×

बॉर्डर पर थर-थर कांप रहे चीनी सैनिक, भारत ने चीन से कहा-फौरन हटा लो अपनी सेना

इस पूरे मसले पर रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि चीन के धोखे के इतिहास को देखते हुए भारत पहले से ही हर तरह की तैयारी करके बैठा है।

Newstrack
Updated on: 5 Oct 2020 6:53 AM GMT
बॉर्डर पर थर-थर कांप रहे चीनी सैनिक, भारत ने चीन से कहा-फौरन हटा लो अपनी सेना
X
भारतीय चिकित्सा सुविधाएं एलएसी के साथ आ गई हैं, ताकि उच्च दृष्टिकोण की बीमारी के शिकार लोगों को तत्काल उपचार मिल सके।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर तनाव अपने चरम पर है। वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर पूर्वी लद्दाख के करीब एक अजीब से माहौल है।

भारत और चीन के सैनिक बिल्कुल आमने-सामने खड़े हैं। एक छोटी सी चिंगारी भी बड़ी आग भड़का सकती है। जरा सी गड़बड़ हुई तो गलवान से भी बड़ी घटना सामने आ सकती है और फिर उसे थामना मुश्किल हो जाएगा।

दोनों देशों में से कोई भी अपनी सेना को पीछे बुलाने को तैयार नहीं है। एलएसी से सेना को पीछे हटाने के लिए दोनों देशों की बीच कई दौर की वार्ताएं भी हुई लेकिन पहले-आप पहले आप की जिद में बात बिगड़ गई। आज यहां युद्ध जैसा माहौल है।

Indian Army भारतीय सेना की फोटो(सोशल मीडिया)

ये भी पढ़ें –हाथरस कांड का असर: चुनावों पर पड़ेगा प्रभाव, कांग्रेस के लिए बना संजीवनी

दोनों में से कोई भी देश सेना को पीछे बुलाने को नहीं है राजी

इस बीच भारत ने एक बार फिर चीन से टो-टूक कहा है कि वह एलएसी से अपनी आर्मी को पूरी तरह हटा ले। सांतवें दौर की बातचीत में भारत ने चीन से कहा था 'पहले आए, पहले जाओ' की तर्ज पर उसके सैनिकों को एलएसी और पूर्वी लद्दाख से हटना होगा। बताते चलें कि 12 अक्टूबर को दोनों देशों के बीच फिर से बातचीत प्रस्तावित है।

ये भी पढ़ें –हाथरस पीड़िता की अस्थियां: 3 दिन बाद परिवार ने बटोरी, विसर्जन को लेकर रखी ये शर्त

चालबाज चीन की बना मौन

चीन ने इस बार भी अपना पुराना हथकंडा अपनाया है। भारत की कड़ी चेतावनी के बाद चालबाज चीन अभी मौन बना हुआ है। लेकिन उसने अभी तक जमीनी स्तर पर ऐसा कोई भी कदम नहीं उठाएं हैं जो यह साबित करे कि वह तनाव कम करने की सोच रहा है।

इस पूरे मसले पर रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि चीन के धोखे के इतिहास को देखते हुए भारत पहले से ही हर तरह की तैयारी करके बैठा है।

तीनों सेनाओ को अलर्ट पर रखा गया हैं। हालांकि ड्रैगन ने चीन और भारत के विदेश मंत्रियों के बीच 10 सितंबर को हुई बातचीत के बाद कोई उकसाऊ कदम नहीं उठाया है लेकिन एलएसी पर तनाव अभी भी पहले ही जैसा बना हुआ है।

China And Xi Jinping चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की फोटो(सोशल मीडिया)

जरा सी चिंगारी भड़की तो थामना मुश्किल

एक्सपर्टस की मानें तो एलएसी पर दोनों देशों की ओर से के हजारों सैनिकों की तैनात की गई हैं। ऐसे में अगर में थोड़ी सी भी गड़बड़ी हुई तो बड़ी तबाही मच सकती है। सूत्रों ने बताया कि अभी तनाव कम होते नहीं दिख रहे हैं। भारत ने पूरी तैयारी कर रखी है। ठंड में के मौसम के लिए भारतीय सेना ने उच्चतम स्तर के लिए तैयार है।

भारत को भरोसा, चीन को दे देंगे मात

वहीं जानकारों की मानें तो इस बार भारत को पूर्ण रूप से विश्वास है कि वह चीन को मात दे देगा। इसके लिए भारतीय सैनिक पूरी तरह तैयार हैं।

सैनिकों को युद्ध से जुड़ी हर तरह की ट्रेनिंग पहले ही दी जा चुकी है। पहाड़ी इलाकों में ऊंचाई पर लड़ाई में भारतीय सेना माहिर है। पैंगोंग और फिंगर 4 पर भारत की पैठ बढ़ने के बाद अब नई दिल्ली चीन को कोई राहत देने के मूड में नहीं है।

ये भी पढ़ें –राहुल-प्रियंका की पीड़ित परिवार से मुलाक़ात, लिपट कर रोई मां, कुछ ऐसा रहा नजारा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App

Newstrack

Newstrack

Next Story