गैस बुकिंग पर बड़ी खबर: जारी हुआ ये नया नंबर, आज से बदले कई नियम

देश की सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी इंडेन के ग्राहक आज से पुराने नंबर पर गैस बुक नहीं करा पायेंगे। गैस रीफिल बुक कराने के लिए इंडेन ने अपने सभी ग्राहकों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक नया नंबर 7718955555 भेजा है।

Published by Vidushi Mishra Published: November 1, 2020 | 11:28 am
Modified: November 1, 2020 | 11:55 am
INDANE GAS

फोटो-सोशल मीडिया

लखनऊ। पहली नवंबर यानी आज से एलपीजी सिलंेडर की बुकिंग से लेकर रेलवे की समय सारिणी और बैंकों के नियम भी बदलने जा रहे है। इंडेन गैस ने अपने देश भर के ग्राहकों के लिए एक नंबर जारी किया है, आज से ग्राहक इसी नंबर पर अपना एलपीजी सिलेंडर बुक कर सकेंगे। इसके साथ ही बैंक आफ बड़ौदा भी अपने ग्राहकों के लिए खाते से जुडे़ कई नियमों में बदलाव करने जा रहा है। देश की सबसे बड़ी पेट्रोलियम कंपनी इंडेन के ग्राहक आज से पुराने नंबर पर गैस बुक नहीं करा पायेंगे। गैस रीफिल बुक कराने के लिए इंडेन ने अपने सभी ग्राहकों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक नया नंबर 7718955555 भेजा है।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान के हमले में भारतीय सेना के तीन जवान शहीद, धमाकों से दहल उठी घाटी

एलपीजी रीफिल की बुकिंग

अब केवल इसी नंबर का इस्तेमाल आईवीआर या एसएमएस के जरिए गैस बुकिंग के लिए किया जा सकेगा। पहले एलपीजी रीफिल बुकिंग के लिए देश के अलग-अलग सर्किल में अलग-अलग नंबर प्रयोग किए जाते थे।

आज से इंडेन गैस के देश भर के ग्राहकों को एलपीजी सिलेंडर बुक कराने के लिए इस नंबर पर कॉल या एसएमएस करना होगा। खास बात यह हे कि अब इंडेन ग्राहक किसी भी दिन किसी वक्त इस नंबर के जरिए अपने एलपीजी रीफिल की बुकिंग करा सकेंगे।

इसके लिए ग्राहक को अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से इंडेन के इस नंबर पर काल या एसएमएस करना होगा। एसएमएस या व्हाट्सअप से रीफिल बुक कराने के लिए ग्राहकों को अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से इंडेन के नंबर पर रीफिल टाइप करके भेजना होगा।

GAS
फोटो-सोशल मीडिया

इसके साथ ही हर बार बुकिंग कराने पर ग्राहक के रजिस्टर्ड नंबर पर कंपनी द्वारा एक ओटीपी भेजा जायेगा। गैस पहुंचाने वाले वेंडर को यह ओटीपी नंबर बताये बगैर रीफिल नहीं मिलेगा।

वहीं आज यानी एक नवंबर रविवार से दिल्ली में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट और कलर कोड स्टीकर गाड़ी पर लगाने के प्रक्रिया शुरू हो रही है। इसके अंतर्गत दिल्ली रजिस्टर्ड गाड़ियों में अब नंबर प्लेट और कलर कोड स्टिकर लगवाना बेहद अनिवार्य है। आज से ही प्रोसेस में हो गया है।

ये भी पढ़ें…मायावती की बड़ी अपील: उपचुनाव में बसपा को दें वोट, विरोधियों को दें सियासी संदेश

अलग-अलग शुल्क निर्धारित

इसके अलावा आज से ही बैंकों में अब तक उपलब्ध कई मुफ्त मिलने वाली सेवाओं पर शुल्क लगने जा रहा है। आज यानी पहली नवंबर से बैंक आफ बड़ौदा इसे लागू कर रहा है तो बैंक आफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक और सेंट्रल बैंक समेंत कई और बैंक इसे जल्द लागू कर सकते है।

नये नियमों के तहत अब ग्राहकों को बैंक आफ बड़ौदा ने चालू खाते, कैश क्रेडिट लिमिट और ओवरड्राफ्ट एकाउंट से जमा-निकासी के अलग और बचत खाते से जमा-निकासी के अलग-अलग शुल्क निर्धारित किए हैं।

बचत खातों के लिए यह सीमा तीन बार रखी गई है। तीन बार जमा करने की सेवा मुफ्त होगी जबकि चैथी बार धन जमा करने पर 40 रुपये शुल्क देना होगा। इसी तरह तीन बार धन निकासी पर कोई शुल्क नहीं है लेकिन चैथी बार से प्रति निकासी 100 रुपये शुल्क देना होगा।

gas
फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें…तबाही लेकर आ रहा है सुपर टायफून, फिलीपींस में अलर्ट जारी

वरिष्ठ नागरिकों को कोई छूट नहीं

नये नियमों में वरिष्ठ नागरिकों को भी कोई छूट नहीं दी गई है जबकि जनधन खाताधारकों को जमा करने पर कोई शुल्क नहीं देगा होगा लेकिन निकालने पर 100 रुपए देना होगा।

चालू खाते, कैश क्रेडिट लिमिट और ओवरड्राफ्ट एकाउंट से जमा-निकासी के अलग और बचत खाते से जमा-निकासी के अलग-अलग शुल्क निर्धारित किए हैं। लोन एकाउंट के लिए महीने में तीन बार के बाद चैथी बार पैसा निकालने पर 150 रुपए प्रति लेनदेन का शुल्क लगेगा।

सीसी, चालू और ओवरड्राफ्ट खातों के लिए एक दिन में एक लाख तक की जमाराशि मुफ्त होगी लेकिन एक लाख से ज्यादा होने पर प्रति हजार रुपए पर एक रुपए शुल्क लिया जायेगा।

ये भी पढ़ें…शाह संभालेंगे पश्चिम बंगाल का मोर्चा, विधानसभा चुनाव से पहले BJP को मिला बड़ा मुद्दा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App