Top

रेलवे में सबसे बड़ा बदलाव: दुनियाभर की निगाहें टिकी, तोड़ने जा रहा ये रिकॉर्ड

Shivani

By Shivani

Published on 16 July 2020 2:40 PM GMT

रेलवे में सबसे बड़ा बदलाव: दुनियाभर की निगाहें टिकी, तोड़ने जा रहा ये रिकॉर्ड
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: कोरोना काल में रेलवे ने एक के बाद एक बड़े फैसले लिए। यात्रियों को बेहतर सफर सुविधा और सुरक्षा देने के लिए रेल मंत्रालय ने लगातार नई चीजों को लेकर एक्सपेरिमेंट किया। इसी कड़ी में रेल मंत्रामय अब जो करने जा रहा है, वह अब तक का सबसे बड़ा बदलाव होगा। केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरूवार को घोषणा की कि भारतीय रेलवे अगले साढ़े तीन साल में पूरी तरह बिजली से चलने वाला रेल नेटवर्क बन जाएगा।

100 फीसदी बिजली से चलने वाला रेल नेटवर्क

भारतीय रेलवे में बड़ा बदलाव होने जा रहा है। ट्रेने अब पूरी तरीके से बिजली से संचालित होंगी। सीआईआई के एक कार्यक्रम में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने जानकारी दी कि आगामी साल 2024 तक रेलवे 100 फीसदी बिजली से चलने वाला रेल नेटवर्क होगा। ऐसा होते ही भारतीय रेलवे एक बड़ा कीर्तिमान अपने नाम कर लेगा। दरअसल, इस प्रोजेक्ट के पूरा होने से भारत पूरी तरह बिजली से संचालित होने वाला दुनिया का पहला इतना बड़ा रेल नेटवर्क बन जाएगा।

ये भी पढ़ेंः MP पुलिस की शर्मनाक हरकत: CM शिवराज का कड़ा एक्शन, इतने पुलिसकर्मी सस्पेंड

55 फीसदी नेटवर्क बिजली से संचालित, 2024 तक होगा तैयार

बता दें कि मौजूदा समय में भारतीय रेलवे का 55 फीसदी नेटवर्क बिजली से चलता है। सरकार का लक्ष्य हैं कि साढ़े 3 साल में इसे 100 फीसदी ट्रेनें बिजली से दौड़ने लगें। इसके लिए हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेलवे के विद्युतीकरण की योजना को मंजूरी दी। 100 फीसदी बिजली वाली ट्रेन नेटवर्क के लिए 120,000 किलोमीटर के ट्रैक पर काम होना है।

सबसे बड़ा ग्रीन रेलवे लक्ष्य

इसके अलावा भारत सरकार का एक लक्ष्य दुनिया का सबसे बड़ा ग्रीन रेलवे तैयार करना है। यानी भारत ने तय किया है कि अपने कार्बन उत्सर्जन को जीरो करते हुए नेटवर्क को पूरी तरह हरित किया जाए। ग्रीन रेलवे के लक्ष्य को हासिल करने की समय सीमा 2030 तक निर्धारित की गयी है।

ये भी पढ़ेंः केंद्रीय मंत्री का बड़ा बयान, कहा- एयर इंडिया पर कही ऐसी बात, देश में मचेगा बवाल

सोलर पावर की बिजली से ट्रेनें दौड़ाने की तैयारी

इसके साथ ही भारत ने सोलर पावर से बिजली वाली ट्रेने पटरी पर दौड़ाने की तैयारी की है। रेलवे का दावा है कि दुनिया के इतिहास में ऐसा पहली बार है, जब ट्रेनों को चलाने के लिए सौर ऊर्जा का उपयोग किया जाएगा। दुनिया में ऐसा करने वाला भारत पहला देश बन गया है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani

Shivani

Next Story