कोरोना वैक्सीन पर भारत को मिली दूसरी बड़ी कामयाबी, ICMR ने दिया ये बयान

देश में बढ़ते मरीजों के बीच कोरोना की वैक्सीन पर देश को दूसरी बड़ी कामयाबी मिली है। कोरोना की वैक्सीन (COVAXIN) को 15 अगस्त को लॉन्च किया जा सकता है।

नई दिल्ली: देश में बढ़ते मरीजों के बीच कोरोना की वैक्सीन पर देश को दूसरी बड़ी कामयाबी मिली है। कोरोना की वैक्सीन (COVAXIN) को 15 अगस्त को लॉन्च किया जा सकता है। फार्मास्यूटिकल कंपनी भारत बायोटेक और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानी आईसीएमआर की ओर इस वैक्सीन की लॉन्चिंग संभव है।

ICMR ने वैक्सीन पर शनिवार को एक बयान जारी किया है। ICMR ने कहा कि वैक्सीन की प्रीक्लीनिकल स्टडी सफलतापूर्वक पूरी कर ली गई है, अब ह्यूमन ट्रायल के फेज 1 और 2 की शुरुआत होनी है।

ICMR ने बताया कि सार्वजनिक स्वास्थ्य हित में हमारे लिए यह महत्वपूर्ण है कि एक स्वदेशी वैक्सीन के ​परीक्षणों में तेजी से कार्य हो। वैक्सीन पर ICMR की प्रक्रिया विश्व स्तर पर स्वीकृत मानदंडों के मुताबिक ठीक है।

यह भी पढ़ें…सेवा ही संगठन कार्यक्रम में बोले PM मोदी, BJP के कार्यकर्ता और लोग बधाई के पात्र

ICMR ने कहा कि हमारा उद्देश्य जल्द से जल्द वैक्सीन के सभी चरणों को पूरा करना है, ताकि बिना किसी देरी के जनसंख्या आधारित परीक्षणों की शुरुआत हो सके। गौरतलब है कि हाल ही में कोवैक्सीन को ह्यूमन ट्रायल की अनुमति मिली है।

यह भी पढ़ें…भारतीय वायु सेना का LAC पर दबदबा, लड़ाकू विमानों की दिखाई ताकत

आईसीएमआर की तरफ से जारी किए गए पत्र के मुताबिक, 7 जुलाई से ह्यूमन ट्रायल के लिए इनरोलमेंट शुरू हो जाएगा। इसके बाद अगर सभी ट्रायल सही हुए थे तो आशा है कि 15 अगस्त तक कोवैक्सीन को लॉन्च किया जा सके। सबसे पहले भारत बायोटेक की वैक्सीन मार्केट में आ सकती है।

यह भी पढ़ें…नेपाल में ओली को दो दिन की राहत, अब सोमवार को होगा पीएम की किस्मत का फैसला

बता दें कि हाल ही में हैदराबाद की फार्मा कंपनी भारत बायोटेक ने दावा किया था कि उसे कोवैक्सीन के फेज-1 और फेज-2 के ह्यूमन ट्रायल के लिए डीसीजीआई ने इजाजत दे दी है। कंपनी ने यह भी कहा है कि ट्रायल का काम जुलाई के पहले हफ्ते में शुरू किया जाएगा। भारत बायोटेक के पास वैक्सीन बनाने में पुराना अनुभव है।