×

डॉक्टर बना सैतान: 100 से ज्यादा लोगों को उतारा मौत के घाट, कहानी जान कांप जाएगी आपकी रूह

लोग डॉक्टर्स को भगवान का रूप बताते हैं, क्योंकि भगवान हर जगह नहीं हो सकता है लोगों की मदद के लिए।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 30 July 2020 6:05 AM GMT

डॉक्टर बना सैतान: 100 से ज्यादा लोगों को उतारा मौत के घाट, कहानी जान कांप जाएगी आपकी रूह
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : लोग डॉक्टर्स को भगवान का रूप बताते हैं, क्योंकि भगवान हर जगह नहीं हो सकता है लोगों की मदद के लिए। लेकिन अगर जान बचाने वाला डॉक्टर आपकी ही जान लेना शुरू कर दे, तो आप इसे क्या कहेंगी। हम आपको आज एक ऐसे डॉक्टर के बारे में बताते हैं जिसने 100 से भी ज्यादा हत्याएं की है।

ये भी पढ़ें:सुशांत केस: अब रिया के पिता पर आई बड़ी खबर, खड़े हो रहे हैं बड़े सवाल

यूपी के पुरेली का रहने वाला है ये डॉ

यूपी के पुरेली का रहने वाला 62 वर्षीय देवेंद्र शर्मा बीएएमएस डिग्री होल्डर डॉक्टर को दिल्ली पुलिस ने आखिरकार गिरफ्तार कर लिया है। उसने शहर और शहर के बाहर पड़ोसी इलाकों में ट्रक और टैक्सी ड्राइवर समेत 50 लोगों की हत्याएं की थी। उसे बपरोला एरिया से गिरफ्तार कर लिया गया है जहां वह पैरोल से निकलने के बाद रह रहा था।

इस बात की जानकारी पुलिस ने दी और बताया कि उसने 100 से भी ज्यादा हत्याएं की होंगी। क्योंकि उसके खिलाफ दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान में भी केस दर्ज हैं और वहां की पुलिस इन मामलों की जांच कर रही हैं। उसे पैरोल मिलने के 6 महीने के बाद दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अपने गिरफ्त में ले लिया है।

पुलिस ने बताया कि, 'शर्मा कई किडनैपिंग और मर्डर के मामलों में दोषी पाया गया था। उसे इसके पहले भी यूपी में फेक गैस एजेंसी चलाने के आरोप में एक बार गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा कई राज्यों में किडनी रैकेट चलाने के आरोप में भी एक बार गिरफ्तार किया गया था।'

16 साल जेल में रह चूका है

डॉ। शर्मा को एक मर्डर केस में पाए जाने पर उसको जयपुर सेंट्रल जेल में डाला गया था, जिसके बाद 16 साल जेल में बिताने के बाद वो जनवरी में 20 दिनों की पैरोल पर बाहर आ गया था। लेकिन पैरोल की टाइमिंग जैसे ही खत्म हुई उसके बाद ही उसने पुलिस को चकमा दे दिया और अपने गांव जाकर वहां रहने लगा।

ये भी पढ़ें:ऑटोमेशन और टेक्नोलॉजी ने सभी को समाहित कर लिया हैः डॉ. अनुज मित्तल

इस पर डीसीपी राकेश पावरिया ने बताया कि, पहले वह मोहन गार्डन में एक अजनबी के घर रहता था, बाद में वह बपरोला चला गया जहां उसने एक विधवा से शादी कर ली और एक बिजनेस शुरू कर दिया। पुलिस ने बताया कि उसके छिपने के बारे में कहीं से उन्हें खबर मिली जिसके बाद उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story