पुलिस पर लाठी-डंडे और पत्थरों से हमला, भीषण फायरिंग से कांप उठा इलाका

दिल्ली के इंदरलोक में कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाने का मामला सामने आया है। घटना गुरुवार की है। यहां एक व्यक्ति और उसके भाइयों के खिलाफ पिटाई और लूटपाट की रिपोर्ट लिखाने एक शख्स इंदरलोक पुलिस चौकी में आया।

नई दिल्ली: दिल्ली के इंदरलोक में कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाने का मामला सामने आया है। घटना गुरुवार की है। यहां एक व्यक्ति और उसके भाइयों के खिलाफ पिटाई और लूटपाट की रिपोर्ट लिखाने एक शख्स इंदरलोक पुलिस चौकी में आया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक रिपोर्ट लिखने के बाद पुलिस आरोपियों को थाने ले आई, लेकिन वो किसी तरह वहां से बचकर निकलने में कामयाब रहे।

कुछ देर बाद वह फिर से थाने में लौटे, उनकी तादाद काफी थी। उन्होंने अपने हाथों में लाठी-डंडे और पत्थर थाम रखें थे। उन्होंने थाने के अंदर दाखिल होते ही पुलिस पर धावा बोल दिया।

हमलवारों ने इस दौरान पुलिस पर फायरिंग भी की। जिसके जवाब में एसआई पंकज ने दो राउंड हवाई गोलिया चलाई। इसके बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को धर दबोचा है। वहीं कुछ लोग फरार होने में सफल रहे, पुलिस उनकी तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है।

इस डीजीपी ने कहा- डॉक्टरों और पुलिस पर हमला करने वालों को जेल में ही सड़ा देंगे

इससे पूर्व पंजाब में भी ऐसी ही घटना देखने को मिली थी, जहां पर एक बार युवक ने पुलिस की टीम पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। जिसमें एक पुलिस कॉन्स्टेबल की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि सीआईए इंचार्ज और एक कांस्टेबल बुरी तरह जख्मी हो गए। घायलों को इलाज के लिए अस्पतालम में भर्ती कर दिया गया। बाद में आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी का नाम गुरविंदर बताया जा रहा है।

पुलिस पर चली गोलियां: आतंकियों ने किया हमला, सेना हुई अलर्ट

दो पक्षों के बीच सुलह कराने पहुंची थी पुलिस

जानकारी के मुताबिक, आरोपी का अपने चाचा बलदेव सिंह के साथ झगड़ा था। वहीं चाचा बलदेव से शिकायत मिलने के बाद पुलिस दोनों पक्षों के बीच सुलह कराने के लिए पहुंची थी। युवक का आरोप है कि पुलिस ने उसके साथ बिना किसी वजह बहस की और उस पर फायरिंग कर दी।

दो अधिकारी व कांस्टेबल घायल, फिर हुआ पुलिसकर्मियों पर हमला