थर-थर कांपी धरती: तेज झटकों ने उड़ाई लोगों की नींद, भूकंप ला रहा तबाही

बीते 2 महीने से देश में भूकंप के झटके आना तो मानों सामान्य बात हो गई हो। आए दिन देश के किसी न किसी राज्य में भूकंप आ रहे हैं। ऐसे में आज यानी रविवार को अंडमान-निकोबार द्वीप में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।

नई दिल्ली : बीते 2 महीने से देश में भूकंप के झटके आना तो मानों सामान्य बात हो गई हो। आए दिन देश के किसी न किसी राज्य में भूकंप आ रहे हैं। हालांकि लगातार इन भूकंपों के आने से देश-विदेश के वैज्ञानिकों की चिंता काफी बढ़ गई है। ऐसे में आज यानी रविवार को अंडमान-निकोबार द्वीप में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।इस द्वीप में भूकंप की तीव्रता 4.1 नापी गई है। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान विभाग ने बताया कि आज सुबह 8:56 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

ये भी पढ़ें… अब होगा युद्ध: चीनी सेना है पूरी तरह तैयार, सीमा से मिले ये संकेत

इस महीने कई बार भूकंप

लगातार आ रहे भूकंप के झटकों ने सबकों हैरान करके रख दिया है। इस तरह से रोजाना देश क्या विदेश में भी भूकंप आ रहे हैं। अंडमान-निकोबार द्वीप में आज भूकंप आने के बाद से लोगों में डर का माहौल बना हुआ है।

इससे पहले शनिवार को पहले जम्मू कश्मीर में भूकंप आया तो वहीं रात में हरियाणा के रोहतक में भूकंप के झटकों को महसूस किया गया। बता दें, इस बीच रोहतक में इस महीने कई बार भूकंप आ चुके हैं।

हरियाणा के रोहतक में उस समय दहशत फ़ैल गयी, जब एक बार फिर भूकंप के झटकों को लोगों ने महसूस किया। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 2.4 आंकी गई। भूकंप शनिवार की रात 9.11 बजे आया। लोग अपने घरों में सोने की तैयारी में लगे हुए थे, उस दौरान धरती के डगमगाने से हड़कंप मच गया।

ये भी पढ़ें…पूर्व सीएम का हुआ कोरोना टेस्ट: रिपोर्ट देख उड़ गए होश, उठाया ये कदम

लोगों की नींदें उड़ गयी

भूकंप के झटकों के डर से लोगों की नींदें उड़ गयी और सभी अपने अपने घरों के बाहर निकल आये। जानकारी के मुताबिक, भूकंप का केंद्र रोहतक में जमीन से 5 किलोमीटर अंदर आया गया है।

गौरतलब है कि रोहतक में लगातार भूकंप आ रहा है। पिछले चार दिनों में ये तीसरी बार है जब यहां धरती थरथराई है। इससे पहले रोहतक और आस-पास के क्षेत्र में एक दिन पहले शुक्रवार की दोपहर में भूकंप आया था, जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 2.8 मापी गयी थी।

ये भी पढ़ें…आश्रम से बालिकाएं लापता: दो साल बाद शुरू की तलाश, ये है वजह…

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App