारियां तेजी से की जा रही हैं।

भारत बायोटेक ने ICMR के साथ मिलकर तैयार की वैक्सीन

गौरतलब है कि इस पूर्ण स्वदेशी 'को वैक्सीन' को 'भारत बायोटेक' और ICMR ने मिलकर बनाया है। बता दें भारत बायोटेक Covid-19 वैक्सीन पर काम करने वाली 7 भारतीय कंपनियों में से एक है। ये पहली कंपनी है, जिसे वैक्सीन की क्षमता और सुरक्षा की जांच के लिए सरकार की ओर से पहले और दूसरे चरण को रेगुलेट करने की मंजूरी मिली है।

ये भी पढ़ें: कंगना का फूटा गुस्सा, बोलीं- मंत्री ने मुझे गाली दी, अब कहां है वो असहिष्णुता गैंग

15 जुलाई को शुरू हुआ था पहले चरण का ट्रायल

इस वैक्सीन के पहले चरण का ट्रायल भारत के 12 केंद्रों पर 15 जुलाई को शुरू किया गया था। इस ट्रायल में वॉलंटियर्स को 14 दिन के अंतराल में दो खुराक दी गई थी। हालांकि 375 वॉलंटियर्स पर अभी यह परीक्षण जारी है। हालांकि राहत की बात ये है कि पहले फेज की सफलता के बाद दुसरे फेज के लिए मंजूरी मिल गयी है ।

ये भी पढ़ें: इस दिग्गज संत का निधन, 1200 साल पुराने मठ के थे प्रमुख, हर तरफ शोक की लहर

Newstrack

Newstrack

Next Story