भारत लाया मिसाइल: थर-थर कांपे दुश्मन देश, एक निशाने में सब खत्म

देश की सेना को मेक इन इंडिया की मुहिम के चलते लगातार जोरदार तरीके से मजबूत किया जा रहा है। सेना की ताकत और जज्बे को बढ़ाते हुए एक और नाम इसमें जुड़ गया है।

नई दिल्ली। देश की सेना को मेक इन इंडिया की मुहिम के चलते लगातार जोरदार तरीके से मजबूत किया जा रहा है। सेना की ताकत और जज्बे को बढ़ाते हुए एक और नाम इसमें जुड़ गया है। जीं हां सेना के लिए एंटी टैंक ‘ध्रुवास्त्र’ मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया है, ये मिसाइल मेड इन इंडिया है। और दुश्मन को पूरी तरह से ध्वस्त करने का साहस रखती है।

ये भी पढ़ें… भारत पर नया खतरा: सरकार की भी हालत हुई खराब, अब आई ये बीमारी

दुश्मन को सबक

इस मिसाइल का 15-16 जुलाई को ओडिशा के बालासोर में परीक्षण हुआ। फिर जिसके बाद अब इसे सेना को सौंप दिया जाएगा। इसका इस्तेमाल भारतीय सेना के ध्रुव हेलिकॉप्टर के साथ किया जाएगा। मतलब अटैक हेलिकॉप्टर ध्रुव पर इसे तैनात किया जाएगा, जिससे समय आने पर दुश्मन को सबक भी सिखाया जा सकेगा।

लेकिन इस मिसाइल का अभी जो परीक्षण किया गया है वो बिना हेलिकॉप्टर के किया गया है। पहले इस मिसाइल का नाम नाग था, जिसे अब बदलकर ध्रुवास्त्र किया गया है।

ये भी पढ़ें…उत्तराखंड में भारी बारिश का अनुमान, 5 जिलों के लिए अलर्ट जारी

मिसाइलों के लिए निर्भर नहीं रहना

बता दें, ये एक स्वदेशी मिसाइल है और इसकी क्षमता 4 किमी. तक है, ये किसी भी टैंक को खत्म कर सकती है। ध्रुव हेलिकॉप्टर भी पूरी तरह से स्वदेशी हेलिकॉप्टर है। ऐसे में DRDO और सेना के लिए इसे बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है क्योंकि अब किसी दूसरे देश पर ऐसी मिसाइलों के लिए निर्भर नहीं रहना पड़ेगा।

इसके साथ ही रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की वेबसाइट से मिली जानकारी के अनुसार, ध्रुवास्त्र एक तीसरी पीढ़ी की ‘दागो और भूल जाओ’ टैंक रोधी मिसाइल (ATGM) प्रणाली है, जिसे आधुनिक हल्के हेलीकॉप्टर पर स्थापित किया गया है।

ये भी पढ़ें…गाजियाबाद में गोली लगने से घायल पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App