सोने-चांदी की कीमत में भारी गिरावट, फटाफट चेक करें दाम, इतना सस्ता हुआ गोल्ड

कोरोना के कहर का सराफा बाजार भी असर दिख रहा है। सोने की कीमत 40 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम से नीचे पहुंच गई है, तो वहीं चांदी में भी भारी गिरावट हुई है।

नई दिल्ली: कोरोना के कहर का सराफा बाजार भी असर दिख रहा है। सोने की कीमत 40 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम से नीचे पहुंच गई है, तो वहीं चांदी में भी भारी गिरावट हुई है। भारतीय वायदा बाजार में अप्रैल गोल्ड फ्यूचर 40 हजार प्रति 10 ग्राम से नीचे चला गया है। मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के सर्राफा बाजार में 10 ग्राम सोना 80 रुपये सस्ता हो गया है, तो वहीं डिमांड गिरने से चांदी की कीमतों में 734 रुपये प्रति किलोग्राम की गिरावट दर्ज हुई है।

घरेलू बाजार में 24 कैरेट वाले सोने की कीमतें 40 हजार रुपये प्रति दस ग्राम के नीचे आ गई है। मंगलवार के दिन 10 ग्राम सोने की नई कीमतें 39,759 रुपये से गिरकर 39,719 रुपये पर आ गई है। तो वहीं शुक्रवार को दिल्ली सर्राफा बाजार में सोने का दाम 10 ग्राम सोना 1,097 रुपये सस्ता हो गया हो गया था।

यह भी पढ़ें…दिल्ली के होटल से राजधानी ट्रेन तक भटकता रहा कोरोना का मरीज, सैकड़ों आये चपेट में

सोने की तरह चांदी की कीमतों में भी तेजी से गिरावट हुई है। मंगलवार को चांदी के दाम 36,682 रुपये से गिरकर 35,948 रुपये पर आ गई है। इस दौरान चांदी 734 रुपये सस्ती हुई।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कारण इंडस्ट्रियल गतिविधियों में आई कमी के चलते डिमांड गिर रही है। इसीलिए कीमतों में गिरावट हुई है। कोरोना वायरस के कारण अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने-चांदी की हाजिर कीमतों पर काफी दबाव है। सोमवार को हाजिर बाजार में सोना नवंबर के लेवल से करीब 5 फीसदी तक टूटकर 1,511.30 प्रति औंस तक पहुंच गया था।

यह भी पढ़ें…सावधान: आप में दिखें ये 3 लक्षण, तो जरूर कराएं कोरोना वायरस की जांच

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) में मंगलवार को सुबह अप्रैल गोल्ड के सौदे 39,650 रुपये प्रति 10 ग्राम पर हुए। जानकारों का कहना है कि अभी कुछ समय के लिए सोने में उतार-चढ़ाव बना रह सकता है और 38,000 से 39,000 के बीच इसे सपोर्ट मिल सकता है।

कोरोना की वजह से दुनियाभर के शेयर बाजार में हाहाकार मचा है। इसकी वजह से सोने-चांदी पर भी दबाव बन रहा है। असल में कोरोना की वजह से दुनियाभर में लॉकडाउन की स्थिति है, ऐसे में इन कीमती धातुओं के खरीदार भी कम हो रही है। सराफा के वायदा सौदों में मार्जिन बढ़ाई जा रही है और गोल्ड ईटीएफ भी बिकवाली कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें…पर्व CJI रंजन गोगोई बोले, शपथ ग्रहण के बाद दूंगा हर सवालों का जवाब

इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) के नेशनल सेकेट्ररी सुरेंद्र मेहता ने एक न्यूज एजेंसी को बताया कि शेयर बाजार में भारी गिरावट के समय निवेशकों के लिए महंगी धातुएं सोना और चांदी संकटमोचक बन गईं और वे सोना और चांदी बेचकर अपनी नकदी की जरूरतों को पूरा करने लगे।