Top

दिल जीतने वाला IAS: पानी की मुहताज थी बुजुर्ग महिला, चुटकी में दिया अमृत

जुर्ग महिला ने कलेक्टर साहब से कहा, ठसाहब पानी के लिए भटक-भटककर मैं बूढ़ी हो गई हूं, कई सालों से दूसरे के घरों से पानी भरकर अपनी जिंदगी बिता रही हूं। मेरे घर पर एक नल कनेक्शन करवा दीजिए।“

Chitra Singh

Chitra SinghBy Chitra Singh

Published on 1 Jan 2021 7:45 AM GMT

दिल जीतने वाला  IAS: पानी की मुहताज थी बुजुर्ग महिला, चुटकी में दिया अमृत
X
दिल जीतने वाला IAS: पानी की मुहताज थी बुजुर्ग महिला, चुटकी में दिया अमृत
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ग्वालियर: यूं तो देश का हर युवा IAS ऑफिसर बनने का सपना देखता है। IAS बनकर वे समाजसेवा करने की ख्वाहिश को पूरा करना चाहते हैं। एक तरफ जहां कुछ युवा IAS अधिकारी बनने के बाद अपने लक्ष्य को भूल जाते है, तो कुछ ऐसे भी होते है जो अपने देखे गए सपने के मुताबिक लोगों का भला भी करते हैं। एक IAS ऑफिसर के पास कितना का पॉवर होता है इसकी एक झलक ग्वालियर में देखने को मिला है। जी हां, ग्वालियर में एक 70 साल की बुजुर्ग महिला जो कि सालों से कलेक्टेर कार्यालय के चक्कर काट रही थी उसके सालों का दर्द कलेक्टर साहब के आदेश के बाद कुछ पलों में ही दूर हो गया है। बता दें कि बुजुर्ग महिला अपनी फरियाद लेकर कलेक्टर साहब के पास पहुंची और खुशी-खुशी वहां से अपने घर लौटी।

बुजुर्ग महिला ने कलेक्टर को सुनाई अपनी फरियाद

मामला शहर के मामा बाजार के हैदरगंज का है, जहां 70 साल की बुजुर्ग महिला लाजवंती अपनी फरियाद लेकर कलेक्टर कार्यालय की जनसुनवाई में पहुंची थी। जनसुनवाई के दौरान जब कलेक्टर कौशलेन्द्र सिंह सभी फरियादियों से मिलते हुए बुजुर्ग लाजवंती के पास पहुंचे, तो लाजवंती ने कलेक्टर साहब को गले लगाकर अपनी परेशानी बयां की। बुजुर्ग महिला ने कलेक्टर साहब से कहा, ठसाहब पानी के लिए भटक-भटककर मैं बूढ़ी हो गई हूं, कई सालों से दूसरे के घरों से पानी भरकर अपनी जिंदगी बिता रही हूं। मेरे घर पर एक नल कनेक्शन करवा दीजिए।“ लाजवंती ने कहा कि वो कई बार अधिकारियों से भी नल लगवाने की फरियाद लगा चुकी है लेकिन अभी भी उसे बूंद-बूंद के लिए तरसता पड़ता है।

ये भी पढ़ें… New Year टोटके: दुनिया में गुडलक के लिए क्या करते हैं लोग, Kiss या तोड़ते हैं प्लेट

कलेक्टर ने नगर निगम को दिया आदेश

बुजुर्ग महिला की फरियाद सुनने के बाद कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने तुरंत नगर निगम के अधीक्षण यंत्री से संपर्क किया। कलेक्टर ने उनसे सवाल किया कि नये नल कनेक्शन के लिए कितने पैसे लगते हैं और कनेक्शन होने में कितना वक्त लगता है। जिस पर अधीक्षण यंत्री ने कहा कि 1700 रुपए नए नल कनेक्शन का शुल्क है। कलेक्टर द्वारा सख्ती दिखाते हुए नगर निगम को नल कनेक्शन लगाने का आदेश दिया।

gwalior news

मात्र 1 घंटे में लगा नल कनेक्शन

आदेश प्राप्त होने के बाद कलेक्टर साहब ने अपने एक कर्मचारी के साथ बुजुर्ग लाजवंती को घर भेजा। हैरत की बात यह है कि जब तक बुजुर्ग महिला लाजवंती घर पहुंची, तो वहां नल लगाने का काम शुरु हो चुका था। बता दें कि कलेक्टर के आदेश के बाद मात्र 1 घंटे में नगर निगम ने बुजुर्ग महिला लाजवंती के घर नल कनेक्शन लगा दिया जाता है। यह देख बुजुर्ग महिला की जिंदगी में वो चमत्कार हुआ, जिसकी उम्मीद शायद उसी को नहीं थी। अब उस बुजुर्ग महिला के घर में दो नल लग चुके थे। जिनमें से एक पुरानी लाइन से तो दूसरा अमृत परियोजना के तहत लगाया गया। इस काम को लेकर बुजुर्ग महिला ने कलेक्टर साहब को धन्यवाद कहा।

ये भी पढ़ें…ED को मिली गायत्री प्रजापति की हजारों करोड़ की संपत्तियां, जानकर उड़ जाएंगे होश

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story