×

अब अस्पताल में भर्ती होने के लिए नहीं होगी परेशानी, सरकार ने लिया ये फैसला

बीते कुछ समय से लगातार खबरें आ रहीं हैं कि अलग-अलग बीमारियों के इलाज के लिए और एडमिट होने के लिए दिल्ली सरकार के अस्पताल जाने पर उन्हें काफी समस्या का सामना करना पड़ता है।

Shreya
Published on: 8 Jun 2020 5:02 AM GMT
अब अस्पताल में भर्ती होने के लिए नहीं होगी परेशानी, सरकार ने लिया ये फैसला
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: बीते कुछ समय से लगातार खबरें आ रहीं हैं कि अलग-अलग बीमारियों के इलाज के लिए और एडमिट होने के लिए दिल्ली सरकार के अस्पताल जाने पर उन्हें काफी समस्या का सामना करना पड़ता है। लेकिन अब दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने इस समस्या को सुलझाने के लिए एक फैसला लिया है। केजरीवाल सरकार ने इसके लिए एक हेल्प डेस्क बनाई है।

यह भी पढ़ें: बनारस में नहीं खुले मंदिरों के दरवाजे, भक्तों को करना पड़ेगा अभी इंतजार

हेल्प डेस्क पर चौबीस घंटे तैनात रहेंगे सरकारी कर्मचारी

दिल्ली में राज्य सरकार के अधीन आने वाले सभी 28 अस्पतालों में ये हेल्प डेस्क पर चौबीसों घंटे सरकारी कर्मचारी तैनात रहेंगे, जो मरीजों की मदद के लिए उपलब्ध रहेंगे। हर हॉस्पिटल में चार कर्मचारी मरीजों की मदद के लिए तैनात रहेंगे। इस हेल्प डेस्क में 12-12 घंटे की दो शिफ्ट होगी। हर शिफ्ट में दो-दो अधिकारी मरीजों की सहायता के लिए उपलब्ध रहेंगे।

उप जिलाधिकारी करेंगे कामकाज की निगरानी

दिल्ली सरकार की ओर से इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। साथ ही राज्य सरकार ने हेल्प डेस्क पर तैनात होने वाले अधिकारियों की लिस्ट भी जारी कर दी है। इन हॉस्पिटल्स में नाइट शिप्ट के दौरान एक कॉन्स्टेबल भी तैनात रहेगा। सरकार द्वारा जारी किए गए आदेश के मुताबिक हेल्प डेस्क के कामकाज की निगरानी करने का दायित्व संबंधित इलाके के उप जिलाधिकारी (एसडीएम) का होगा।

यह भी पढ़ें: B’day Special: शिल्पा को पहले थी ये बड़ी परेशानी, बाॅलीवुड में ऐसे जमाई धाक

मरीजों को भर्ती होने के लिए हो रही थी समस्या

गौरतलब है कि दिल्ली से लगातार ऐसी खबरें सामने आ रही थीं कि मरीजों को अस्पतालों में भर्ती होने के लिए काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बीते दिनों समय पर इलाज ना मिलने के चलते एक मरीज की मौत हो गई थी। इन शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार ने यह फैसला लिया है। केजरीवाल सरकार द्वारा बनाई गई हेल्प डेस्क की जिम्मेदारी होगी कि वह अस्पताल पहुंचने वाले मरीजों को बिना किसी समस्या के भर्ती कराए।

दिल्ली के अस्पतालों में होगा केवल दिल्लीवासियों का इलाज

बता दें कि दिल्ली में तेजी से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की थी कि दिल्ली के अस्पतालों में केवल दिल्लीवासियों का ही इलाज किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: प्रवासी मजदूरों को रोजगार दिलाने की कवायद तेज, केंद्र ने तैयार किया ये ब्लूप्रिंट

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story