Bird Flu का आतंक: अब इस राज्य में 443 पक्षियों की मौत, प्रशासन में हड़कंप

जांच के लिए भेजे गए 251 नमूनों में से 62 नमूनों में संक्रमण पाया गया है। पशुपालन विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक बुधवार को 296 कौए, 34 कबूतर, 16 मोर और 97 अन्य पक्षियों की मौत हो गई। रिपोर्ट की मानें तो 25 दिसंबर से अब तक अकेले राजस्थान में 4,390 पक्षियों की मौत हो चुकी है।

Published by Ashiki Patel Published: January 14, 2021 | 9:43 am
bird flu

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली: देश के कई राज्यों में बर्ड फ्लू से कोहराम मचा हुआ है। इस महामारी को देखते हुए सरकार ने राज्यों को एडवाइजरी जारी करने के निर्देश दिए हैं। इस बीच कल यानी बुधवार को राजस्थान में 443 और पक्षियों की मौत हो गई। राजस्थान के 33 जिलों में से 16 जिले बर्ड फ्लू से प्रभावित हैं।

जांच के लिए भेजे गए 251 नमूनों में से 62 नमूनों में संक्रमण पाया गया है। पशुपालन विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक बुधवार को 296 कौए, 34 कबूतर, 16 मोर और 97 अन्य पक्षियों की मौत हो गई। रिपोर्ट की मानें तो 25 दिसंबर से अब तक अकेले राजस्थान में 4,390 पक्षियों की मौत हो चुकी है।

अधिकारियों की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक राज्य के पोल्ट्री फार्म बर्ड फ्लू संक्रमण से अब तक सुरक्षित है। पिछले कुछ दिनों में विभाग ने कोटा, बूंदी और झालावाड़़ पोल्ट्री फार्म के नमूनों को जांच लिए भेजा था और रिपोर्ट में नमूनों में संक्रमण नहीं पाया गया। उन्होंने बताया कि उदयपुर जिला भी सुरक्षित है क्योंकि वहां अभी तक मृत पक्षी नहीं पाए गए हैं।

ये भी पढ़ें: ठंड का रिकॉर्ड टूटा: मकर संक्रांति में हड्डियां गला देने वाली सर्दी, ये राज्य कंपकंपाएं

केंद्र सरकार ने जारी की एडवाइजरी

इन्फ्लुएंजा बर्ड फ्लू को देखते हुए डीएएचडी के सचिव की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंस बैठक हुई, जिसमें 17 राज्यों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इस बैठक में बैठक में राज्यों को सलाह दी गई कि वे कार्ययोजना 2021 के अनुसार अपने-अपने राज्यों में एवियन इन्फ्लूएंजा यानी बर्ड फ्लू फैलने से रोकने का कारगर प्रबंध करें।

सुरक्षा उपकरण की पर्याप्त सप्लाई बनाए रखें राज्य

इन्फ्लुएंजा बर्ड फ्लू की स्थिति से निपटने के लिए राज्यों के लिए एडवाइजरी जारी की गयी है। इस एडवाइजरी में स्वास्थ्य और वन विभाग के साथ ताल-मेल करने और उन्हें इस मामले में संवेदी बनाने को कहा गया है। राज्यों से यह भी कहा गया है कि वे सुरक्षा उपकरण की पर्याप्त सप्लाई बनाए रखें और पोल्ट्री फार्मों में जैव सुरक्षा उपायों को जारी रखें। राज्यों को संक्रमण की पहचान करने और समय से नियंत्रण व्यवस्था करने में तेजी के लिए राज्यस्तरीय बीएसएल-II प्रयोगशालाओं को चिन्हित करने का भी निर्देश दिया गया है।

Poultry Products

ये भी पढ़ें: फिर आया भूकंप: उड़ गयी सबकी नींद, त्यौहार की बीच दिखी लोगों में दहशत

दिल्ली में पोल्ट्री उत्पाद या अंडे परोसने पर रोक

बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए राजधानी दिल्ली की नगर निगम ने एडवायजरी जारी की है। दिल्ली के सभी होटल और रेस्टोरेंट संचालकों को आदेश दिया है कि पोल्ट्री उत्पाद या अंडे ना परोसें वरना उचित कार्यवाही होगी। एडवायजरी के अनुसार उत्तरी और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के अधीन आने वाली सभी मीट की दुकानों मीट की प्रोसेसिंग इकाइयों या किसी भी अन्य स्थान पर जीवित मुर्गा व मुर्गियां इत्यादि रखने, उनका क्रय विक्रय करने और उनके मांस की प्रोसेसिंग, पैकेजिंग और बिक्री करने पर तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक पूरी तरह से बैन लगाया गया।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App