सीमा पर आतंक: SAARC की बैठक में घिरा पाकिस्तान, भारत ने गिनाई चुनौतियां

SAARC देशों के विदेश मंत्रियों के बीच आज वर्चुअल बैठक हुई। इस दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सीमा पर आतंकवाद का मुद्दा उठाया।

external-affairs-minister-s-jaishankar raise Cross Border terrorism at SAARC meeting

SAARC की वर्चुअल बैठक (photo Twitter)

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच भी पाकिस्तान भारतीय सीमा पर आतंकी गतिविधियों से बाज नहीं आ रहा। इसी कड़ी में गुरूवार को विदेश मंत्री जयशंकर ने सार्क देशों के प्रतिनिधियों के समक्ष सीमा पार से जारी आतंकवाद का मुद्दा उठाया। इसे लेकर उन्होंने पाकिस्तान को घेरते हुए सार्क के सामने तीन बड़ी चुनौतियों के बारे में बताया।

SAARC के विदेश मंत्रियों के बीच आज वर्चुअल बैठक

दरअसल, आज SAARC देशों के विदेश मंत्रियों के बीच आज वर्चुअल बैठक हुई। इस दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आतंकवाद का मुद्दा उठाया। विदेश मंत्री ने कहा कि सार्क के सामने तीन सबसे बड़ी चुनौतियां हैं। उन्होंने सीमापार से आतंकवाद, व्यापार में बाधा, कनेक्टिविटी में रुकावट का जिक्र करते हुए इसपर समाधान की बात कही।

एस जयशंकर ने उठाया आतंकवाद का मुद्दा

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट कर कहा कि आज SAARC विदेश मंत्रियों की अनौपचारिक बैठक को संबोधित किया। नेबरहुड फर्स्ट पॉलिसी के प्रति भारत की ओर से प्रतिबद्धता और दक्षिण एशिया के एकीकृत, सुरक्षित तथा समृद्धि को लेकर जिक्र किया गया।

ये भी पढ़ेंः दीपिका पर आरोप: एक्ट्रेस ने खोली पोल, बोली- मेरे साथ करती थी ऐसा काम

SAARC के सामने 3 चुनौतियां

इस बैठक में जयशंकर ने भारत का पक्ष रखते हुए कहा कि भारत आतंकवाद और इसके प्रायोजकों का मुकाबला करने के लिए अधिक सामूहिक प्रयासों का आह्वान करता है। उन्होंने अफगान शांति प्रक्रिया के समर्थन की भी बात कही। विदेश मंत्री ने कहा कि भारत राष्ट्रीय संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करता है और लोकतांत्रिक प्रगति को संरक्षित करता भी है।

external-affairs-minister-s-jaishankar raise Cross Border terrorism at SAARC meeting

ये भी पढ़ेंः यूपी में बंपर नौकरियां: सहायक शिक्षक के 31,661 पदों पर भर्तियां, आदेश जारी

पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने की इस मुद्दे पर चर्चा

बता दें कि इस बैठक में सार्क के सदस्य देशों जिसमे भारत के अलावा चीन, पाकिस्तान, ईरान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश का नाम शामिल हैं, के विदेश मंत्री शामिल थे। चर्चा के दौरान पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सार्क बैठक में संयुक्त राष्ट्र चार्टर और प्रस्तावों को लागू करने समेत कई मुद्दों का जिक्र किया । हालाँकि इस बार कश्मीर का जिक्र पाकिस्तान की ओर से नहीं किया गया।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App