‘बलात्कारी बाबा’ और ‘हनी’ का मिलन: 24 महीने बाद मिले आधे घंटे, जानें क्या हुआ

जानकारी के अनुसार दोनों के बीच जेल के तय समय अनुसार लगभग आधे घंटे तक बातचीत हुई। बता दें कि जमानत मिलने के बाद से हनीप्रीत राम रहीम से मिलना चाहती थी। इससे पहले दोनों 25 अगस्त 2017 को मिले थे, जब साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिया गया था।

रोहतक: साध्वी यौन शोषण और पत्रकार हत्याकांड में सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम से जुड़ी बड़ी खबर सामने आ र​ही है। राम रहीम की मुंहबोली बेटी और उनकी सबसे बड़ी राजदार हनीप्रीत सोमवार को अंबाला के सुनारिया जेल पहुंची। जेल से जमानत मिलने के बाद करीब 28 महीने बाद हनीप्रीत ने पहली बार राम रहीम से मुलाकात की।

जानकारी के अनुसार दोनों के बीच जेल के तय समय अनुसार लगभग आधे घंटे तक बातचीत हुई। बता दें कि जमानत मिलने के बाद से हनीप्रीत राम रहीम से मिलना चाहती थी। इससे पहले दोनों 25 अगस्त 2017 को मिले थे, जब साध्वी यौन शोषण मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिया गया था। सोमवार को वे आई-20 कार से सुनारिया जेल पहुंची और राम रहीम से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान उनके साथ डेरे के वकील व चेयरपर्सन शोभा इंसा साथ में थी।

ये भी पढ़ें—उन्नाव केस में नया मोड़, रेप पीड़िता और वकील में हुई वाट्सएप चैटिंग वायरल

बता दें कि दो साल बाद जेल की सलाखों से बाहर आई हनीप्रीत राम रहीम से मिलने की कोशिश कर रही थी और शायद इसीलिए हनीप्रीत ने हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज के सामने गुहार लगाई थी। हनीप्रीत के वकील अंबाला पहुंचे थे और गृहमंत्री से गुहार लगाई कि हनीप्रीत को सुनारिया जेल में बंद गुरमीत राम रहीम से मिलने की इजाजत दी जाए।

राम रहीम

जमानत मिलने के बाद सीधे डेरा सच्चा सौदा पहुंची थी हनी

हनीप्रीत को पंचकूला जिला अदालत से 7 नवंबर को जमानत मिली थी। इसके बाद हनीप्रीत अंबाला जेल से सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा पहुंची थी। हनीप्रीत फिलहाल डेरा सच्चा सौदा में ही रह रहीं हैं। 12 नवंबर को शाह मस्ताना के अवतार दिवस पर डेरा में आयोजित कार्यक्रम में हनीप्रीत दिखी थी।

गृहमंत्री अनिल विज से मुलाकात कर की थी यह मांग

अनिल विज से मिलने गए हनीप्रीत के वकील ने कहा था कि एक बेटी को बाप से मिलने दिए जाने की इजाजत मांगने के लिए वह उनसे मिले हैं। हनीप्रीत के वकील ने बताया था कि हनीप्रीत जेल से बाहर आने के बाद से ही डेरा प्रमुख से मुलाक़ात की कोशिश में जुटी है।

ये भी पढ़ें—राहुल गांधी की दुल्हनियां बनेगी बॉलीवुड की ये खूबसूरत अभिनेत्री!

25 अगस्त 2017 को भड़की थी हिंसा ​

साध्वी यौन शोषण मामले में पंचकूला सीबीआई कोर्ट ने 25 अगस्त 2017 को फैसला सुनाना था। 17 अगस्त 2017 को डेरा मुखी की अगुवाई में डेरा प्रबंधन समिति की अहम पदाधिकारियों व करीबियों की बैठक हुई। 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट ने जैसे ही गुरमीत राम रहीम को साध्वी रेप केस में दोषी करार दिया तो सिरसा में हिंसा भड़क उठी और हजारों डेरा अनुयायियों ने आगजनी की थी। इसमें 40 से अधिक लोग मारे गए थे।