×

किसान आंदोलन पर NDA कमजोर: BJP को फिर झटका: अब इस दिग्गज का इस्तीफा

भाजपा सहयोगी दल जेजेपी के दिग्गज नेता जिला अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह गोरैया ने कृषि कानूनों के खिलाफ पार्टी से इस्तीफा दे दिया।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 3 Feb 2021 4:48 AM GMT

किसान आंदोलन पर NDA कमजोर: BJP को फिर झटका: अब इस दिग्गज का इस्तीफा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

चंडीगढ़: किसान आंदोलन के समर्थन में कई राजनीतिक दल और दिग्गज नेता केंद्र सरकार व भाजपा के खिलाफ खड़े हो गए हैं। एक के बाद एक इस्तीफे हो रहे हैं। इसी कड़ी में अब हरियाणा के करनाल में दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी (JJP) के नेता और जिला अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह गोरैया ने पद से और पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि जेजेपी भाजपा समर्थित दल है।

JJP नेता इंद्रजीत सिंह गोरैया का इस्तीफा

दरअसल, केंद्र की मोदी सरकार ने कृषि कानूनों को लागू किया तो पूरे देश में विरोध शुरू हो गया। भाजपा की सबसे पुरानी सहयोगी शिरोमणि अकाली दल ने गठबंधन तोड़ दिया, वहीं हरसिमरत कौर बादल ने केंद्र सरकार में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद आरएलपी भी एनडीए से अलग हो गयी।

ये भी पढ़ें-अब नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी: सरकार का नया आदेश, ये करना पड़ेगा भारी

किसान आंदोलन के समर्थन में छोड़ी पार्टी

इसी कड़ी में अब भाजपा सहयोगी दल जेजेपी के दिग्गज नेता ने कृषि कानूनों के खिलाफ पार्टी से इस्तीफा दे दिया। करनाल जिले में जेजेपी जिला अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह गोरैया ने इस्तीफा देते हुए कहा कि ये इस्तीफा कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के समर्थन में दिया है। उन्होने कहा कि मैं अपना व्यक्तिगत फायदा नहीं देखना चाहता था बल्कि मैं किसानों के साथ मिलकर उनकी आवाज़ आगे बढ़ाना चाहता हूं।

haryana-jjp-leader-inderjeet-singh-resigns-supports-farmers-protest-accused-dushyant-chautala-and-bjp

भाजपा- JJP का समर्थन

इंद्रजीत सिंह गोरैया ने एलान किया कि वह आंदोलन में लगातार जाते रहेंगे। उन्होने आरोप लगाया कि अगर दुष्यंत चौटाला सरकार और किसानों के मीडिएटर बनते तो शायद उनका कद ऊपर होता, लेकिन उन्होंने सरकार की बात की, किसानों की नहीं।

ये भी पढ़ें-40 लाख ट्रैक्टर के साथ फिर रैली: राकेश टिकैत की चेतावनी, सावधान हो जाए सरकार

इनेलो नेता अभय चौटाला दे चुके इस्तीफा

बता दें कि इसके पहले किसान आंदोलन के समर्थन में इनेलो नेता अभय चौटाला भी विधायक पद से इस्तीफा दे चुके हैं। उन्होंने स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता को अपना इस्तीफा सौंपा था। अभय चौटाला के इस्तीफा देने के बाद ऐलनाबाद सीट खाली हो गई है। ऐसे में छह माह के भीतर यहां उपचुनाव होने की संभावना है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story