भारतीय सेना से पंगा ना ले चीन: 9 पर भारी है 1 जवान, 30 मंजिल की ऊंचाई पर सेना

भारतीय सेना काफी ऊंचाई पर है और इसका फायदा उन्हें लड़ाई में मिल सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय सेना किसी-किसी इलाके में लगभग 30 मंजिल की ऊंचाई पर डटी हुई है।

Published by Shreya Published: September 17, 2020 | 11:32 am
Indian Army

भारतीय सेना से पंगा ना ले चीन: 9 पर भारी है 1 जवान, 30 मंजिल की ऊंचाई पर सेना (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन के बीच तनाव जारी है। ये तनाव अगस्त महीने के आखिरी में और बढ़ गया। चीनी सेना की ओर से की गई घुसपैठ के बाद से सीमा पर तनाव को कम करने के लिए उच्चस्तरीय बैठकें जारी हैं, हालांकि अब तक कोई ठोस नतीजा सामने नहीं आया है। वहीं ऐसा भी कहा जा रहा है कि लद्दाख के कई इलाकों में भारतीय और चीनी सैनिक आमने सामने हैं और अभी भी वहां तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है।

ऊचांई पर टिकी है भारतीय सेना

हालांकि कहा ऐसा भी जा रहा है कि भारतीय सेना काफी ऊंचाई पर है और इसका फायदा उन्हें लड़ाई में मिल सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय सेना किसी-किसी इलाके में लगभग 30 मंजिल की ऊंचाई पर डटी हुई है। यहां पर सैनिक पोस्ट बनाकर डटे हुए हैं। जबकि चीनी सैनिक काफी भारतीय सैनिकों के मुकाबले काफी नीचे हैं। भारतीय जवानों ने यहां ऊंचाई पर कब्जा कर रखा है और यहां उन्हें हटाना चीन को भी भारी पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: यूपीः योगी सरकार ने पहले डिटेंशन सेंटर को दी मंजूरी, गाजियाबाद में होगा निर्माण

Indian Army On Army
ऊंचाई पर बैठी सेना को बचाव के अधिक अवसर (फोटो- सोशल मीडिया)

ऊंचाई पर बैठी सेना को बचाव के अधिक अवसर

रिपोर्ट के मुताबिक, ऊंचाई पर बैठी सेना के पास बचाव का अधिक अवसर होता है। क्योंकि जो सेना ऊंचाई पर बैठी होती है उस पर हमला करना काफी मुश्किल होता है। चीनी सैनिकों को भी इसलिए भारतीय सेना को निशाना बनाने में काफी दिक्कते होंगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत सियाचिन ग्लेशियर में 1984 में 6,700 मीटर की ऊंचाई पर सैन्य ऑपरेशन कर चुका है। बता दें कि सियाचिन दुनिया का सबसे ऊंचा जंगी मैदान है।

यह भी पढ़ें: ISI की यूपी पर नजर, इंटरनेट से फैला रहे आंतकी जाल, निशाने पर ये लोग….

चीनी सेना को होगी इसलिए मुश्किलें

वहीं मौजूदा तनाव पांच हजार मीटर चुशुल में है। ऐसे में चीनी सेना का कहना है कि भारतीय सेना दुर्गम इलाकों में लड़ने के लिए सक्षम नहीं है उसे भारी पड़ सकता है। वहीं एक्सपर्ट्स की मानें तो इतनी ऊंचाई पर दुश्मन के सामने से हमला करना काफी खतरनाक होता है। साथ ही इतनी ऊंचाई पर चढ़ने में भी काफी मुश्किल होता है। ऐसा कनरे पर सांस लेने में दिक्कत होने लगती है और सामान भारी होता है। ऐसे में ऊंचाई पर बैठे सेना को काफी लाभ मिलता है।

यह भी पढ़ें: हत्याओं से दहला UP: रिश्तों का हुआ कत्ल, परिवार ने आपस में ही खेला मौत का खेल

LAC
नौ सैनिकों पर एक जवान भारी (फोटो- सोशल मीडिया)

नौ सैनिकों पर एक जवान भारी

रिपोर्ट में भारत के रिटायर्ड ब्रिगेडियर दीपक सिन्हा के हवाले से लिखा गया है कि आपको ऊंचाई पर बैठे एक इंसान पर हमला करने के लिए नौ सैनिकों की आवश्यकता होती है। रिपोर्ट में लिखा गया है कि भारत की तरफ से भले ही शांति की बात की जा रही हों, लेकिन सीमा के दोनों और सैनिकों की तैनाती बढ़ती ही जा रही है। अभी बीते दिनों ही चीन ने 4,600 मीटर की ऊंचाई पर कम कैलिबर की Howitzer के साथ अभ्यास किया था। वहीं राजनाथ सिंह ने भी संसद में बयान दिया था कि भारतीय सेना किसी भी परिस्थिति के लिए तैयार है।

यह भी पढ़ें: कंगना का आलीशान घर: इस खूबसूरत बंगले में रहती हैं एक्ट्रेस, यहां देखें फोटोज

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App