Top

भारत-चीन तनाव के बीच सबसे टॉप लेवल की बातचीत, राजनाथ से मिले चीनी रक्षा मंत्री

भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव चरम पर है। एलएसी पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं। इस बीच रूस के दौरे पर गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीन के रक्षा मंत्री के बीच मॉस्को में शुक्रवार को अहम बैठक हुई।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 4 Sep 2020 7:39 PM GMT

भारत-चीन तनाव के बीच सबसे टॉप लेवल की बातचीत, राजनाथ से मिले चीनी रक्षा मंत्री
X
राजनाथ सिंह ने रूस की राजधानी मॉस्को में अपने चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंघे से मुलाकात की। चीन के रक्षा मंत्री फेंघे ने राजनाथ सिंह से मिलने का समय मांगा था।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव चरम पर है। एलएसी पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने हैं। इस बीच रूस के दौरे पर गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और चीन के रक्षा मंत्री के बीच मॉस्को में शुक्रवार को अहम बैठक हुई। चीन के रक्षी मंत्री और भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बीच यह बैठक 2 घंटे 20 मिनट तक चली।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रूस की राजधानी मॉस्को में चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंघे से मुलाकात की। चीन के रक्षा मंत्री फेंघे ने राजनाथ सिंह से मिलने का समय मांगा था।

इस समय दोनों नेता शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) की बैठक के लिए रूस के दौरे पर हैं। दोनों देशों के रक्षा मंत्री की यह बैठर मॉस्को के मेट्रोपोल होटेल में शुक्रवार रात 9:30 शुरू हुई थी जो 2 घंटे 20 मिनट तक चली।

Rajnath Singh

यह भी पढ़ें...जहां चाह वहां राह: यूपी के आसिफ ने किया कमाल, स्टार्टअप इंडिया से चमकी किस्मत

मई से अब तक चीन और भारत में सैन्य-कूटनीतिक लेवल पर कई बार बैठक हो चुकी है। दोनों देशों के रक्षा मंत्री की ये मुलाकात अबतक की सबसे अहम रही है। तनाव के बाद दोनों देशों के रक्षा मंत्री की यह पहली बैठक थी। रक्षा सचिव अजय कुमार और रूस में भारतीय राजदूत डी बी वेंकटेश वर्मा इस बातचीत के दौरान भारतीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल थे।



यह भी पढ़ें...कानून-व्यवस्था पर IAS-IPS की सूची तैयार, फेरबदल पर CM योगी जल्द लगाएंगे मुहर

''मतभेदों को खत्म करने के लिए आपसी भरोसा जरूर''

इससे पहले वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर उकसावे वाले की हरकत को लेकर राजनाथ सिंह ने चीन पर निशाना साधा। रक्षा मंत्री ने एससीओ की बैठक में साफ-साफ कहा है कि शांति के लिए आक्रामक रवैया ठीक नहीं है। मतभेदों को खत्म करने के लिए आपसी भरोसा जरूरी है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने चीन का नाम लिए बगैर कहा कि एक-दूसरे के प्रति विश्वास, गैर-आक्रामकता और संवेदनशीलता का माहौल एससीओ क्षेत्र की शांति, स्थिरता और सुरक्षा के लिए अहम है।

Rajnath Singh

यह भी पढ़ें...खुलेंगे स्कूल: सरकार का बड़ा फैसला, इन छात्रों को मिलेगा मौका

एससीओ की बैठक रूस की राजधानी मॉस्को में हो रही है। राजनाथ ने जब यह बाते कहीं उस समय चीन के रक्षामंत्री जनरल वेई फेंगहे भी मौजूद थे। रक्षा मंत्री राजनाथ ने कहा कि दुनिया की 40 प्रतिशत से ज्यादा आबादी एससीओ में रहती है। इसलिए शांतिपूर्ण, स्थिर और सुरक्षित क्षेत्र का माहौल बनाना चाहिए जिसके लिए विश्वास और सहयोग, गैर-आक्रामकता, अंतरराष्ट्रीय नियम-कायदों के लिए सम्मान, एक दूसरे के हितों के प्रति संवेदनशीलता और मतभेदों के शांतिपूर्ण समाधान की आवश्यकता है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story