ट्रैक्टर हिंसा पर अलर्ट: दिल्ली पुलिस को मिली छूट, तुरंत लें तगड़ा एक्शन

दिल्ली में हुई हिंसा के बाद गृह मंत्रालय एक्शन में आ गया है। राष्ट्रीय राजधानी में वर्तमान हालात को देखते हुए पैरामिलिट्री फ़ोर्स की 15 कंपनियां तैनात करने का फैसाल लिया गया है। इसमें से 10 कंपनियां सीआरपीएफ की और 5 कंपनियां अन्य पैरामिलिट्री फोर्स की होंगी।

Published by Dharmendra kumar Published: January 26, 2021 | 6:55 pm
Delhi Police

(फोटो: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: कृषि कानून के खिलाफ पिछले दो महीनों से आंदोलन कर रहे किसानों ने गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर निकाली। इस दौरान किसानों ने दिल्ली जमकर तोड़फोड़ की और उत्पात मचाया। सबसे बड़ी बात यह है कि उन्होंने दिल्ली के लालकिले पर किसानों ने (निशान साहिब या निशान साहेब) फहरा दिया। इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच कई जगहों पर झड़प भी हुई है और कई एक दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं।

राजधानी दिल्ली में पैरामिलिट्री के 1500 जवान होंगे तैनात

दिल्ली में हुई हिंसा के बाद गृह मंत्रालय एक्शन में आ गया है। राष्ट्रीय राजधानी में वर्तमान हालात को देखते हुए पैरामिलिट्री फ़ोर्स की 15 कंपनियां तैनात करने का फैसाल लिया गया है। इसमें से 10 कंपनियां सीआरपीएफ की और 5 कंपनियां अन्य पैरामिलिट्री फोर्स की होंगी। दिल्ली में पैरामिलिट्री के 1500 जवान तैनात किए जाएंगे, तो वहीं दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने सभी जवानों को उपद्रवियों का पूरी शक्ति के साथ मुकाबला करने का आदेश दिया है।

आंदोलनकारियों ने तय शर्तों की अवहेलना की

ट्रैक्टर परेड में हिंसा पर दिल्ली पुलिस की तरफ से बयान जारी किया गया है। पुलिस ने कहा कि आज के ट्रैक्टर रैली के लिए दिल्ली पुलिस ने किसानों के साथ तय हुए शर्तों के मुताबिक काम किया और आवश्यक बंदोबस्त किए हैं। दिल्ली पुलिस ने अंत तक संयम का परिचय दिया, लेकिन आंदोलनकारियों ने तय शर्तों को नहीं माना और अवहेलना की। पुलिस ने कहा कि आंदोलनकारियों ने तय समय से पहले ही अपना मार्च शुरू कर दिया और हिंसा व तोड़फोड़ का रास्ता अपना लिया।

delhi voilence

ये भी पढ़ें…भयानक किसान हिंसा: 18 पुलिसकर्मी हो गए घायल, अब तैनात पैरामिलिट्री फोर्स

दिल्ली पुलिस ने कहा कि हमने कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए संयम के साथ जरूरी कदम उठाए। पुलिस की तरफ से कहा गया है कि इस आंदोलन से जन संपत्ति को बहुत नुक्सान हुआ है और कई पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं। आंदोलनकारियों से अपील है कि हिंसा का रास्ता छोड़ शान्ति बनाएं और तय हुए रास्ते से वापस लौट जाएं।

ये भी पढ़ें…बंद होगा लालकिला: पुलिस फोर्स दिखाएगी अपनी ताकत, किसानों का प्रदर्शन जारी

गृह मंत्रालय में बड़ी बैठक

ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने अहम बुलाई थी। बैठक में तत्काल प्रभाव से संवेदनशील जगहों पर सुरक्षाबलों की तैनाती के निर्देश दिया गया संवेदनशील जगहों में नांगलोई, आईटीओ और गाजीपुर हैं। इस बैठक में आईबी चीफ, गृह मंत्रालय के आला अधिकारी और दिल्ली पुलिस कमिश्नर मौजूद रहे। अधिकारियों को साफ-साफ निर्देश दिया गया है कि दिल्ली में कानून-व्यवस्था कायम करना प्राथमिकता है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App