×

भारत से कांपा चीन: ये खतरनाक हथियार दे रहा अमेरिका, तैयारी हुई पूरी

चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद के बीच भारतीय सेना अब संयुक्त राज्य अमेरिका से 72000 सिग 716 असॉल्ट राइफलें और खरीदने जा रही है।

Newstrack
Updated on: 12 July 2020 1:32 PM GMT
भारत से कांपा चीन: ये खतरनाक हथियार दे रहा अमेरिका, तैयारी हुई पूरी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली। चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद के बीच भारतीय सेना अब संयुक्त राज्य अमेरिका से 72000 सिग 716 असॉल्ट राइफलें और खरीदने जा रही है। बता दें, इन राइफलों के पहले बैच में 72,000 की राइफलें आ गई हैं और इसे सेना के इस्तेमाल के लिए उत्तरी कमान और अन्य स्थानों पर भेजा जा चुका है। अब जल्द ही इसका दूसरा बैच भारत आने वाला है।

ये भी पढ़ें... धमाके से कांपा झारखंड: हमले से हिल गया पूरा राज्य, उड़ा दी गई 12 इमारतें

सिग सॉयर असॉल्ट राइफलों की पहली खेप

भारतीय सेना के सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि सशस्त्र को मिली आर्थिक शक्तियों के जरिए हम ऐसी 72000 और राइफल्स का ऑर्डर देने जा रहे हैं। भारतीय सेना को अपने आतंकवाद-रोधी अभियानों को बढ़ावा देने के लिए सिग सॉयर असॉल्ट राइफलों की पहली खेप मिली थी।

इसके साथ ही भारत ने फास्ट ट्रैक खरीद (एफटीपी) कार्यक्रम के जरिए इन राइफलों की खरीद की थी। नई राइफल्स को मौजूदा भारतीय स्माल आर्म्स सिस्टम 5.56x45mm राइफलों से बदला जाएगा। जिनका इस्तेमाल अभी तक सुरक्षाबल कर रहे हैं।

बता दें, इन राइफलों का निर्माण स्थानीय रूप से आयुध कारखानों बोर्ड (Ordnance Factories Board) द्वारा किया जाता है। हालांकि अभी तक की योजना के अनुसार, सुरक्षाबल आतंक रोधी अभियानों और एलओसी पर मोर्चे पर तैनात जवान आयात की गई करीब 1.5 लाख राइफल्स का इस्तेमाल करेंगे।

ये भी पढ़ें... मध्य प्रदेश: कांग्रेस को झटका, विधायक प्रद्युम्न सिंह लोधी बीजेपी में शामिल

एके-203 राइफल्स

साथ ही बलों को एके-203 राइफल्स दी जाएंगी जिनका निर्माण भारत और रूस (Russia) ने संयुक्त रूप से अमेठी ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में किया जाएगा।

बीते कई सालों से अपनी स्टैंडर्ड इंसास असॉल्ट राइफल्स को बदलने पर विचार कर रही थी, लेकिन ये प्रयास किसी न किसी वजह के चलते असफल हो जा रहे थे। बता दें, हाल ही में रक्षा मंत्रालय ने लाइट मशीन गनों की खपत को पूरा करने के लिए इजरायल को 16,000 एलएमजी का ऑर्डर भी दिया है।

ये भी पढ़ें... सरकार का बड़ा एलान: लड़कियों को मिला ये शानदार तोहफा, बस करना है ग्रेजुएशन

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story