ठण्ड का प्रकोप: सड़क मार्ग बंद, 24 सौ ट्रांसफार्मर फुंके, 3 दिनों से अंधेरे में डूबा ये शहर

हिमाचल की राजधानी शिमला सहित कई क्षेत्रों में  भारी हिमपात हुआ है। कुल्लू, मंडी, सिरमौर, लाहौल-स्पीति भी भारी बर्फबारी हुई है। हिमाचल के सात जिले बर्फ की आगोश में हैं। भारी हिमपात के कारण सड़क, बिजली और पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं प्रभावित हुई है।

Published by Aditya Mishra Published: January 11, 2020 | 4:59 pm
Modified: January 11, 2020 | 6:08 pm

शिमला: हिमाचल की राजधानी शिमला सहित कई क्षेत्रों में  भारी हिमपात हुआ है। कुल्लू, मंडी, सिरमौर, लाहौल-स्पीति भी भारी बर्फबारी हुई है। हिमाचल के सात जिले बर्फ की आगोश में हैं। भारी हिमपात के कारण सड़क, बिजली और पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं प्रभावित हुई है।

हिमाचल में पांच नेशनल हाईवे के अलावा एक स्टेट हाईवे और 582 संपर्क मार्ग अवरूद्ध हो गए हैं। शिमला में 125 संपर्क मार्ग बाधित हो गए हैं। एनएच जलोड़ी पास, सोलंगनाला-रोहतांग, मनाली-लेह, ग्रांफू-समदो, शिमला में एनएच -5 ढली से आगे नारकंडा-कुफरी अवरूद्ध हैं।

लाहौल स्पीति में स्टेट हाइवे, तांदी-किलाड़ भी बर्फ के कारण अवरूद्ध है। इसके अलावा कई इलाकों में बिजली भी गुल हो गई है। 2436 बिजली ट्रांसफार्मर पूरी तरह से ठप हो गए हैं। काजा और स्पीति वैली पांच दिन से अंधेरे में है।

ये भी पढ़ें…Highway पर मौत से जूझ रहे इस अजनबी की कहानी पढ़कर आंखों में आ जायेंगे आंसू

तीन दिनों से शहर के कई इलाके अंधेरे में डूबे

स्कूल, दफ्तर जाने वाले बच्चे और कर्मचारी परेशान हैं। परीक्षाओं की तैयारियों में जुटे विद्यार्थियों की समस्याएं भी बढ़ गई हैं। बीते लगातार तीन दिनों से शहर के कई क्षेत्रों में अंधेरा पसरा हुआ है।

रामपुर के कई ग्रामीण इलाकों सहित ननखड़ी तहसील की 17 पंचायतों में बीते तीन दिन से विद्युत आपूर्ति बाधित है। रोहडू, चौपाल उपमंडल के ग्रामीण इलाकों में भी बिजली गुल है। आनी में 90 ट्रांसफार्मर बंद हैं। नारकंडा, मतयाना, कचीनघाटी, फागू में भी बिजली सप्लाई ठप पड़ी है। किन्नौर में 231 ट्रांसफार्मर ठप हैं।

किन्नौर जिला के कई क्षेत्रों में भी बिजली आपूर्ति ठप है। जिला सिरमौर के ट्रांसगिरि क्षेत्र में 102 ट्रांसफार्मर बंद हैं। क्षेत्र की 118 पंचायतों में अंधेरा पसरा है। जिला कांगड़ा के दुर्गम क्षेत्र मुल्थान के 30 गांव अंधेरे में डूबे हुए हैं। क्षेत्र में 18 ट्रांसफार्मर अभी भी खराब हैं।

विद्युत बोर्ड ने दो दिन में 68 ट्रांसफार्मर ठीक कर दिए हैं, जबकि अन्य ट्रांसफार्मर ठीक किए जा रहे हैं। बिजली बोर्ड के प्रबंध निदेशक जेपी कालटा ने बताया कि ट्रांसफार्मरों को दुरुस्त करने का कार्य जारी है। जल्द सभी प्रभावित क्षेत्रों में सप्लाई सुचारू कर दी जाएगी।

वहीं, जनजातीय क्षेत्र केलांग में 12 साल बाद सबसे ठंडी रात रिकॉर्ड हुई है। केलांग कान्यूनतम तापमान माइनस 17.6 डिग्री रहा। साल 2008 में जनवरी में यहां का पारा माइनस 18 डिग्री सेल्सियस था।

उधर, राजधानी शिमला सहित प्रदेश के नौ क्षेत्रों का रात का तापमान माइनस में पहुंच गया। नाहन में वीरवार रात को सबसे अधिक 6.1 डिग्री न्यूनतम पारा रिकॉर्ड हुआ। प्रदेश के अन्य सभी क्षेत्रों का न्यूनतम तापमान इससे कम रहा।

ये भी पढ़ें…बंद रहेंगे यूपी के स्कूल! बढ़ती ठण्ड के मद्देनजर योगी सरकार ने लिया फैसला

26 जनवरी तक बिजली कर्मियों की छुट्टियां रद्द

प्रदेश में जारी भारी बारिश और बर्फबारी को देखते हुए बिजली बोर्ड ने अधिकारियों और कर्मचारियों की छुट्टियां 26 जनवरी तक रद्द कर दी हैं। बोर्ड के प्रबंध निदेशक जेपी कालटा ने बताया कि बिजली सप्लाई सुचारू रखने के लिए यह फैसला लिया गया है। आने वाले समय में इन छुट्टियों को एडजस्ट कर दिया जाएगा।

वर्कशॉप में फंसी इलेक्ट्रिक बसें

एचआरटीसी ने दावा किया था कि नई इलेक्ट्रिक बसें बर्फ पर भी चलने में सक्षम होंगी। बाकायदा, इनका ट्रायल भी किया गया, लेकिन बर्फ गिरी तो दावों की पोल खुल गई। एक भी इलेक्ट्रिक बस सड़क पर नहीं दिख रही है।

एचआरटीसी शिमला लोकल डिपो के कार्यकारी क्षेत्रीय प्रबंधक राजेंद्र शर्मा ने बताया कि एचआरटीसी की अधिकतर इलेक्ट्रिक बसें भारी बर्फबारी के बाद ढली वर्कशॉप में फंसी हुई हैं।

जो बसें वर्कशॉप के बाहर हैं, उन्हें ओल्ड बस स्टैंड आईएसबीटी रूट पर चलाया जा रहा है। ढली वर्कशॉप से बसों को निकालने के बाद शनिवार से इनका संचालन शुरू करने का प्रयास किया जाएगा।

जिले में डाक सेवाएं भी प्रभावित

बर्फबारी के बाद शिमला जिले में डाक सेवाएं भी ठप हैं। एडिशनल चीफ पोस्टमास्टर जनरल विशन सिंह का कहना है कि ठियोग, चौपाल, नेरवा, रामपुर क्षेत्रों के लिए डाक सेवा प्रभावित हैं।

इन क्षेत्रों के लिए डाक एचआरटीसी बसों के जरिये भेजी जाती है। जिला प्रशासन जैसे ही सड़कें बहाल करता है, इन क्षेत्रों के लिए विशेष वाहन भेजकर डाक सेवाएं सुचारू कर दी जाएंगी।

ये भी पढ़ें…सर्दी में भी गर्मी का अहसास देंगे जैकेट, पहनकर लड़के लगेगे कूल व स्टाइलिश