72 घंटे के भीतर मोदी सरकार उठाने जा रही है ये बड़ा कदम, चीन के सैनिकों के उड़े होश

जून के मध्य में गलवान घाटी में भारत और चीन की सेना बीच में हिंसक टकराव हो गया था। भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, जबकि चीन के भी कई जवानों की मौत हुई थी। उसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव और भी ज्यादा बढ़ गया है।

Defence Minister Rajnath Singh

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की फोटो(सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच सीमा विवाद का मामला लगातार गरमाता ही जा रहा है। कई दौर की वार्ताएं भी हुई लेकिन इस विवाद का कोई हल नहीं निकल पाया।

नतीजतन सीमा पर दोनों देशों की सेनाएं आमने सामने डटी हुई हैं। कोई भी मुल्क अपनी सेना को पीछे लेने के मूड में नहीं है। युद्ध जैसे हालात बने हुए हैं।

इस बीच अब राजधानी दिल्ली से खबर आ रही है कि दशहरा के मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भारत-चीन बॉर्डर के पास जा रहे हैं। राजनाथ सिक्किम का दौरा करेंगे ओर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवानों का सामना कर रहे भारतीय सेना के जवानों के मनोबल को बढ़ाएंगे। इस दौरान, रक्षा मंत्री शस्त्र पूजा भी करेंगे।

Indian Army Truck
भारतीय सेना का ट्रक(फोटो:सोशल मीडिया)

यह भी पढ़ें: यहां BJP को बड़ा झटका: ये दिग्गज नेता NCP में होंगे शामिल, पार्टी ने की पुष्टि

 23-24 अक्टूबर को सिक्किम में कई रोड प्रोजेक्ट्स, पुल आदि का होगा उद्घाटन

प्राप्त जानकारी के अनुसार राजनाथ सिंह 23-24 अक्टूबर को सिक्किम के दौरे पर रहेंगे। उन्हें वहां पर कई रोड प्रोजेक्ट्स, पुल आदि का उद्घाटन भी करना है। यह सड़कें और पुल आम नागरिकों के अलावा, सेना के जवानों की आवाजाही और उनके हथियारों को सीमा पर पहुंचाने में काफी मददगार साबित होगी।

बताया जा रहा है कि रक्षा मंत्री इस दौरान यहां पर हिंदू परंपरा के अनुसार सिक्किम में चीन की सीमा के पास तैनात स्थानीय इकाइयों में से एक के साथ ‘शस्त्र पूजा’ करेंगे।

यह भी पढ़ें: बिहार विस चुनावः युवा शक्ति मैदान में, कोई विरासत संभालने तो कोई बचाने को उतरा 

Shastra Pooja
शस्त्र पूजा करते हुए राजनाथ सिंह(फोटो:सोशल मीडिया)

इस दौरान शस्त्र पूजा भी कर सकते हैं रक्षामंत्री

बीते वर्ष भी उन्होंने फ्रांस में भारत के पहले राफेल लड़ाकू विमान को लेते हुए ऐसा किया था। बता दें कि दशहरे में हथियारों की पूजा की जाती है।

इसके बाद राजनाथ सिंह फॉरवर्ड इलाकों में भी जायेंगे, जहां पर भारत के बड़ी संख्या में जवान तैनात हैं। उनके साथ टैंक्स समेत कई हथियार भी हैं, जोकि चीन द्वारा किसी भी घुसपैठ को नाकाम करने के लिए तैनात किए गए हैं।

गौरतलब है कि जून के मध्य में गलवान घाटी में भारत और चीन की सेना बीच में हिंसक टकराव हो गया था। भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, जबकि चीन के भी कई जवानों की मौत हुई थी। उसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव और भी ज्यादा बढ़ गया है।

 

यह भी पढ़ें: डेट पर हुआ ऐसा उड़ गए होशः बिना बिल चुकाए भाग खड़ा हुआ बॉयफ्रेंड, करना पड़ा ये

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – Newstrack App

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App