शाह का प्लान बी! ममता के साथ किया लंच, कहा- विपक्ष के लोग करा रहे हैं दंगे

शनिवार को अमित शाह भुवनेश्वर में मौजूद महाप्रभु श्री लिंगराज का दर्शन करेंगे। इसके बाद वह श्रीजगन्नाथ महाप्रभु का दर्शन करने के लिए पुरी जाएंगे। महाप्रभु का दर्शन करने के बाद वह नई दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।

भुवनेश्वर: दो दिवसीय दौरे पर ओडिशा पहुंचे गृहमंत्री अमित शाह का भुवनेश्वर के अन्तर्राष्ट्रीय बीजू पटनायक एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया गया। इस दौरान एयरपोर्ट पर केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान एवं प्रताप षडंगी के साथ भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बैजयंत पंडा, प्रदेश अध्यक्ष समीर महांती, भुवनेश्वर सांसद अपराजित षडंगी आदि नेताओं ने भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर अमित शाह का स्वागत किया।

एयरपोर्ट से निकलने के बाद अमित शाह का काफिला राज्य लोकसेवा भवन पहुंचा। यहां पर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत 24वीं पूर्वांचल क्षेत्रीय परिषद बैठक अमित शाह की अध्यक्षता में शुरू हुई। शाह की अध्यक्षता में शुरू हुई इस बैठक में ओडिशा, पश्चिम बंगाल, बिहार के मुख्यमंत्री भाग लिए|

अमित शाह और ममता बनर्जी ने साथ खाया खाना

राजनीति में एक-दूसरे के धुर विरोधी कभी एक साथ एक ही टेबल पर खाना खाते दिखें तो हैरानी होना स्वाभाविक है। ऐसा ही कुछ ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में देखने को मिला। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की मेहमाननवाजी करते नजर आए। सभी नेताओं ने नवीन पटनायक के आवास पर साथ बैठकर लंच किया।

ये भी पढ़ें—आजम एंड फैमिली इन सीतापुर जेल: रामपुर में भी रची जा रही थी बड़ी साजिश …?

विपक्ष के लोग, लोगों को उकसा रहे हैं और दंगे करा रहे हैं: अमित शाह 

भुवनेश्वर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने विपक्ष पर सीएए को लेकर भ्रांति फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि विपक्ष के लोग, लोगों को उकसा रहे हैं और दंगे करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीएए से किसी की नागरिकता नहीं जाएगी। ये नागरिकता देने का कानून है। गृहमंत्री सीएए के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

अमित शाह ने कहा, ”मैं आज फिर से यहां कहना चाहता हूं कि सीएए से देश के एक भी मुसलमान और एक भी अल्पसंख्यक का नागरिकता अधिकार नहीं जाने वाला है। ये नागरिकता लेने का कानून है ही नहीं बल्कि नागरिकता देने का कानून है।” उन्होंने कांग्रेस, ममता बनर्जी, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं और कह रहे हैं कि इससे अल्पसंख्यकों के नागिरक अधिकार चले जाएंगे। शाह ने पूछा कि वे इतना झूठ क्यों बोलते हैं?

2024 तक देश के हर घर में नल से स्वच्छ पीने का पानी पहुंचाना है: शाह 

केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, ”मोदी जी ने अपने दूसरे कार्यकाल में एक बहुत बड़ी योजना लाए हैं। 2024 तक देश के हर घर में नल से स्वच्छ पीने का पानी पहुंचाना है। इस योजना का सबसे बड़ा फायदा अगर किसी राज्य हो हाने वाला है तो वो ओडिशा है। मैं आपको मोदी जी के प्रतिनिधि के नाते विश्वास दिलाने आया हूं कि पूर्व का पिछड़ा क्षेत्र और विशेषकर ये उत्कल राज्य सबसे अच्छा राज्य बने, इस दिशा में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।”

लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ”लोकसभा चुनाव के बाद मैं पहली बार ओडिशा आया हूं। मैं बीजेपी की तरफ से आपको धन्यवाद देता हूं कि आपने 8 सीटों पर विजय देकर 21 फीसदी जो पहले वोट मिला था इसकी जगह 38.4 फीसदी वोट देकर हमारे नेता मोदी जी का आपने समर्थन किया है। कभी भी ओडिशा मुझे गुजरात से अलग नहीं लगा, मुझे अपना दूसरा घर लगा है।”

ये भी पढ़ें—पाकिस्तान का गंदा खेल: श्रद्धालुओं के खिलाफ रची ये साजिश, रडार पर ये 4 लोग

दूसरे दिन महाप्रभु श्री लिंगराज का करेंगे दर्शन

शनिवार को अमित शाह भुवनेश्वर में मौजूद महाप्रभु श्री लिंगराज का दर्शन करेंगे। इसके बाद वह श्रीजगन्नाथ महाप्रभु का दर्शन करने के लिए पुरी जाएंगे। महाप्रभु का दर्शन करने के बाद वह नई दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे।