तूफान निवार की तबाही: ये सब हुए धराशायी, रिहायशी इलाकों में हाहाकार

बंगाल की खाड़ी में सक्रीय हुआ तूफान निवार तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों को पार कर गया है। निवार का असर कई जगहों पर देखने को मिला है। इसके चलते कई पेड़ धराशायी हो गए तो वहीं कई जगहों पर दीवारें गिर गईं हैं।

nivar

तूफान निवार की तबाही: ये सब हुए धराशायी, रिहायशी इलाकों में हाहाकार (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: बंगाल की खाड़ी में सक्रीय हुआ तूफान निवार (Nivar Cyclone) तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटों को पार कर गया है। जानकारी के मुताबिक, यह तूफान रात करीब साढ़े 11 से देर रात ढ़ाई बजे के बीच तटों से टकराया है। अब NIVAR तेजी से तटीय इलाकों की तरफ बढ़ रहा है। पुडुचेरी को पार करने के बाद तूफान की गति कुछ कम हुई है। मौसम विभाग (IMD) का कहना है कि अब यह चक्रवाती तूफान पहले की तरह भयानक नहीं रहा, लेकिन अभी भी तेज हवाओं के साथ बारिश जारी है।

दोपहर तक कमजोर पड़ सकता है तूफान ‘निवार’

वहीं अब मौसम विभाग (IMD) ने उम्मीद जताई है कि तूफान दोपहर तक कमजोर पड़ सकता है। वहीं माना यह भी जा रहा है कि निवार की वजह से गुरुवार को पुडुचेरी में भूस्खलन हो सकता है। वहीं तमिलनाडु स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की ओर से तिरुवन्नमलई, कुडलोर, कल्लकुरिची और विल्लुपुरम में भीषण बारिश के लिए भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके अलावा चेंगलपट्टू समेत 19 जिलों में मध्यम आंधी तूफान के साथ मध्यम बारिश होने के आसार हैं।

यह भी पढ़ें: कांपे दिग्गज भाजपा नेता: अचानक चले लाठियाँ और ईंटे, जान बचाकर भागे वहाँ से

nivar update
(फोटो- ट्विटर)

निवार के चलते हुई ये बर्बादी

निवार का असर कई जगहों पर देखने को मिला है। इसके चलते कई पेड़ धराशायी हो गए तो वहीं कई जगहों पर दीवारें गिर गईं। हालांकि इस दौरान राहत की बात ये रही कि कोई जनहानि नहीं हुई है। पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणस्वामी ने चक्रवाती तूफान निवार के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं मिली है। करीब 2000 लोगों को राहत शिविरों में सुरक्षित ले जाया गया है।

यह भी पढ़ें: भारतीय संविधान के 70 साल पूरे, आज ही मिली थी लोगों को अलग पहचान

गैरजरूरी जगहों को किया गया बंद

मुख्यमंत्री ने हालांकि यह आशंका जताई है कि फसलें, छतों, पुरानी इमारतों को नुकसान हो सकता है। भारी बारिश की वजह से अधिकतर इलाकों में जलजमाव है। सीएम आवास के चारों ओर पानी भर गया था। वहीं पुडुचेरी में दूध की दुकानें, पेट्रोल पंप, अस्पताल, मेडिकल स्टोर और सरकारी दफ्तरों के अलावा सभी गैरजरूरी जगहों को बंद कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: नौकरी में बड़ा बदलाव: अब ज्यादा काम की डाल लें आदत, हो गया ये ऐलान

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App