कोरोना वायरस से बचाएंगी ये चीजें: सरकार ने किये आर्डर, शुरू हुई सप्लाई

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को रोकने और संक्रमित मरीजों को स्वस्थ कराने के उद्देश्य से सरकार ने अहम फैसले लिए। इसके तहत सरकार ने मास्क, वेंटिलेटर की बड़ी संख्या में सप्लाई का आर्डर दिया है। 1.7 करोड़ PPE के भी ऑर्डर दिए गए है। सरकार ने इनका आर्डर घरेलू निर्माताओं को दिया है, जिसकी सप्लाई भी शुरू हो गयी है।

नई दिल्ली : कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को रोकने और संक्रमित मरीजों को स्वस्थ कराने के उद्देश्य से सरकार ने अहम फैसले लिए। इसके तहत सरकार ने मास्क, वेंटिलेटर की बड़ी संख्या में सप्लाई का आर्डर दिया है। 1.7 करोड़ PPE के भी ऑर्डर दिए गए है। सरकार ने इनका आर्डर घरेलू निर्माताओं को दिया है, जिसकी सप्लाई भी शुरू हो गयी है।

कोरोना वायरस से निपटने के लिए भारत को इन संसाधनों की जरूरत

भारत में लगातार बढ़ते संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर की जरूरत है। वहीं संक्रमण को रोकने के लिए मास्क की मांग है। साथ ही पीपीई (पर्शनल प्रोटेक्टिव इक्युपमेंट) की भी बड़ी आवश्यता है।

ये भी पढ़ेंःकोरोना वायरस: SAARC में पाकिस्‍तान के पैंतरे पर भारत ने दिया करारा जवाब

भारी मात्रा में सप्लाई का आर्डर

ऐसे में सरकार के आदेश के बाद PPE, मास्क और वेंटिलेटर की सप्लाई शुरू हो गई है। इसके लिए भारत में 20 घरेलू निर्माताओं को PPE के लिए विकसित किया गया है। जानकारी के मुताबिक, 1.7 करोड़ PPE के लिए ऑर्डर दिए गए हैं, जिसकी सप्लाई भी आना शुरू हो गई है। इसके अलावा 49,000 वेंटिलेटर के भी ऑर्डर दिए गए हैं।

ये भी पढ़ेंःकोरोना से जंग में मोदी सरकार के तीन चरण: तैयार हुआ फूलप्रूफ प्लान, अब होगा ये…

रेल कोचों को बनाया आइसोलेशन यूनिट

बता दें कि मरीजों के इलाज की समुचित व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए सरकार ने 5 हजार रेलवे कोचों में भी आइसोलेशन यूनिट तैयार करने का फैसला लिया। इसके लिए लगभग 80 हजार बेड रेल आइसोलेशन में बनाये का रहे हैं। यहां रेलवे की ओर से 2500 डॉक्टर्स और 35000 पैरामेडिक्स स्टाफ की तैनाती की गई है।

ये भी पढ़ेंः योगी सरकार ने कहा कि हर व्यक्ति ‘आरोग्य सेतु’ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें

ज्यादा से ज्यादा संदिग्धों के सैंपल की टेस्टिंग

ज्यादा से ज्यादा कोरोना संदिग्धों की जांच को लेकर भी सरकार प्रयासरत है। अभी तक स्वास्थ्य विभाग ने 1,30,000 नमूनों का टेस्ट कराया गया। इनमे से लगभग 5, 735 नमूनों पॉजिटिव पाए गए। .

लोगों की मदद के लिए कण्ट्रोल रूम बनाये गए हैं, जिसके जरिये एक दिन में 300 से ज्यादा समस्याओं का निदान किया गया।

गौरतलब है कि भारत में अब तक कुल 5734 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि हुई है और कुल 166 मौतें हुई हैं। वहीं अब तक 473 लोग ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं। अग्रवाल ने जानकारी दी कि

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।