×

कोरोना: भारत में कम्यूनिटी ट्रांसमिशन तो नहीं हुआ शुरू? ऐसे पता लगाएगा ICMR

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। देश में कुछ ऐसे जिले हैं जो कोरोना संक्रमण के गढ़ बन चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ 200 से ज्यादा ऐसे जिले भी हैं जो कोरोना से अछूते हैं।

Ashiki
Published on: 10 May 2020 6:07 AM GMT
कोरोना: भारत में कम्यूनिटी ट्रांसमिशन तो नहीं हुआ शुरू? ऐसे पता लगाएगा ICMR
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। देश में कुछ ऐसे जिले हैं जो कोरोना संक्रमण के गढ़ बन चुके हैं। वहीं दूसरी तरफ 200 से ज्यादा ऐसे जिले भी हैं जो कोरोना से अछूते हैं। देश के करीब 75 जिलों में ही संक्रमण के ज्यादातर मामले सामने आएं हैं। अब इन 75 जिलों में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी ICMR स्टडी शुरू करने की योजना बना रहा है, जिससे पता लगाया जा सके कि कहीं इन जिलों में कम्यूनिटी ट्रांसमिशन तो शुरू नहीं हो गई है।

ये भी पढ़ें: सैमसंग का Mother’s Day ऑफर: 63 हज़ार वाला धांसू स्मार्टफोन सिर्फ 22,999 रुपये में खरीदें

75 जिले रेड जोन का ही हिस्सा

बता दें कि ये 75 जिले रेड जोन का ही हिस्सा हैं। इसमें दिल्ली, मुंबई, पुणे, आगरा, अहमदाबाद और ठाणे जैसे एरिया भी शामिल हैं। उदहारण के तौर पर मुंबई को देखा जाय तो, अकेले मुंबई में 12 हजार से ज्यादा केस हैं। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 1,165 नए संक्रमित केस मिले हैं, जिसके बाद राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या 20,228 हो गई है जबकि 780 लोगों की मौत हो चुकी है।

ये भी पढ़ें: कोरोना से थाना प्रभारी की हुई थी मौत, शिवराज सरकार ने बेटी को सौंपी ये जिम्मेदारी

इसके अलावा दिल्ली और गुजरात में भी कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 6 हजार से अधिक हो चुकी है। वहीं मुंबई के साथ ठाणे और पुणे में भी कोरोना मरीजों की संख्या दो हजार तक पहुंच चुकी है। मध्य प्रदेश के इंदौर में 1700 से ज्यादा, राजस्थान के जयपुर में एक हजार से ज्यादा, जोधपुर और गुजरात के सूरत में 800-800 से ज्यादा और उत्तर प्रदेश के आगरा में 700 से ज्यादा संक्रमण के मामले मिले हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय को दिए निर्देश

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों से कहा है कि वे हर जिले में सांस लेने में समस्या और इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारियों वाले करीब 250 लोगों की जांच करें। कोरोना वायरस के फैलाव पर और कोरोना संक्रमित मरीजों पर निगरानी के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय इस तरह के निर्देश दिए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि आईसीएमआर का प्लान था कि बहुत ज्यादा कोरोना वाले जिलों में रैपिड एंटी-बॉडी टेस्ट किट्स के जरिए जांच की जाए लेकिन पिछले कुछ समय से जिस तरह से जांच में समस्या आई है उससे इस प्लान को स्थगित कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें: अजान पर जावेद अख्तर ने दिया ऐसा बयान, सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल

75 जिलों में एंजाइम लिंक्ड इम्यूनोसोर्बेंट असे टेस्ट किट के जरिए जांच की जाएगी। आईसीएमआर ने कम्युनिटी ट्रांसमिशन की जांच के लिए मार्च महीने में भी इसी तरह की स्टडी की थी। हालांकि उस समय जांच के दौरान इस बात की पुष्टि नहीं हो पायी थी कि देश में कोरोना के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का दौर शुरू हो चुका है।

ये भी पढ़ें: एक्शन में सीएम शिवराज: दिया बड़ा आदेश, अचानक 50 सीनियर IAS अफसरों का तबादला

Ashiki

Ashiki

Next Story