किसानों का दिल्ली कूच: राज्य की सीमाएं सील, बढ़ाई गई सुरक्षा, मेट्रो की एडवाइजरी

एआईकेएससीसी ने कहा है कि 26 और 27 नवंबर को दिल्ली में विरोध-प्रदर्शन जारी रहेगा और इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। इन किसान संगठनों का कहना है कि जहां भी किसानों को दिल्ली में जाने से रोका जाएगा, किसान वहीं पर बैठकर विरोध-प्रदर्शन करेंगे।

Farmers Protest Against Agricultural Laws

हाईवे पर खोद दी खाईः किसानों को रोकने का कदम, है कड़ी निगरानी

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने आंदोलन तेज हो गया है। उग्र किसान 26 नवंबर यानी आज दिल्ली के लिए कूच करेंगे। किसान संगठनों ने ऐलान किया है कि कृषि कानूनों के खिलाफ 26 नवंबर से दिल्ली में अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन करेंगे। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान देश की राजधानी में प्रदर्शन की तैयारी की है।

कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब के किसानों ने बुधवार को ही दिल्ली कूच कर दिया। किसान हजारों ट्रैक्टर-ट्रालियों में राशन के साथ दिल्ली के लिए निकल गए हैं। किसानों के दिल्ली कूच को देखते हुए हरियाणा की खट्टर सरकार अलर्ट पर है। किसानों को रोकने के लिए हरियाणा सरकार ने सीमा पर अपनी पूरी ताकत लगा दी है। हरियाणा सीमा पर कंटीले तार और बडे़-बड़े पत्थर रख गए हैं।

हरियाणा ने दिल्ली से लगती सीमा की सील

हरियाणा की सरकार ने पंजाब और दिल्ली से लगने वाली राज्य की सीमा पर पुलिस की सख्ती बढ़ा दी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आंदोलन के मद्देनजर 26 और 27 नवंबर को दिल्ली से लगने वाले सीमा क्षेत्र को सील करने के निर्देश दिए हैं। 27 नवंबर को किसानों ने कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में बड़ा आदोलन करने की तैयारी की है।

ये भी पढ़ें…दिल्ली की हवा हुई जहरीली: सांस लेना हुआ मुश्किल, प्रदूषण से हालत गंभीर

ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोऑर्डिनेशन कमेटी (एआईकेएससीसी) ने कहा है कि 26 और 27 नवंबर को दिल्ली में विरोध-प्रदर्शन जारी रहेगा और इसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। इन किसान संगठनों का कहना है कि जहां भी किसानों को दिल्ली में जाने से रोका जाएगा, किसान वहीं पर बैठकर विरोध-प्रदर्शन करेंगे।

Farmers Protest Against Agricultural Laws

बुधवार को अंबाला में किसानों ने भारी पुलिस के बावजूद दिल्ली की कूच कर दिया। इस दौरान पुलिस ने पानी की बौझारों का इस्तेमाल किया। लेकिन पुलिस किसानों को रोकने में कामयाब नहीं हो पाई। कुरुक्षेत्र में भी किसानों ने पुलिस का नाका और बेरिकेट्स तोड़ दिए और आगे बढ गए।

ये भी पढ़ें…दिल्ली हिंसा थी आतंकी घटना! पुलिस ने चार्जशीट में कहा, उमर-शर्जील पर ये बड़े आरोप

दिल्‍ली मेट्रो ने जारी की एडवाइजरी

किसानों के आंदोलन को ध्यान में रखते हुए दिल्ली मेट्रो भी अलर्ट है। दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन(डीएमआरसी) ने आंदोलन के मद्देनजर एडवाइजरी जारी कर दी है। दिल्ली मेट्रो सुबह से दोपहर 2 बजे तक लूप में चलाया जाएगी। इसके बाद दोपहर 2 बजे के बाद मेट्रो सभी लाइनों पर चलेगी।

डीएमआरसी के मुताबिक, रिठाला और दिलशाद गार्डन लाइन पर सुबह से दोपहर दो बजे तक दिलशाद गार्डन से मेजर मोहित शर्मा राजेंद्र नगर के बीच मेट्रो की सुविधा उपलब्ध नहीं रहेगी। जबिक येलो लाइन पर सुल्‍तानपुर से गुरु द्रोणाचार्य सेक्शन के बीच मेट्रो नहीं चलेगी। द्वारका से वैशाली और नोएडा सिटी सेंटर रूट पर आनंद विहार से वैशाली और न्‍यू अशोक नगर से नोएडा सिटी सेंटर तक मेट्रो नहीं चलेगी।

ये भी पढ़ें…PDP नेता का आतंकियों से संबंध! NIA ने किया गिरफ्तार, अब होंगे कई बड़े खुलासे

इसके साथ ही कीर्ति नगर/इंदरलोक से टिकरी कलां सेक्‍शन पर सुबह से दोपहर दो बजे तक, तो वहीं टिकरी कलां से ब्रिग और हाशियार सिंह सेक्‍शन पर मेट्रो नहीं चलेगी। कश्‍मीरी गेट से बदरपुर बॉर्डर वमेट्रो रूट पर बदरपुर बॉर्डर से मेवला महाराजपुर तक मेट्रो सेवा बंद रहेगी।

हालांकि एयरपोर्ट और रेपिड मेट्रो सेक्‍शन पर इसका कोई असर नहीं होगा। दिल्‍ली मेट्रो ने कहा है कि दोपहर दो बजे के बाद सभी लाइन पर मेट्रो सर्विस नियमित हो जाएंगी।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App