Top

कोरोना ने फिर बरपाया कहर: अमित शाह ने बुलाई बड़ी बैठक, हुआ ये बड़ा ऐलान

अमित शाह ने ट्वीट कर रहा कि दिल्ली में अस्पतालों की क्षमता तथा अन्‍य मेडिकल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर की उपलब्‍धता में वृद्धि की जानी चाहिए। इसी दिशा में मई में बनाए गये धौला कुआं स्थित DRDO के कोविड अस्पताल में 250 से300 ICU बेड और शामिल किए जाएंगे।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 Nov 2020 6:50 PM GMT

कोरोना ने फिर बरपाया कहर: अमित शाह ने बुलाई बड़ी बैठक, हुआ ये बड़ा ऐलान
X
गृहमंत्री ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के हल्के लक्षण वाले मरीजों को पर्याप्त सुविधा मिल सके। इसके लिए कुछ एमसीडी अस्पतालों को कोविड समर्पित अस्पताल बनाए जाएंगे।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नयी दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। इसके मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर रविवार को समीक्षा बैठक की। इस बैठक में अमित शाह के अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, सीएम अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री और दिल्ली केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

इस बैठक में कोरोना पर कैसे काबू किया जाए इसको लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने चर्चा की। अमित शाह ने कहा कि दिल्ली में आरटी-पीसीआर टेस्ट को दोगुना किया जाएगा। जबिक स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर की मोबाइल टेस्टिग वैन को कुछ खास स्थानों पर तैनात किया जाएगा। केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के हल्के लक्षण वाले मरीजों को पर्याप्त सुविधा मिल सके। इसके लिए कुछ एमसीडी अस्पतालों को कोविड समर्पित अस्पताल बनाए जाएंगे।

बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अमित शाह को धन्यबाद कहा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में सबसे बड़ी समस्या आईसीयू बेड की है, इसलिए उन्हें बढ़ाने का फैसला लिया गया है। केजरीवाल ने कहा कि मैं केंद्र सरकार, गृहमंत्री अमित शाह का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं कि उन्होंने ये बैठक बुलाई।



ये भी पढ़ें...झारखंड गठन के 20 साल: आज भी हाशिए पर आदिवासी, सरकारों से उम्मीद नहीं

उन्होंने कहा कि इस समय यह जरूरी है कि सभी लोग मिलकर काम करें ताकि दिल्ली के लोगों की जान को बचाया जा सके। 20 अक्टूबर के बाद से दिल्ली में कोरोना के केस बढ़ने लगे हैं। केजरीवाल ने कहा ि दिल्ली में कोविड बेड की संख्या तो ठीक है, हालांकि आईसीयू बेड की संख्या कम है। केंद्र सरकार ने हमें भरोसा दिया है कि डीआरडीओ का जो सेंटर है, वहां पर अगले दो दिनों में पांच सौ आईसीयू बेड्स उपलब्ध कराए जाएंगे।



अमित शाह ने ट्वीट कर रहा कि दिल्ली में अस्पतालों की क्षमता तथा अन्‍य मेडिकल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर की उपलब्‍धता में वृद्धि की जानी चाहिए। इसी दिशा में मई में बनाए गये धौला कुआं स्थित DRDO के कोविड अस्पताल में 250 से300 ICU बेड और शामिल किए जाएंगे, जिसे गम्भीर कोविड रोगियों का वहां इलाज किया जा सके।

उन्होंने कहा कि ऑक्‍सीजन की सुविधा वाले बेडों की उपलब्धता बढ़ाने के उद्देश्‍य से छतरपुर के 10,000बेड वाले कोविड सेंटर को और सशक्त किया जाएगा। MCD के कुछ चिन्हित अस्‍पतालों को हल्‍के-फुल्‍के लक्षण वाले कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए डेडिकेटेड अस्‍पतालों के रूप में परिवर्तित किया जाएगा। कोविड-19 संबंधी मेडिकल इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर की उपलब्‍धता तथा मरीजों की भर्ती की स्थिति के इंस्पेक्शन तथा पहले लिए निर्णय के अनुसार, बेडों की उपलब्धता की सही स्थिति को स्‍पष्‍ट रूप से दर्शाने के लिए, डेडिकेटेड बहु-विभागीय टीमें, दिल्‍ली के सभी प्राइवेट अस्‍पतालों में जाएंगी।

ये भी पढ़ें...छठ पूजा के लिए सरकार ने जारी की गाइलाइन, इन नियमों का करना होगा पालन



गृह मंत्री ने कहा कि पहले शुरू किए गए सारे कंटेनमेंट उपायों की समीक्षा हो, जैसे कंटेनमेंट जोनों की स्‍थापना, कंटेक्‍ट ट्रेसिंग तथा क्वारंटीन और स्‍क्रीनिंग। विशेषकर वह लोग जिन्हें कोविड होने का खतरा अधिक है उनकी लगातार समीक्षा की जानी चाहिए ताकि रोकथाम उपायों को लागू करने में कोई कमी ना रह जाए। केंद्रीय सशक्त पुलिस बलों ने कोरोना से लड़ने में देश और दिल्ली की जनता का बहुत सहयोग किया है। मोदी सरकार ने दिल्ली में स्वास्थ्यकर्मियों की कमी को देखते हुए CAPF से अतिरिक्‍त डॉक्टर और पैरा मेडिकल स्टाफ देने का निर्णय किया है, उन्हें शीघ्र ही एयरलिफ्ट करके दिल्ली लाया जायेगा।

अमित शाह ने कहा कि आज की बैठक में यह भी निर्देश दिए कि कोविड-19 के होम आइसोलेशन में रह रहे रोगियों की ट्रैकिंग रखने तथा तत्‍काल मेडिकल सुविधा की आवश्‍यकता पड़ने पर उनको तुरंत कोविड अस्‍पतालों में शिफ्ट करने की जरूरत पर विशेष रूप से बल दिया जाए। जिससे अधिक से अधिक लोगों के जीवन को बचाया जा सके। गंभीर कोरोना मामलों में प्‍लाज्‍मा डोनेशन और प्रभावित व्यक्तियों को प्‍लाज्‍मा प्रदान किए जाने के लिए प्रोटोकॉल तैयार करने के निर्देश दिए। डॉ. वी के पॉल, निदेशक एम्‍स और महानिदेशक ICMR के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय समिति इसपर जल्द ही रिपोर्ट देगी।

ये भी पढ़ें...रूस का महाविनाशक परमाणु ड्रोन: ऐसे लाएगा सुनामी, मचेगी भयानक तबाही, डरा US



बीजेपी ने केजरीवाल पर साधा निशाना

पूर्वी दिल्ली सांसद गौतम गंभीर ने भी केजरीवाल सरकार पर हमला बोला। एमसीडी अपने हवाले मांगने वालों, अगर “आप” से कोरोना नहीं संभलता, प्रदूषण नहीं संभलता तो खुद कुर्सी क्यों नहीं छोड़ते? सारा ज्ञान दूसरों के लिए? इसके साथ ही उन्होंने निशाना साधते हुए कहा कि नमस्कार दिल्ली, मैं अरविंद केजरीवाल बोल रहा हूं, कोविड महामारी को रोकने में मैं एक बार फिर विफल रहा हूँ, मई की तरह दोबारा हमें श्री अमित शाह जी ही बचाएंगे। आपका अपना विज्ञापन वाला मुख्यमंत्री।

ये भी पढ़ें...टीम के सेलेक्टर के लिए इन चार लोगों ने किया आवेदन, लेकिन पद है सिर्फ तीन

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Newstrack

Newstrack

Next Story