×

चीन से बढ़ा विवादः बनाए नए सैन्य ठिकाने, हुआ मजबूत

चीन ने साल 2017 के बाद कुल 13 मिलिट्री पॉजिशन का निर्माण शुरू कर दिया था। जिसमें तीन एयर बेस, पांच डिफेंस पॉजिशन और पांच हेलिपोर्ट का निर्माण शामिल है।

Shreya
Updated on: 23 Sep 2020 8:02 AM GMT
चीन से बढ़ा विवादः बनाए नए सैन्य ठिकाने, हुआ मजबूत
X
चीन ने बनाए नए सैन्य ठिकाने: डोकलाम के बाद हुआ मजबूत
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में सीमा पर चीन के साथ जारी तनाव को कम करने की लगातार कोशिशें की जा रही है। इसके लिए लगातार दोनों पक्षों के बीच वार्ता का दौर भी जारी है। लेकिन तीन साल पहले डोकलाम को लेकर जो विवाद उत्पन्न हुआ था, उसके बाद से चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास अपनी सेना (PLA) की स्थिति मजबूत करना शुरू कर दिया था। एक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है।

डोकलाम के बाद 13 मिलिट्री पॉजिशन का निर्माण

इसमें दावा किया गया है कि चीन ने साल 2017 के बाद कुल 13 मिलिट्री पॉजिशन का निर्माण शुरू कर दिया था। जिसमें तीन एयर बेस, पांच डिफेंस पॉजिशन और पांच हेलिपोर्ट का निर्माण शामिल है। अंतरराष्ट्रीय एजेंसी स्ट्रैटफोर (Stratfor) की ओर से LAC को लेकर एक रिपोर्ट साझा की गई है। जिसमें डोकलाम विवाद के बाद से सीमा के करीब चीन की हलचल के बारे में बताया गया है।

chinese army डोकलाम के बाद चीन ने बदली पूरी रणनीति (फोटो- सोशल मीडिया)

डोकलाम के बाद बदली पूरी रणनीति

साथ ही यह दावा भी किया गया है कि चीन की तरफ से चार हेलिपोर्ट का निर्माण तो ताजा विवाद के बाद से ही किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन ने डोकलाम के बाद अपनी रणनीति पूरी तरह बदल दी और LAC के पास अपनी सैन्य मजबूती को बढ़ाने का काम शुरू कर दिया। इसका असर फिलहाल तो नहीं लेकिन आने वाले समय में देखा जा सकता है।

यह भी पढ़ें: निशाने पर दलाई लामा: बौद्ध धर्मगुरु के लिए चीन ने बुना ये जाल, इनको बनाया हथियार

भारतीय वायु सेना को ताकत और बढ़ाने की जरुरत

वहीं भारतीय वायु सेना में राफेल के शामिल होने से भारत को चीन से मुकाबला करने में थोड़ी राहत तो मिली है, लेकिन भारतीय वायु सेना को अभी भी अपनी ताकत को बढ़ाने की जरुरत है। वहीं लद्दाख में शुरू हुए ताजा विवाद को लेकर कहा गया है कि चीन की ओर से लगातार किए जा रहे निर्माण का भारत द्वारा विरोध किया गया, जिसके चलते ये तनाव शुरू हुआ।

यह भी पढ़ें: भारत ने की तैयारी: शिंकुला दर्रे पर बनेगी सबसे लंबी टनल, तनाव के बीच बड़ा फैसला

india-china tension दो महीने तक रहा था डोकलाम विवाद (फोटो- सोशल मीडिया)

दो महीने तक रहा था डोकलाम विवाद

आपको बता दें कि जून 2017 में डोकलाम में भारतीय और चीनी सेनाएं बिल्कुल आमने-सामने थीं। ये विवाद करीब दो महीने तक बरकरार रहा था। जिसके बाद चीन ने एलएसी और भारत को लेकर अपनी सैन्य रणनीति बदल दी। अब आने वाले वक्त में ये संकत पैदा कर सकती है। क्योंकि चीन ने अपनी सेना के लिए स्थाई जगहों को तैयार कर दिया है। रिपोर्ट में मई में लद्दाख में दोनों सेनाओं के बीच शुरू हुए तनाव को 1962 की लड़ाई के बाद सबसे बड़ा तनाव करार दिया गया है।

यह भी पढ़ें: Time की इस लिस्ट में आयुष्मान खुराना को मिली जगह, दीपिका ने की तारीफ

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story