Top

महापंचायत में टिकैत की हुंकार: बोले- जब-जब राजा डरता है तो करता है ऐसा काम

आंदोलन के समर्थन में हरियाणा में हुई किसानों के महापंचायत में केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ पांच प्रस्ताव पास किए गए हैं। इस मौके पर किसान नेता राकेश टिकैत ने हुंकार भरी और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 3 Feb 2021 12:04 PM GMT

महापंचायत में टिकैत की हुंकार: बोले- जब-जब राजा डरता है तो करता है ऐसा काम
X
महापंचायत में टिकैत की हुंकार: बोले- जब-जब राजा डरता है तो करता है ऐसा काम
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: नए कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं पर किसान बीते दो महीने से आंदोलन (Kisan Andolan) कर रहे हैं। इस बीच आज हरियाणा के जींद जिले में किसानों की महापंचायत हुई, जिसमें भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने हिस्सा लिया। साथ ही इस दौरान किसानों की भी खासा भीड़ देखने को मिली।

कृषि कानूनों के खिलाफ पास किए गए प्रस्ताव

आंदोलन के समर्थन में हरियाणा में हुई किसानों के महापंचायत में केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ पांच प्रस्ताव पास किए गए हैं। जिसमें तीनों कृषि कानूनों की वापसी, एमएसपी (MSP), किसानों पर दर्ज किए गए मुकदमों की वापसी की मांग की गई है। वहीं इस मौके पर किसान नेता राकेश टिकैत ने हुंकार भरी और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा।



यह भी पढ़ें: Twitter पर सख्त सरकार: जारी किया ये नोटिस, कहा- मानें बात नहीं तो होगी कार्रवाई

महापंचायत में गरजे राकेश टिकैत

किसान नेता राकेश टिकैत ने हुंकार भरते हुए कहा कि जब जब राजा डरता है, वह किलेबंदी करता है। दिल्ली में कीलें लगाई जा रही हैं, हम अपने खेतों में भी वो लगाते हैं। किसान नेता ने कहा कि अभी हम बिल वापसी की मांग कर रहे हैं, अगर गद्दी वापसी की बात हुई तो फिर क्या करोगे? उन्होंने कहा कि अभी जींद वालों को दिल्ली कूच करने की आवश्यकता नहीं है, आप यहीं पर रहे।

यह भी पढ़ें: खुला बकरियों का बैंक: देख कर आप भी सोच में पड़ जाएंगे, जानें कैसे हो रहा ऑपरेट

किसानों को रिहा करने पर होगी आगे की बात

वहीं राकेश की ओर से इस मसले पर ट्वीट भी किया गया कि पहले गिरफ्तार किसानों को रिहा किया जाए, तब आगे बात होगी। इसके अलावा महापंचायत में मंच टूटने पर टिकैत ने ट्वीट किया कि जींद में मंच भी टूटा, भीड़ का रिकॉर्ड भी टूटा, वर्ष 2021 युवा क्रांति का साल है। आपको बता दें कि आज महापंचायत के दौरान जब राकेश टिकैत और अन्य किसान नेता मंच पर खड़े थे तो वहां का मंच ही टूट गया था।





दरअसल, मंच पर तय सीमा से अधिक लोग चढ़ गए थे, जिस वजह से मंच टूट पड़ा। बता दें कि जब मंच टूटा तो राकेश टिकैत भी वहां पर मौजूद थे, लेकिन किसी को कोई हताहत नहीं हुई।

यह भी पढ़ें: देश की सबसे कम उम्र की महिला बनी पायलट, जानें इनके बारे में

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story