दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला, यात्रियों को मिलेगी DTC बस सेवा, ये होगी शर्त

बुधवार को कहा कि लॉकडाउन के बीच नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर फंसे यात्रियों के वास्ते अब स्टेशन से आगे की यात्रा के लिए दिल्ली परिवहन निगम (DTC) की बस उपलब्ध होंगी। पुलिस के सूत्रों ने कहा कि शहर में सार्वजनिक परिवहन की आवश्यकता महसूस कर रहे लोगों के लिए डीटीसी 11 जिला मुख्यालयों तक बस चलाएगा।

नई दिल्ली  बुधवार को कहा कि लॉकडाउन के बीच नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर फंसे यात्रियों के वास्ते अब स्टेशन से आगे की यात्रा के लिए दिल्ली परिवहन निगम (DTC) की बस उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा कि निजी वाहनों का इस्तेमाल करने वाले लोग भवभूति मार्ग या मिंटो रोड से जा सकते हैं, जबकि डीटीसी की बसों में यात्रा करने वाले लोगों को अजमेरी गेट के सामने पार्किंग क्षेत्र से सवार होना होगा। पुलिस सूत्रों ने बताया कि कोविड-19 के मद्देनजर जारी कड़े दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए सभी इंतजाम किए गए हैं।

कोरोना वायरस महामारी के चलते ट्रेन सेवाएं रोक दी गई थीं, लेकिन मंगलवार से आम जनता के लिए बिलासपुर, डिब्रूगढ़ और बेंगलूरू के लिए तीन ट्रेनों के रवाना होने के साथ ही नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से विशेष ट्रेन सेवा शुरू हो गई। इसी दिन चार ट्रेन पटना, अहमदाबाद, मुंबई और हावड़ा से यहां पहुंचीं।

 

यह पढ़ें..यूपी के विश्वविद्यालयों को लेकर बड़ा एलान: इस दिन से शुरू होंगी कक्षाएं

 

बता दें कि कल से यानी 14 मई से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के लिये डीटीजी बसों को चलाने का फैसला किया गया है। ये बसें एसी ट्रेनों से दिल्ली पहुंच रहे यात्रियों को दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पहुंचाएंगी। बस में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा और फेस मास्क लगाना अनिवार्य होगा। एसी ट्रेन से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंच रहे यात्रियों को हो रही समस्या के बाद दिल्ली सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। डीटीसी बसें नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर तैनात की जाएंगी। ये बसें एसी ट्रेनों से दिल्ली पहुंच रहे यात्रियों को दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में पहुंचाएंगी बस में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा और फेस मास्क लगाना अनिवार्य होगा।  दिल्ली सरकार को गृह मंत्रालय से इसके लिए मंजूरी मिल गई है और जो भी रेलवे स्टेशन जिस संबंधित डीएम और डीसीपी के तहत आता है उनको इसकी जिम्मेदारी दी जाएगी।

वर्तमान समय में राहगीरों का (DTC )का सफर पहले जैसा आसान नहीं होगा। सवारियों को कड़े नियमों का पालन करना होगा।  एक बस में 20 से ज्यादा यात्री सफर नहीं करेंगे और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए यात्री एक सीट छोड़कर बैठेंगे। बस की क्षमता के आधार पर 50 फीसदी यात्री ही सफर करेंगे।

* ऐसे में सरकार कुछ ऐसा इंतजाम कर सकती है जिससे यात्रियों को कैश में टिकट ना लेना पड़े। इसके लिए डिजिटल पेमेंट या किसी अन्य विकल्प की तलाश भी दिल्ली सरकार कर रही है।

 

यह पढ़ें..सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा पर एलान, इस दिन होगी सफल अभ्यर्थियों की काउंसलिंग

* बस यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। बिना मास्क वाले यात्रियों की बस में एंट्री पर रोक लगेगी। बस यात्रियों के फोन में( AAROGYA APP )होना भी अनिवार्य किया जा सकता है।

*डीटीसी बस के चालक, परिचालक और मार्शल यात्रियों के संपर्क में ना आए इसके लिए इन्हें विशेष ट्रेनिंग देने का प्रस्ताव भी रखा गया है। रूट की हर यात्रा के बाद बस को सैनिटाइज किए जाने का बंदोबस्त किया जा रहा है, जिससे यात्रियों में कोरोना के संक्रमण के फैलने का खतरा कम किया जा सके।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App