कोरोना मरीजों के मामले में चीन से आगे निकला भारत, दुनिया में 11वें नंबर पर पहुंचा

कोरोना मरीजों की संख्या के मामले में भारत चीन से आगे निकल चुका है। चीन की सरकार के आंकड़ों के मुताबिक वहां 78000 से अधिक लोग कोरोना पर विजय हासिल करके घर लौट चुके हैं जबकि 4633 लोगों की इस वायरस ने जान ली है।

अंशुमान तिवारी 

नई दिल्ली। कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या के मामले में भारत चीन से भी आगे निकल गया है। चीन के वुहान शहर में सबसे पहले कोरोना वायरस का कहर दिखा था, लेकिन अब चीन में कोरोना पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है। दूसरी ओर भारत में कोरोना मरीजो की संख्या में दिन-प्रतिदिन काफी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है।

85 हजार से ज्यादा हुई मरीजों की संख्या

विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना मरीजों कुल संख्या साढ़े 85000 से ऊपर पहुंच चुकी है जबकि चीन में अब तक कोरोना के 82933 मरीजों का पता लगा है।

दुनिया भर के विशेषज्ञों का कहना है कि इस वायरस की उत्पत्ति चीन के वुहान शहर में हुई और उसके बाद इसका संक्रमण पूरी दुनिया में फैला है मगर चीन ने तमाम एहतियाती उपाय करते हुए इस वायरस पर काफी हद तक काबू पा लिया है। हालांकि वुहान में कोरोना के कुछ नए मामले सामने आए हैं मगर इसके बावजूद कोरोना मरीजों की संख्या के मामले में भारत चीन से आगे निकल चुका है। चीन की सरकार के आंकड़ों के मुताबिक वहां 78000 से अधिक लोग कोरोना पर विजय हासिल करके घर लौट चुके हैं जबकि 4633 लोगों की इस वायरस ने जान ली है।

ये भी पढ़ेंः भारत के खिलाफ पाकिस्तान की बड़ी साजिश! अब चीन ने दिया ये बयान

मृतकों की संख्या के मामले में चीन से पीछे

जहां तक मृतकों की संख्या का सवाल है तो भारत अभी चीन से पीछे है। भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2649 तक पहुंच गई है जबकि चीन में मृतकों का आंकड़ा साढ़े चार हजार से ऊपर है। भारत का रिकवरी रेट भी काफी अच्छा है और अब तक 34.06 फ़ीसदी मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वैसे जानकारों का कहना है कि भारत में जिस तरह कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है, उसे देखते हुए मृतकों की संख्या जल्द ही चीन से ज्यादा हो जाएगी।

केवल 10 देशों में यहां से ज्यादा मरीज

कोरोना वायरस से संक्रमिक देशों के मामले में भारत अब दुनिया में 11वें स्थान पर पहुंच गया है। पूरी दुनिया में कोरोना का सबसे ज्यादा कहर अमेरिका में दिख रहा है जहां पर 14 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं। यहां पर इस खतरनाक वायरस ने 87000 से अधिक लोगों की जान ले ली है। रूस, ब्रिटेन, स्पेन, इटली और ब्राजील में कोरोना के दो लाख से अधिक मरीज सामने आ चुके हैं। वहीं फ्रांस, जर्मनी, तुर्की और ईरान में एक लाख से अधिक कोरोना के केस दर्ज किए जा चुके हैं। भारत में पिछले तीन दिनों के दौरान कोरोना संक्रमण की रफ्तार में जिस तरह की तेजी देखी गई है उसे देखते हुए जल्द ही यहां भी मरीजों का आंकड़ा एक लाख से पार पहुंच जाने की आशंका है।

ये भी पढ़ेंः ट्रंप ने PM मोदी को बताया अच्छा दोस्त, भारत की मदद के लिए किया ये बड़ा एलान

अर्थव्यवस्था खोलने पर अड़े ट्रंप

अमेरिका में कोरोना की बेकाबू रफ्तार के बावजूद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अर्थव्यवस्था को खोलने की जिद पर अड़े हुए हैं। उनका कहना है लॉकडाउन का अर्थव्यवस्था पर काफी बुरा असर पड़ रहा है और इसे जल्द से जल्द खोलना जरूरी है। ट्रंप ने महामारी विशेषज्ञ डॉक्टर फॉसी की सलाह को दरकिनार करते हुए राज्यों के गवर्नरों को पत्र लिखकर स्कूल खोलने के लिए योजना मांगी है। उनका कहना है कि जल्द से जल्द देश में सामान्य माहौल बनाना जरूरी है।

महंगी पड़ सकती है ट्रंप की हड़बड़ी

वैसे जानकारों का कहना है कि ट्रंप की हड़बड़ी अमेरिका के लिए और महंगी साबित हो सकती है। उधर देश के पूर्व स्वास्थ्य अधिकारी रिक ब्राइट ने सीनेट के सामने यह कहकर सबको चौंका दिया कि ट्रंप सरकार के पास इस महामारी से निपटने के लिए कभी कोई योजना थी ही नहीं। यही कारण है कि अमेरिका इस वायरस से दुनिया में सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App