जीत गया भारत: वैक्सीनेशन अभियान हुआ सफल, अब तक कोई साइड इफेक्ट नहीं

आज से पूरे देश में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत हो चुकी है। अभी तक किसी तरह का साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है। बता दें कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश के सबसे बड़े टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की।

Published by SK Gautam Published: January 16, 2021 | 8:23 pm
Modified: January 16, 2021 | 8:24 pm
korona vaiccination

जीत गया भारत: वैक्सीनेशन अभियान हुआ सफल, अबतक कोई साइड इफेक्ट नहीं-(courtesy-social media)

लखनऊ: कोरोना को हारने के लिए देश वैक्सीन मिल चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि पूरी तैयारी के साथ कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हुआ है। हम सफलता की ओर कदम बढ़ा रहे हैं। हम साथ मिलकर कोरोना से लड़ रहे हैं। राज्यों से जो फीडबैक मिला है वो उत्साहवर्धक है। हमने एक साल में कोविड-19 के खिलाफ अपनी लड़ाई में एक हद तक सफलता प्राप्त की। पिछले 3-4 महीनों में हमारी रिकवरी और मृत्यु दर से संकेत मिलता है कि हम धीरे-धीरे COVID-19 के खिलाफ जीत की ओर बढ़ रहे हैं। इस बीच सबसे अछी खबर यह रही कि अब तक वैक्सीन का टीका लेने वालों में भी किसी तरह का साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिल रहा है।

अबतक साइड इफेक्ट की खबर नहीं

आज से पूरे देश में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत हो चुकी है। अभी तक किसी तरह का साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है। बता दें कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश के सबसे बड़े टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की। पीएम मोदी ने वैक्सीन लगाने वाले हेल्थ वर्कर्स से बातचीत किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि 3006 टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन लगाई जाएगी। वहीं COVID-19 महामारी, वैक्सीन रोलआउट और Co-WIN सॉफ़्टवेयर से संबंधित सवालों के लिए एक 24×7 कॉल सेंटर- 1075 भी स्थापित किया गया है।

pm modi

AIIMS डॉयरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने लिया कोरोना वैक्सीन

दिल्ली स्थित एम्स में कोरोना का पहला वैक्सीन लगाया गया। इसके कुछ ही मिनटों बाद एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया को कोरोना का वैक्सीन लगाया गया। बता दें कि डॉ गुलेरिया देश के टॉप चिकित्सा विशेषज्ञ हैं। डॉ गुलेरिया ने ये वैक्सीन लेकर सभी तरह की आशंकाओं को निराधार साबित कर दिया है।

कोरोना वैरियर्स का राजनाथ सिंह ने लिया अभिनन्दन

देश के लोगों को ही नहीं विश्व में भी एक्सपोर्ट करने का काम किया जा रहा है। कोरोना वैक्सीन का निर्माण हो चुका है। राजनाथ ने कहा कि इतनी बड़ी चुनौती का सामना बिना डाक्टरों के सहयोग के संभव ही नहीं था। उन्होंने कोरोना वैरियर्स का अभिनन्दन करते हुए कहा कि फ्रंटलाइनर्स के तौर पर काम करने वाले ये लोग वाकई प्रशंसा के पात्र है।

rajnath singh-2

ये भी देखें: MP में शराब माफिया ने पुलिस पर बोला हमला, जमकर बरसाए पत्थर

 भारत में सबसे पहले वैक्सीन लगेगी डॉ. महेश शर्मा को

वैसे तो देश में एक साथ वैक्सीनेशन की शुरुआत की गई। लेकिन जनप्रतिनिधियों में सबसे पहला डोज उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर के सांसद और पूर्व मंत्री डॉ. महेश शर्मा को दिया गया। इस अभियान के तहत महेश शर्मा आज कोविड का टीका लगवाया। डॉ. शर्मा ने एक डॉक्टर यानी कोरोना वॉरियर के तौर पर टीका लगवाया।

आईये जानते हैं कि कोरोना वैक्सीनेशन का कार्यक्रम की देश के अन्य राज्यों और उसके जनपदों में कितना सफल रहा और क्या स्थिति रही-

cm yogi

CM योगी ने कोविड-19 वैक्सीनेशन का किया अवलोकन, मीडिया को सराहा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 16 जनवरी को बलरामपुर चिकित्सालय में कोविड-19 वैक्सीनेशन कार्यक्रम का अवलोकन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आज पूरे देश में प्रारम्भ हुए कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के माध्यम से अब इस महामारी पर पूरी तरह से नियंत्रण पाया जा सकेगा। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कोविड नियंत्रण में मीडिया ने सकारात्मक भूमिका निभायी। उन्होंने मीडिया का आह्वान करते हुए कहा कि वह कोरोना टीके के सम्बन्ध में अफवाहों को रोकने के लिए काम करें।

ये भी देखें: इंदिरा की हत्या हो या बाबरी विध्वंस,इस बड़े नेता ने अपने सूबे में कभी नहीं होने दिए दंगे

राजधानी लखनऊ में- SGPGI के निदेशक प्रो. के. धीमान ने लगवाया वैक्सीन का टीका

सबसे पहले उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ की बात करें तो कोरोना वैक्सीनेसन के अंतर्गत लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई में कोरोना वॉरियर्स ने एक एक कर कोरोना वैक्सीन लगवाया। एसजीपीजीआई के निदेशक प्रो. के. धीमान ने भी कोविशिल्ड वैक्सीन लगवाया।

sgpgi

सीएम सिटी गोरखपुर में टीकाकरण अभियान की शुरुआत

कोरोना के खात्मे को लेकर वैक्सीनेशन की प्रक्रिया गोरखपुर में भी शनिवार को शुरू की गई। पहला टीका खुद एडिशनल सीएमओ डॉ.एनके पांडेय ने लगवाया। गोरखपुर के 6 केन्द्रों पर पहले दिन 600 स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगना था, लेकिन शाम को 4 बजे तक 285 लोगों ने ही कोविड-19 का टीका लगवाया। बीते एक साल से मौत की बीमारी बने कोरोना वायरस के खात्में का महाअभियान शनिवार से शुरू हो गया।

अनुपस्थित की बनेगी सूची

शनिवार को शुरू हुये कोविड- 19 टीकाकरण अभियान के दिन कई ऐसे लोग भी रहे जिनका नाम कोविन पोर्टल पर पंजीकृत था लेकिन वह टीकाकरण के समय नहीं आए। अनुपस्थित लोगों की अब एक अलग सूची तैयार होगी। इन लोगों को टीकाकरण के लिए अलग से समय दिया जाएगा।

gorakhpur vaccination

ये भी देखें: कोरोना वैक्सीनेशन: दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान, ऐसा रहा पहला दिन

बलिया में 223 लोगों को लगी वैक्सीन

कोरोना से लोगों को सुरक्षित रखने के लिए जिले में टीकाकरण अभियान की शुरुआत शनिवार से हो गई। पहले चरण के पहले दिन जिले के तीन अस्पतालों में 223 लोगों को यह वैक्सीन लगी। इसमें महिला अस्पताल में 77 , सीएचसी सिकन्दरपुर पर 70 व सीएचसी रसड़ा पर 76 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही जिला महिला चिकित्सालय पहुंचकर वैक्सीनेशन कार्य का जायजा लिया। पहले चरण में जिन को टीका लगा उनसे बातचीत की और उनको बधाई भी दी।

Ballia

अगली डोज 15 फरवरी को

पहले चरण में जिनको टीका लगा, उनको अगली डोज 15 फरवरी को दी जाएगी इसके लिए उनके मोबाइल पर मैसेज भी जाएगा। वहीं, जिनका नाम कोविड पोर्टल पर पंजीकृत था लेकिन वह टीकाकरण के समय पर नहीं आए। ऐसे लोगों की एक अलग सूची तैयार होगी। इन लोगों को टीकाकरण के लिए अलग से समय दिया जाएगा।

मीरजापुर में हर-हर महादेव के नारे के साथ वैक्सीनेशन की शुरुआत

कोरोना वैक्सीनेशन के कार्य की शुरुआत मंडलीय अस्पताल में पूजा-पाठ और हर-हर महादेव के नारे के साथ इसकी शुरुआत हुई। वैक्सीनेशन सेंटर पर इस दौरान नारियल भी फोड़ा गया।पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद पूजा पाठ कर वैक्सीनेशन की शुरुआत की गयी। प्रथम टीका डॉक्टर प्रदीप को लगाया गया।

mirzapur news

ये भी देखें: Newstrack Top 5 खबरें: वैक्सीनेशन की शुरुआत से शाह- राजनाथ के अहम दौरे तक

 सबसे पहले डॉ. प्रदीप ने लगवाया टीका

मीरजापुर में आज से कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत हो गयी है। बड़े ही उत्साह के साथ हीं मंडलीय अस्पताल में बने कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर में कोरोना का टीका लगाया गया। सबसे पहले टीका जिला अस्पताल में कार्यरत डॉक्टर प्रदीप को लगाया गया। इसे पहले सीएमओ पीड़ी गुप्ता के साथ प्रभारी सीडीओ अविनाश सिंह और एसपी अजय सिंह ने वैक्सीनेशन सेंटर का निरीक्षण किया, फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद कोरोना वैक्सीनेशन की शुरूआत दीप प्रज्वलन और पूजा पाठ से की गयी।

Corona vaccine to soldiers in Leh-Ladakh

लेह-लद्दाख में जवानों को भी दी गई कोरोना वैक्सीन

लेह-लद्दाख में तैनात जवानों को भी कोरोना की वैक्सीन दी गई है। लद्दाख में CMO डॉ कात्यानी शर्मा और अस्सिटेंट कमांडेंट डॉ Skalzang Angmo को कोरोना की वैक्सीन दी गई है। डॉ कात्यानी शर्मा ने कहा कि केंद्र द्वारा शुरू किए गए अभियान के तहत हमें कोविशील्ड का वैक्सीन दिया गया है। ये सुरक्षित है और हमलोग स्वस्थ महूसस कर रहे हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App