दुनिया में नहीं मिलेंगे ऐसे प्राकृतिक नजारे जो दिखाती है भारतीय रेल

भारतीय रेल आपको दुनिया के सबसे खूबसूरत नजारे भी कराती है। रेल मंत्री पीयूष गोयल इन नजारों पर फिदा है और आप भी अगर इन नजारों को देख लेंगे तो अपने को तारीफ करने से रोक नहीं पाएंगे।

railways

दुनिया में नहीं मिलेंगे ऐसे प्राकृतिक नजारे जो दिखाती है भारतीय रेल (social media)

लखनऊ: भारतीय रेल आपको दुनिया के सबसे खूबसूरत नजारे भी कराती है। रेल मंत्री पीयूष गोयल इन नजारों पर फिदा है और आप भी अगर इन नजारों को देख लेंगे तो अपने को तारीफ करने से रोक नहीं पाएंगे। यह भी मुमकिन है कि आप अगली छुट्टियों में परिवार समेत इन नजारों का नजारा करने निकल पड़े । फिर भी आपको कोरोना महामारी थमने का इंतजार तो करना ही पड़ेगा तब तक आप हमारे साथ इन खूबसूरत नजारों को जी भर कर निहार सक ते हैं।

ये भी पढ़ें:IPL 2020 CSK vs RR Live: राजस्थान रॉयल्स को पहला झटका, जायसवाल आउट

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय रेल और स्टेशनों की ऐसी मनमोहक फोटो साझा की

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय रेल और स्टेशनों की ऐसी मनमोहक फोटो साझा की है जिसमें प्रकृति भी अपनी सुषमा और सौंदर्य के साथ संपूर्णता में न केवल विद्यमान है बल्कि मन की आंखों को दिव्यता का अनुभव भी करा रही है। शायद ऐसे ही मनमोहक चित्रों को देखकर लोगों के हृदय और मन में कविताएं प्रस्फुटित होती हैं। उन्होंने पहला चित्र हिमाचल प्रदेश के शिमला से लिया है जहां बर्फ से लदे पेड़ों और दूर तक दिखती पर्वत की चोटियों के बीच रेलवे स्टेशन पर पहुंच रही रेलगाड़ी और शिमला शहर का दृश्य ऐसा लुभावना है कि मन भी हिमालय की वादियों में पहुंचने के लिए बेकरार हो उठता है।

railways
railways (social media)

सुरमई शाम का दृश्य सजीव हो जाता है

कोंकण रेलवे के हरे- भरे मैदानों से के बीच से गुजरती ट्रेन देखकर वंदे मातरम की वह पंक्तियां आपको बरबस याद हो उठेंगी जिसमें भारत देश की शस्य श्यामला भूमि की वंदना की गई है। तमिलनाडु के केटटी स्टेशन का चित्र भी प्राकृतिक सुंदरता का प्रमाण है। इस चित्र में रेलवे स्टेशन के आस-पास मौजूद पेड़ों के झुरमुट से सूरज की रोशनी इस तरह से छनकर नीचे रेलवे ट्रैक पर आ रही है कि सुरमई शाम का दृश्य सजीव हो जाता है। मध्यप्रदेश के बीना-भोपाल रेलट्रैक के किनारे फूलों की नर्सरी मौजूद है। खिले हुए फूलों के बगल से गुजर रही ट्रेन देखकर लगता है जैसे फूलों की पंक्तियां भी साथ-साथ सफर कर रही हैं।

railways
railways (social media)

महाराष्ट्र में संगमेश्वर रेलवे स्टेशन के पास पश्चिमी घाट की अलग खूबी है

महाराष्ट्र में संगमेश्वर रेलवे स्टेशन के पास पश्चिमी घाट की प्राकृतिक सुषमा अपने संपूर्ण यौवन में दिखाई देती है। यहां रेलवे का 13 मेहराब वाला अत्यंत पुराना ऐतिहासिक पुल है। इस पुल से गुजरती रेलगाडी का अक्स नीचे से बह रही शुभ्र जल से आप्लावित शास्त्री नदी में दिखाई देता है। पुल के पीछे खूबसूरत पहाडियों की श्रेणी इस स्थल की सुंदरता और बढ़ा देती है। उत्तर प्रदेश के खुर्जा से पश्चिम बंगाल के भदन तक रेलवे का फ्रेट कॉरीडोर बनकर तैयार है। इस कॉरीडोर के दोनों ओर दूर-दूर तक दिखाई दे रही खेतों की हरियाली भारत के कृषि प्रधान देश होने की गौरव गाथा सुना रही है।

railways
railways (social media)

ये भी पढ़ें:कंगना-BMC केस पर बोले संजय राउत- बहुत देखे ऐसे केस, लेकिन इस बार…

इसी तरह कश्मीर की बर्फीली वादियों में चारों ओर पडी बर्फ के बीच से गुजरती हुई ट्रेन, उत्तर पूर्व में त्रिपुरा की पहाड़ियों के बीच बिछी रेलवे लाइन, भोपाल का खूबसूरत रेलवे स्टेशन, कर्नाटक, असम, पश्चिम बंगाल, केरल और महाराष्ट्र की रत्नागिरि पहाड़ियों के बीच से गुजरती ट्रेन और इन स्थानों की प्राकृतिक सुषमा देखकर किसी का भी मन खुशियों से भर जाएगा। ऐसे में अगर आपका भी मन इन स्थानों की सैर करने का है तो भारतीय रेल के नक्शे को देखकर अपना यात्रा कार्यक्रम तैयार कर लें और कोरोना संकट खत्म होने के साथ ही चल पड़े भारत की प्राकृ तिक सुंदरता निहारने।

अखिलेश तिवारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App