G20 की बैठक में बोले PM मोदी, हम सबको मिलकर लड़ना होगा कोरोना से जंग

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी20 देशों के नेताओं से अपील की है कि सभी देश मिलकर वैश्विक महामारी कोविड19 से लड़ाई लड़े। पीएम मोदी ने कहा कि यह वक्त इस बात की चर्चा करने का नहीं है कि कोविड-19 की उत्पत्ति कहां से हुई।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस पूरी दुनिया में अपना कहर बरपा रहा है। इस बीच सऊदी अरब में गुरुवार से जी-20 देशों का आपातकालीन शिखर सम्मेलन शुरू हो गया। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए होने वाले इस सम्मेलन की अध्यक्षता सऊदी अरब के सुलतान सलमान बिन अब्दुल अजीज अल-सऊद ने की। इस सम्मेलन में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत दुनिया के कई शीर्ष नेताओं ने वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने के समन्वित उपायों पर चर्चा की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी20 देशों के नेताओं से अपील की है कि सभी देश मिलकर वैश्विक महामारी कोविड19 से लड़ाई लड़े। पीएम मोदी ने कहा कि यह वक्त इस बात की चर्चा करने का नहीं है कि कोविड-19 की उत्पत्ति कहां से हुई। इस वक्त मौजूदा संकट से निपटने के उपायों पर बात होनी चाहिए। वायरस के प्रकोप के लिए किसी को दोष देने का कोई प्रयास नहीं किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें…कोरोना पॉजिटिव कॉमेडियन के निशाने पर ट्रंप , जानें क्यों कहा-वो झूठ बोल रहे हैं ….

रिपोर्ट के मुताबिक पीएम मोदी ने आगे कहा कि जी 20 देशों को मानव जीवन पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और इसके लिए योजनाएं बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की कठिनाइयां दूर करने के लिए हमें काम करना होगा। साथ ही डब्ल्यूएचओ जैसी संस्थाओं को और भी मजबूत बनाना होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जी20 में हम ज्यादातर आर्थिक मुद्दों पर बात करते रहे हैं। जबकि हमारे सामने आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन जैसे कई वैश्विक मुद्दे हैं जिन्हें हमें संभालना चाहिए। कोविड-19 ने हमें वैश्विक स्तर पर समस्याओं के बारे में सोचने का मौका दिया है।

यह भी पढ़ें…इस सरकारी कर्मचारी ने छोड़ा MLA-MLC को पीछे, कोरोना के खिलाफ उठाया ये कदम

रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि जी20 की बैठक में किसी भी देश के नेता ने इस पर बात नहीं की कि कोरोना से कब तक निजात पा लिया जाएगा, क्योंकि इसका अनुमान किसी के पास नहीं है। सभी नेताओं ने कोरोना के डायग्नोस्टिक किट की उपलब्धता जल्दी कराने और प्रभावी बनाने पर चर्चा की।

जी20 के नेताओं ने कोविड-19 का संक्रमण रोकने के लिए भारत की ओर से उठाए गए कदम की सराहना की। इसके साथ ही कहा कि भारत ने कोरोना की रोकथाम में ना केवल अपने देश में बल्कि वैश्विक स्तर पर भी भूमिका निभाई है।

यह भी पढ़ें…कोरोना से जंग: लोगों की मदद के लिए आगे आया बजाज ग्रुप, दिए 100 करोड़

बता दें कि कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया में सामाजिक दूरी के नियम का पालन हो रहा है। इसलिए जी20 की बैठक भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संपन्न हुई है। भारत की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ विदेश मंत्री एस जयशंकर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने भी जी20 की बैठक में शामिल हुए।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App