हिंसा पर तत्काल एक्शऩ: गिरफ्तार हुए 93 लोग, सैकड़ों पर FIR दर्ज

हिंसात्मक बवाल को लेकर दिल्ली पुलिस ने अभी तक 22 प्राथमिकियां दर्ज की हैं। ऐसे में ये जानकारी अधिकारियों ने बुधवार को दी। 26 जनवरी को हुई हिंसा में 300 से अधिक पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। जिसके चलते पुलिस ने 9 किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

Published by Vidushi Mishra Published: January 27, 2021 | 3:38 pm
tractor rally red fort

तिरंगे का अपननाम करने में कोई नहीं रहा पीछे (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में किसान ट्रैक्टर रैली में हुए हिंसात्मक बवाल को लेकर दिल्ली पुलिस ने अभी तक 22 प्राथमिकियां दर्ज की हैं। ऐसे में ये जानकारी अधिकारियों ने बुधवार को दी। 26 जनवरी को हुई हिंसा में 300 से अधिक पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। जिसके चलते पुलिस ने 9 किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं दिल्ली हिंसा को लेकर पुलिस ने जो एफआईआर की है उसमें आरोप है कि पुलिस द्वारा ट्रैक्टर रैली के लिए जो एनओसी जारी हुई थी, उनका पालन नहीं हुआ।

ये भी पढ़ें…लाल किले में उपद्रवियों का बवाल: पुलिसकर्मियों को गड्ढे में ढकेला, सामने आया वीडियो

किसान ट्रैक्टर रैली के संबंध में जारी एनओसी

ऐसे में सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव के खिलाफ भी दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया है। दिल्ली पुलिस की एफआईआर में किसान ट्रैक्टर रैली के संबंध में जारी एनओसी(NOC) के उल्लंघन के लिए किसान नेताओं दर्शन पाल, राजिंदर सिंह, बलबीर सिंह राजेवाल, बूटा सिंह बुर्जिल और जोगिंदर सिंह उग्राहां के नामों का जिक्र है।

बता दें, इन एफआईआर(FIR) में भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत का भी नाम है। लेकिन यह एफआईआर किन धाराओं में दर्ज की गई है, अभी तक इस बारे में जानकारी नहीं हो सकी।

delhi voilence
फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें…किसानों पर तगड़ा ऐक्शन: कुछ घंटे बहुत ही अहम, मोदी सरकार तैयार

हिंसा के संबंध में FIR दर्ज

दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस ने शहर में किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में 200 लोगों को हिरासत में लिया। इस बारे में दिल्ली पुलिस ने कहा कि जल्द ही उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा। इसके साथ ही पुलिस ने दिल्ली वेस्टर्न ज़ोन में 93 लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

बीते दिन किसान ट्रैक्टर रैली यानी बुधवार को दिल्ली पुलिस ने हिंसा को लेकर IPC की धारा 395 (डकैती) ,397 (डकैती, चोरी या किसी को नुकसान पहुंचाने की मंशा से हमला करना) , 120 बी(आपराधिक साजिश की सजा) और अन्य धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की।

पुलिस ने बताया कि किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में लाल किले पर हुई हिंसा के संबंध में FIR दर्ज की गई है. मामले की जांच क्राइम ब्रांच करेगी। जिसके चलते आज शाम एसआईटी(SIT) की टीम गठित की जाएगी।

ये भी पढ़ें…दिल्ली हिंसा: पुलिस ने 200 उपद्रवियों को हिरासत में लिया, दंगा और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App