×

मिसाइल से कांपे देश: भारत को मिली सबसे बड़ी जीत, दुश्मनों का नामों-निशान खत्म

दुश्मनों को मजा चखाने के लिए भारत ने कड़ी मशक्कत के बाद बड़ी कामयाबी हासिल की है। ऐसे में आज सबसे खतरनाक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया है। ताजा जानकारी मिली है कि इस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को INS रणविजय से लॉन्च किया गया है।

Newstrack
Published on: 1 Dec 2020 1:21 PM GMT
मिसाइल से कांपे देश: भारत को मिली सबसे बड़ी जीत, दुश्मनों का नामों-निशान खत्म
X
दुश्मनों को मजा चखाने के लिए भारत ने कड़ी मशक्कत के बाद बड़ी कामयाबी हासिल की है। ऐसे में आज सबसे खतरनाक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: दुश्मनों का नामों-निशान जड़ से खत्म करने के लिए भारत को बड़ी सफलता मिली है। सबसे खतरनाक ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का आज यानी मंगलवार को सफल परीक्षण किया गया है। ताजा जानकारी मिली है कि इस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल को INS रणविजय से लॉन्च किया गया है। बता दें, भारत की ये सबसे खतरनाक मिसाइलों में से एक है। वहीं इसके पहले हुए तीन मिसाइल परीक्षण जमीन से जमीन पर मार करने वाली ब्रह्मोस मिसाइल के हुए थे।

ये भी पढ़ें... ताकतवर मिसाइल तैयार: चीन-पाकिस्तान में मच गई हलचल, सेना से कांप रहे दुश्मन

दुश्मनों का नामों-निशान जड़ से खत्म

सूत्रों से सामने आई ये जानकारी के अनुसार, ये मिसाइल नौसैनिक जहाज आईएनएस रणविजय से दागी गई और अंडमान-निकोबार द्वीप एक अन्य वीरान द्वीप पर लगाए गए टारगेट को ध्वस्त कर दिया।

ऐसे में धोखेबाज चीन से लगभग 8-9 महीने से जारी सीमा विवाद और तनातनी के चलते बीते कुछ दिनों में भारत ने कई मिसाइलों, टॉरपीडो, एंटी-मिसाइल सिस्टम आदि का सफल परीक्षण किया है।

BrahMos missile फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...चीन ने किलर मिसाइलों से युद्धपोत को किया तबाह, हिली दुनिया, अमेरिका ने दी धमकी

मुख्य उद्देश्य मिसाइल की रेंज को बढ़ाना

इस परीक्षण का मुख्य उद्देश्य मिसाइल की रेंज को बढ़ाना था। पहले वाली मिसाइल से जमीन से जमीन पर मार करने वाली इस मिसाइल की रेंज को बढ़ाकर 400 किलोमीटर किया गया है।

बता दें, ब्रह्मोस मिसाइल 28 फीट लंबी है। ये 3000 किलोग्राम वजन की है। इसमें 200 किलोग्राम के पारंपरिक और परमाणु हथियार लगाए जा सकते हैं। यह 300 किलोमीटर से 800 किलोमीटर तक की दूरी पर बैठे दुश्मन पर अचूक निशाना लगाती है।

इसमें सबसे खास इसकी रफ्तार इसे सबसे ज्यादा घातक बनाती है। ये 4300 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हमला करती है। दुश्मनों को इस मिसाइल के छूटने के बाद बचने या हमला करने का भी मौका नहीं मिलता।

ये भी पढ़ें...किलर मिसाइलें बनी तबाही: एक झटके में उड़ जाएगा देश, अब बना रहा ऐसा बंकर

Newstrack

Newstrack

Next Story