खतरनाक हैप्पी Phd को पाकिस्तानियों ने मारा, जानें कौन था ये

पंजाब में साल 2016-17 में RSS के नेता की हत्या करने वाला आरोपी हरमीत सिंह को सोमवार को लाहौर के पास डेरा चहल गुरुद्वारा में मार गिराया गया।

नई दिल्ली: पंजाब में साल 2016-17 में RSS के नेता की हत्या करने वाला आरोपी हरमीत सिंह को सोमवार को लाहौर के पास डेरा चहल गुरुद्वारा में मार गिराया गया। आपको बता दें कि कई मामलों में वो भारत में वांटेड था जिसमें पाकिस्तान से ड्रग्स व हथियारों की तस्करी शामिल थे।

सुरक्षा अधिकारियों के अनुसार, नशीले पदार्थों की तस्करी से उपजे वित्तीय विवाद को लेकर खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (केएलएफ) के एक हेड लीडर हरमीत सिंह को पाकिस्तान के एक स्थानीय गिरोह ने मार दिया है।

ये भी पढ़ें:बेहतरीन फीचर्स के साथ भारत में लॉन्च हो रहा Xiaomi का ये नया स्मार्टफोन

आधिकारियों के मुताबिक वो खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (KLF) के प्रमुख हरमिंदर मिंटू के बाद प्रमुख की कमान संभाले हुए था। हरमिंदर मिंटू को पंजाब पुलिस ने साल 2014 में थाईलैंड से गिरफ्तार किया था। उसके बाद में वो नाभा जेल से भाग निकला लेकिन दोबारा पकड़ा गया। इसके बाद साल 2018 में उसकी हार्ट अटैक से मौत हो गई। हरमीत सिंह अमृतसर के छेहरटा का रहने वाला था और डॉक्ट्रेट कर चुका था जिसकी वजह से उसे PhD भी बुलाया जाता था। पिछले दो दशक से वो पाकिस्तान में रह रहा था।

अक्टूबर में भारत की सूचना पर इंटरपोल ने अलग अलग देशों में खलिस्तान से जुड़े आठ आतंकियो को रेड नोटिस जारी कर दिया था। हरमीत सिंह उर्फ ‘हैप्पी PhD’ इसमें से एक था।

ये भी पढ़ें:देश की राजधानी में हो रही बारिश, तो यहां गिर रहे ओले

साल 2019 में पुलिस इंटेलिजेंस ने दी थी जानकारी

मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान के KLF संचालक हरमीत ने ऑपरेशन ब्लू स्टार से बरसी पर आतंकी हमले की साजिश तैयार की थी। वैसे तो ये साजिश नाकाम रही। हैप्पी PhD राजासांसी के निरंकारी भवन में प्रार्थना सभा पर हुए ग्रेनेड हमले में भी संदिग्ध आरोपी था, जिसमें 2018 में तीन लोगों की मौत हो गई थी और बहुत से लोग घायल हो गए थे।