10वीं पास के लिए बड़ी खबर, स्टेशन पर बेच सकेंगे रेलवे टिकट, सिर्फ ये है जरूरी

रेलवे ने यात्री सुविधाओं और स्टेशन की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए प्राइवेट हाथों में सौंपने की योजना बना रहा है। रेलवे अब स्टेशन पर जनरल टिकट बेचने की जिम्मेदारी बुकिंग क्लर्क की जगह निजी कर्मचारियों को देने की तैयारी कर रहा है।

Indian Railway

10वीं पास के लिए बड़ी खबर (फोटो: सोशल मीडिया)

जबलपुर: रेलवे ने यात्री सुविधाओं और स्टेशन की व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए प्राइवेट हाथों में सौंपने की योजना बना रहा है। रेलवे अब स्टेशन पर जनरल टिकट बेचने की जिम्मेदारी बुकिंग क्लर्क की जगह निजी कर्मचारियों को देने की तैयारी कर रहा है। रेलवे की इसकी पूरी रूपरेखा तैयार कर चुका है।

प्रारंभिक तौर पर रेलवे की तरफ से मुख्य रेल मार्ग में आने वाले हाल्ट रेलवे स्टेशनों पर यह व्यवस्था शुरू हो चुकी है। जनरल टिकट बेचने की जिम्मेदारी कम से कम 10वीं पास लोगों की दी जाएगी। इसके अलावा वह स्टेशन से जुड़े शहर या गांव का रहने वाला हो।

दरअसल इस सुविधा को निजी हाथों में दिए जाने से स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलेगा। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जबलपुर रेल मंडल ने अपने दो हाल्ट रेलवे स्टेशन माधव नगर और दमोय में यह जिम्मेदारी निजी 10वीं पास व्यक्तियों को सौंप दी है।

यह भी पढ़ें…IPL 2020: मैदान में ही भिड़ गए दो खिलाड़ी, बीच पिच पर क्रिकेटर की हुई ऐसी हालत…

जनरल टिकट बेचने पर रेलवे की तरफ से इन लोगों को टिकट की ब्रिकी के मुताबिक कमीशन मिलेगा। टिकट की ब्रिकी बढ़ने के साथ ही कमीशन की राशि कम होती चली जाएगी। रेलवे की तरफ से निजी कर्मचारियों को सिर्फ प्रिंट कराकर टिकट दिया जाएगा, बाकी व्यवस्था उन्हें खुद करनी होगी।

Indian Railway

यह भी पढ़ें…अभी-अभी भूकंप: 12 घंटों में तीन बार डगमगाई धरती, सहम गया देश

वेतन के मुताबिक काम नहीं

मुख्य रेलवे स्टेशन समेत सभी स्टेशनों पर जनरल टिकट बेचने के लिए जनरल काउंटर हैं। इनमें रेलवे की तरफ से बुकिंग स्टाफ को तैनात किया जाता है। इनका वेतन 50 से 80 हजार तक होता है। इतना वेतन देने के बाद भी जनरल काउंटर में टिकट को लेकर अक्सर विवाद होता रहता है। टिकट बनाने की रफ्तार भी कम होती है। इसकी वजह से काउंटर काफी भीड़ बढ़ जाती है। रेलवे अब इन व्यवस्थाओं को सुधारना चाहता है।

…तो कमीशन होगा कम

निजी कर्मी जितना ज्यादा टिकट बेचेंगे कमीशन उतना कम होगा। 15 हजार तक पर 15 प्रतिशत, 50 से 1 लाख तक पर 9 प्रतिशत, 1 से 2 लाख तक पर 6 प्रतिशत, 2 लाख से अधिक पर 3 प्रतिशत कमीशन मिलेगा।

यह भी पढ़ें…यूपी के इस गांव में फैली रहस्यमयी बीमारी: अब तक 12 की मौत, 400 से ज्यादा बीमार

स्टेशन से लगे शहर या गांव के निवासियों को टिकट बेचने की जिम्मेदारी रेलवे सौंपेगा। स्टेशन में जो जगह टिकट बेचने के लिए रेलवे की तरफ से मिलेगी उसकी खुद ही सफाई करनी होगी। प्रारंभिक तौर पर एक शख्स को 5 साल के लिए जिम्मेदारी दी जाएगी।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App