दीपों से जगमगा उठा पूरा देश, मोदी की अपील पर दिखाई जबर्दस्त एकजुटता

यह सचमुच अद्भुत नजारा था। पीएम नरेंद्र मोदी की एक अपील पर पूरा देश घरों की लाइटें बुझाकर दरवाजे पर दीप जलाने के लिए बाहर निकल आया

नई दिल्ली। यह सचमुच अद्भुत नजारा था। पीएम नरेंद्र मोदी की एक अपील पर पूरा देश घरों की लाइटें बुझाकर दरवाजे पर दीप जलाने के लिए बाहर निकल आया। सबके हाथों में उम्मीद, हौसले व हिम्मत का दीप था। पीएम की अपील पर पूरे देश ने जबर्दस्त एकजुटता दिखाई। देश के बड़े शहरों में ही नहीं बल्कि छोटे शहरों और कस्बों में भी लोग घरों से बाहर निकल आए और दीप जलाकर कोरोना के खिलाफ जंग में पूरे देश की एकजुटता का इजहार किया। समाज के हर वर्ग के लोगों ने पूरी दुनिया को दिखा दिया की इस महामारी से लड़ने के लिए 130 करोड़ देशवासी पूरी तरह एकजुट है।

अभियान से जुड़े हर आयु वर्ग के लोग

रात में नौ बजते ही लोगों ने अपने घरों की लाइटें बुझा दीं और घरों से बाहर निकल आए। किसी के हाथ में मोमबत्ती थी तो किसी के हाथ में दिया और बाती। कोई टॉर्च लेकर घर के दरवाजे पर खड़ा था तो कोई मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाकर इस महा अभियान में शिरकत कर रहा था। हर आयु वर्ग के लोगों ने इसमें बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।

दीप जलाने के पीछे यह था मकसद

दरअसल मोदी अपनी इस अपील के जरिए दुनिया को दिखाना चाहते थे कि पूरा भारत इस महामारी के खिलाफ एकजुट होकर जंग लड़ रहा है। मोदी ने इस अंधकार में संकट को हराने के लिए देशवासियों से रात में नौ बजे नौ मिनट का समय मांगा था। मोदी का कहना था कि इस अंधकार में संकट को पराजित करने के लिए हमें प्रकाश के तेज को चारों दिशाओं में फैलाना है। देशवासियों की सामूहिक शक्ति हर व्यक्ति के साथ है। इसलिए जब देश इतनी बड़ी लड़ाई लड़ रहा हो तो बार-बार इस महाशक्ति का साक्षात्कार करते रहना चाहिए।

देश में दिखा दिवाली जैसा नजारा

मोदी की अपील पर देश के हर हिस्से में बिल्कुल दिवाली सरीखा नजारा दिखा। अंतर बस इतना था कि दिवाली पर लोग तरह- तरह के पकवान और मिठाई खाते हैं और एक-दूसरे के घरों पर जाकर बधाइयों का आदान-प्रदान करते हैं। सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए वह बात तो नहीं दिखी मगर ढेर सारे लोगों ने अति उत्साह में आतिशबाजी तक कर डाली। मोदी ने सोशल डिस्टेंसिंग की याद दिलाते हुए लोगों से यह भी कहा था कि आप अपने घर के बाहर ही उजाला फैलाने का काम करें। बाहर न निकले नहीं तो इससे कोरोना वायरस की चेन तोड़ने का हमारा मकसद ही विफल हो जाएगा।

सोशल डिस्पेंसिंग का रखा ध्यान

मोदी की अपील पर लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा। लोग घरों की चहारदीवारी से बाहर नहीं निकले और अपने-अपने घरों के दरवाजे पर ही दीप और मोमबत्तियां जलाकर अपनी सामूहिक ताकत का एहसास कराया। लोगों का कहना था कि घरों के दायरे से बाहर निकलने पर कोरोना से जंग जीतने के लिए चल रहे लॉकडाउन का सारा फायदा ही खत्म हो जाएगा।

अलग अंदाज में दिखे मोदी

इस मौके पर मोदी ने खुद भी दीप जलाकर कोरोना रूपी अंधकार से लड़ने के लिए अपना संकल्प जताया। मोदी ने राजधानी दिल्ली स्थित अपने आवास पर दीप जलाने की चार तस्वीरें ट्वीट कीं। इन तस्वीरों में मोदी एक लंबे लैम्प पर दीप प्रज्वलित करते दिखे। मोदी की वेशभूषा भी बिल्कुल अलग थी। उन्होंने नीले रंग का कुर्ता पहन रखा था, गले में गमछा था और इसके साथ वे एक विशेष प्रकार की धोती पहने हुए थे। इस अंदाज में मोदी देश के एक मजबूत सेनापति की तरह दिखे।

तमाम दिग्गजों ने भी दिया मोदी का साथ

पीएम मोदी ही नहीं बल्कि देश के अन्य दिग्गज नेताओं ने भी घरों से बाहर निकलकर दीप जलाए और कोरोना रूपी अंधकार से लड़ने का इरादा जताया। दीप जलाने वालों में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला भी शामिल थे। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्रियों अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी, प्रकाश जावड़ेकर, हर्षवर्धन, रवि शंकर प्रसाद आदि ने भी दीप जलाकर मोदी का हर कदम पर साथ देने का वादा निभाया।

योगी ने लखनऊ में दीप जलाए

राज्यों की राजधानियों में भी दीपोत्सव सरीखा नजारा दिखा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में दीप जलाकर कोरोना के खिलाफ जंग में अपना मजबूत इरादा दिखाया। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने राजधानी हैदराबाद में दीप जलाकर मोदी की मुहिम में साथ दिया। कई अन्य मुख्यमंत्रियों ने भी अपनी-अपनी राजधानियों में दीप जलाकर देश के प्रति एकजुटता दिखाई।

फिरंगी महली ने भी दिया मुहिम में साथ

लखनऊ में एक अलग नजारा ईदगाह में दिखा जहां राशिद फिरंगी महली की अगुवाई में तमाम लोगों ने खड़े होकर देश के प्रति एकजुटता दिखाई। इन सभी लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल करते हुए कोरोना के खिलाफ जंग जीतने का इरादा दिखाया।

ये भी पढ़ेंः कोरोना संकट में दिवाली जैसा जश्न, देशभर से ऐसी तस्वीरें आईं सामने

चिकित्सा कर्मियों ने भी दिया अभियान में साथ

कई जगह चिकित्सा कर्मी अस्पतालों के बाहर निकल आए और दीप जलाकर अंधकार से प्रकाश की ओर चलने का हौसले का संदेश दिया। तमाम सैन्य कर्मियों ने भी मोदी की अपील पर इस अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया और दुनिया को दिखाया कि संकट की इस घड़ी में वे भी देशवासियों के साथ खड़े हैं। पैरामिलिट्री फोर्सेस के जवान भी मोदी की अपील पर अपनी एकजुटता का इजहार करते दिखे।

विदेशी दूतावासों ने भी बुझाईं लाइटें

मोदी की एक अपील का कितना असर होता है, इसे इसी बात से समझा जा सकता है कि उन्हें सिर्फ देशवासियों का ही समर्थन नहीं मिला बल्कि 12 विदेशी दूतावासों ने भी मोदी की अपील पर अपने दूतावासों की लाइटें बुझा दीं। इन दूतावासों से जुड़े लोगों का कहना था कि वे मोदी की अपील का सम्मान करते हैं और दिखाना चाहते हैं कि संकट की इस घड़ी में वे भी भारत के साथ खड़े हैं।

ये भी पढ़ेंः भारत में जले दीये: ये तस्वीरें देख आएगी हिम्मत, कोरोना से जंग हो जाएगी आसान

मोदी की अगुवाई में जीतेंगे जंग

राजधानी दिल्ली में दीप जलाने के बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि पीएम मोदी के आह्वान पर पूरा देश एक साथ खड़ा है। आज 130 करोड़ देशवासियों में जो आत्मविश्वास दिखा है वह एक मिसाल है। पीएम मोदी ने अंधकार से प्रकाश की ओर चलने का संदेश दिया है। मोदी की अगुवाई में हम निश्चित तौर पर कोरोना के खिलाफ जंग जीतने में कामयाब होंगे।

देशवासियों ने दिखाई अद्भुत ताकत

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग में पूरे देश ने फिर एकजुटता दिखाई है। वाकई देशवासियों की एकता बेमिसाल है और देश के लोगों ने मोदी की अपील पर अद्भुत ताकत दिखाई। हम एक मजबूत नेता की अगुवाई में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं और इस जंग में हमारी विजय सुनिश्चित है।

सोशल मीडिया पर पोस्ट कीं तस्वीरें

देश में अपने तरह के इस अद्भुत कार्यक्रम का असर सोशल मीडिया में भी दिखाई पड़ा। काफी संख्या में लोगों ने दीप प्रज्वलन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट कीं। इस दौरान लोगों ने जो संदेश लिखें, उनसे इस प्रकार की ध्वनि निकल रही थी कि इस वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई में पूरा देश एक साथ खड़ा है।

ये भी पढ़ेंः कांग्रेस ने ताली-थाली बजाने और दीया जलाने पर मोदी सरकार से पूछे ये 7 सवाल

मोदी ने फिर साबित की अपनी लोकप्रियता

देश में कोरोना संकट शुरू होने के बाद यह तीसरी अपील थी जिस पर मोदी को देशवासियों का भारी समर्थन मिला। इससे पहले जब 22 मार्च को मोदी ने जनता कर्फ्यू की अपील की थी तो उस समय भी लोगों ने मोदी की अपील पर पूरी तरह घरों में कैद रहकर अपना समर्थन जताया था।

इसके बाद जब उन्होंने चिकित्सा कर्मियों की सेवाओं को सलाम करने के लिए शाम को पांच बजे ताली और थाली बजाने का आह्वान किया था तो उस समय भी देश के विभिन्न हिस्सों में लोगों ने घरों से बाहर निकलकर ताली और थाली बजाकर अपनी एकजुटता दिखाई थी। पिछली दो अपीलों की तरह इस बार भी लोगों ने जबर्दस्त एकजुटता का परिचय देते हुए देश को दीपों से जगमग कर दिया।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App