Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

वोट पर कटेंगे 350: ऐसा क्यों चलने लगा ट्रेंड, जानें क्या इसका सच

दरअसल, इन दिनों सोशल मीडिया पर एक खबर तेजी से वायरल हो रही है, जिसकी हेडलाइन है 'नहीं दिया वोट तो बैंक अकाउंट से कटेंगे 350 रुपये: आयोग।' न्यूज़ में यह दावा किया जा रहा है कि अगर आप चुनाव में वोट डालने नहीं गए तो चुनाव आयोग आपके बैंक खाते से 350 रुपये काट लेगा।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 23 Nov 2020 1:16 PM GMT

वोट पर कटेंगे 350: ऐसा क्यों चलने लगा ट्रेंड, जानें क्या इसका सच
X
नहीं दिया वोट तो खाते से कटेंगे 350 रुपये', जानें क्या है वायरल न्यूज़ का सच
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: वोट देने का अधिकार देश के हर नागरिक को प्राप्त है। इस अधिकार को पाकर हम मतदाता कहलाते हैं। वही मतदाता जिसके पास यह ताकत है कि वो सरकार बना सकता है और सरकार गिरा सकता है। यहां तक कि सरकार भी आम लोगों को अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने की सलाह देती है।

ये भी पढ़ें: सरकार ला रही नया टैक्स, अब लव जिहाद-गौकैबिनेट के बाद बड़ा ऐलान

लेकिन क्या आपने कभी यह नहीं सुना है कि अगर आप वोट डालने नहीं गए, तो आपके खाते से पैसे काट लिए जाएंगे? अगर सुना है तो अभी सावधान हो जाएं। क्योंकि इन दिनों किसी अखबार की एक खबर को वायरल किया जा रहा है, जिसमें साफ-साफ लिखा है कि अगर आप इस बार वोट देने नहीं गए, तो आपको महंगा पड़ जाएगा।

क्या है इस वायरल खबर में...?

दरअसल, इन दिनों सोशल मीडिया पर एक खबर तेजी से वायरल हो रही है, जिसकी हेडलाइन है 'नहीं दिया वोट तो बैंक अकाउंट से कटेंगे 350 रुपये: आयोग।' इस वायरल न्यूज़ में यह दावा किया जा रहा है कि अगर आप लोकसभा चुनाव में वोट डालने नहीं गए तो चुनाव आयोग आपके बैंक खाते से 350 रुपये काट लेगा। आगे इस खबर में लिखा है कि वोट नहीं डालने वालों की पहचान आधार कार्ड के जरिए होगी। इस वायरल खबर के अनुसार आयोग ने सभी बैंकों को रुपये काटने के आदेश भी दे दिए हैं।

सिर्फ इतना ही नहीं इस खबर में यह भी दावा किया गया है कि इसके लिए आयोग ने कोर्ट से पहले ही मंजूरी ले ली है और इस आदेश के खिलाफ अदालत में याचिका भी दायर नहीं हो सकती। खबर में कहा गया है कि जिसके बैंक खाते में पैसे नहीं होंगे, उनके मोबाइल रिचार्ज से यह रकम काट कर वसूल की जाएगी।

क्या है सच्चाई...?

बता दें कि इस खबर के वायरल होने के बाद प्रेश इनफार्मेशन ब्यूरो ने मामले की जांच की। एक रिपोर्ट में पाया गया कि यह खबर फेक है। सोशल मीडिया पर इस खबर को गलत दावों के साथ वायरल किया जा रहा है। उस तरह की खबर को न सरकार समर्थन करती है न चुनाव आयोग और न ही बैंक आपके अकाउंट से पैसे काटने वाली है।

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन पर बैठक: कोरोना की दूसरी लहर बेहद खतरनाक, कल पीएम करेंगे मीटिंग

Newstrack

Newstrack

Next Story