लड़ती रही निकिता: तौफीक दिन-दहाड़े चलाता रहा गोलियां, सामने आई कांड की सच्चाई

निकिता को इन आरोपियों ने उस समय अपना शिकार बनाया, जब वो परीक्षा देकर अपने कॉलेज से घर लौट रही थी। निकिता बीकॉम फाइनर ईयर की छात्रा थी। उसे इस बात का जरा भी अंदाज नहीं था, आज के बाद वो कभी अपने घर वापस नहीं जा पाएगी, और नहीं ही किसी से मिल पाएगी।

crime scene

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली: दिल्ली से लगे हुए शहर फरीदाबाद में एक वारदात के बाद से माहौल गरमा गया है। यहां निकिता नाम की लड़की की दिन-दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मृतका निकिता के परिवार वाले हत्यारों के एनकाउंटर की मांग करते हुए सड़क पर बैठे हुए हैं। परिवार ने ये ऐलान किया है कि जब तक आरोपियों को सजा नहीं मिलेगी, तब तक वो अपनी बेटी का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। पूरे शहर की जनता आक्रोश में है।

ये भी पढ़ें… पति ने दी थी टंडन को चुनौतीः भाजपा का नौवां पत्ता, अलकादास होंगी क्या

फाइनल ईयर की परीक्षा देकर लौट रही

दिन-दहाड़े निकिता को इन आरोपियों ने उस समय अपना शिकार बनाया, जब वो परीक्षा देकर अपने कॉलेज से घर लौट रही थी। निकिता बीकॉम फाइनर ईयर की छात्रा थी। उसे इस बात का जरा भी अंदाज नहीं था, आज के बाद वो कभी अपने घर वापस नहीं जा पाएगी, और नहीं ही किसी से मिल पाएगी।

परीक्षा देकर लौट रही निकिता को रास्ते में कुछ मनचले जबरदस्ती उठाकर ले जाने की साजिश में लगे हुए थे। अग्रवाल कॉलेज की छात्रा निकिता फाइनल ईयर की परीक्षा देकर जैसे ही कॉलेज से निकली बल्लभगढ़ में कुछ मनचले युवक उसे अपनी आई20 कार में जबरन खींचने की कोशिश करने लगे। लेकिन इससे भी निकिता डरी नहीं और बहादुरी से उनका विरोध करती रही।

मनचलों से निकिता की सहेली ने भी अपनी दोस्त को बचाने की पूरी कोशिश की लेकिन उसी समय आरोपी के दोस्त बंदूक दिखाकर उसे धमकी देने लगे। निकिता बंदूक देखकर भी नहीं डरी और अपराधियों का विरोध करती रही।

ये भी पढ़ें…RSS के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले का बयान, समान नागरिक संहिता पर सार्वजनिक बहस होनी चाहिए

crime scene
फोटो-सोशल मीडिया

बदमाशों से लड़ाई में किसी ने उसका साथ नहीं दिया

उस दिन दिनदहाड़े बीच सड़क पर यह पूरी घटना हो रही थी, और लोग उसी सड़के से ऐसे निकल रहे थे, जैसे कुछ हो ही नहीं रहा है। सड़क से लोग आते-जाते रहे लेकिन निकिता की उन बदमाशों से लड़ाई में किसी ने उसका साथ नहीं दिया। नहीं ही किसी ने पुलिस को बुलाया।

बीचों-बीच सड़क पर निकिता अकेले ही उन दोनों बदमाशों से जूझती रही और जब आखिरकार दोनों आरोपी युवक उसे कार में जबरन खींचने में नाकाम रहे तो गुस्से में उसे गोली मारकर मौके से फरार हो गए।

मनचलों के बारे में निकिता के परिजनों की मानें, उनका कहना है कि आरोपी कई साल से उनकी बेटी का पीछा कर रहा था। परिजनों के अनुसार, साल 2018 में तौफीक नाम के युवक के खिलाफ उन्होंने शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन बाद में मामला सुलझ गया था। युवती के पिता ने कहा कि उन्हें पुलिस से इंसाफ चाहिए, वहीं मृतक के मामा ने कहा, ये सीधा सीधा लव जिहाद का मामला है।

ये भी पढ़ें…भारत की खूबसूरत जगह: महिलाओं के लिए बहुत सेफ, घूमे बिना किसी डर

आरोपियों का एनकाउंटर करे

मृतका की मां ने कहा कि मैं बेटी को आग तभी दूंगी जब उसकी हत्या करने वालों का एनकाउंटर हो जाएगा। तब तक आग नहीं दूंगी जब तक एनकाउंटर नहीं हो जाता है। जो मेरी बेटी के साथ हुआ है पुलिस उन आरोपियों को भी सामने खड़ा कर उसका एनकाउंटर करे।

वहीं मृतका की एक रिश्तेदार ने बताया कि साल 2018 में हमने युवक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी तो उसके परिवार ने आकर समझौता कर लिया था। मृतका निकिता के परिजनों के मुताबिक यह ‘लव जिहाद’ का मामला है।

आरोपी युवक तौफीक जबरन निकिता से शादी करना चाहता था। निकिता की मौत के बाद बढ़ते बवाल को देखकर पुलिस ने आननफानन में आरोपी तौफीक को गिरफ्तार कर लिया है जबकि उसका दूसरा दोस्त अब भी फरार है। फिलहाल पुलिस तेजी से कार्रवाई कर रही है।

ये भी पढ़ें…इन 21 Apps से सावधान: फोन के लिए हैं बहुत बड़ा खतरा, चेतावनी हुई जारी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App