बिना चर्चा पास हुआ वित्त विधेयक, लोकसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

लोकसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई है। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए ये कदम उठाया गया है।
बजट सत्र का दूसरा चरण 3 अप्रैल तक चलना था, लेकिन कोरोना वायरस के कारण समय से पहले ही कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया।

Published by Aditya Mishra Published: March 23, 2020 | 3:01 pm
Modified: March 23, 2020 | 3:08 pm

नई दिल्ली: लोकसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई है। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए ये कदम उठाया गया है।

बजट सत्र का दूसरा चरण 3 अप्रैल तक चलना था, लेकिन कोरोना वायरस के कारण समय से पहले ही कार्यवाही को स्थगित कर दिया गया। इससे पहले लोकसभा में कोरोना कमांडोज के लिए सांसदों ने ताली बजाई. इसके अलावा वित्त विधेयक 2020 भी लोकसभा से आज पास हो गया।

ये भी पढ़ें…संसद पर कोरोना का साया: इन पार्टियों ने लिया बड़ा फैसला,सरकार कर सकती हैं ये एलान

वित्त विधेयक 2020 पास

वित्त विधेयक 2020 बिना चर्चा के लोकसभा से पास हो गया है। लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला ने कहा कि सांसदों की बैठक में चर्चा हुआ था कि वित्त विधेयक बिना चर्चा के पास होगा।

क्या कहा अधीर रंजन चौधरी ने

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने मांग कि करोना वायरस के कारण सरकार वित्तीय राहत का ऐलान करे। अधीर रंजन ने कहा कि हिंदुस्तान में त्राहि-त्राहि मची हुई है। अभूतपूर्व स्थिति है. सब लोग उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार की तरफ से वित्तीय सहयोग मिलेगा। वित्त विधेयक पास होने से पहले इसका ऐलान हो।

आंकड़ों में फंसे राहुल: संसद में कहा कुछ तो बाहर बोल बैठे ऐसा

वित्त सहायता पर सरकार रुख साफ करे’

कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि देश की अभी जो स्थिति है ऐसे में लोग उम्मीद कर रहे हैं कि सरकार से वित्त सहयोग मिलेगा। हमारी मांग है कि सरकार इसपर अपना रुख साफ करे।

वित्त विधेयक पर नहीं होगी चर्चा

वित्त विधेयक 2020 को चर्चा के बिना पास किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल ने कहा कि फ्लोर के नेताओं ने कहा कि असाधारण स्थिति है और ऐसे में बिल को सीधे पारित किया जाना चाहिए।

अनिश्चितकाल के लिए स्थगित होगी कार्यवाही

संसद सत्र को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया जाएगा. लोकसभा और राज्यसभा के सांसदों की अलग-अलग बैठक में फैसला लिया गया।

संसद में सरकार ने बताया, असम के डिटेंशन सेंटर में कितने लोग हैं बंद