×

कश्मीर LIVE: घाटी में कुछ अलग ही होगा माहौल, ऐसी होगी बकरीद

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने ईद-उल-अजहा के शुभ अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं देते हुए उनकी सलामती और समृद्धि की कामना की है । और उम्मीद जताई है कि जम्मू-कश्मीर के लोग अमन चैन से ईद-उल-अजहा का त्यौहार मनाएं।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 11 Aug 2019 12:46 PM GMT

कश्मीर LIVE: घाटी में कुछ अलग ही होगा माहौल, ऐसी होगी बकरीद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

जम्मू-कश्मीर: इस बार जम्मू और कश्मीर में कुछ अलग ही माहौल होगा। इसी बीच बकरीद भी है जो कि 12 अगस्त को है जिसकी वजह से इससे पहले घाटी के माहौल पर सबकी नजरें हैं। आर्टिकल-370 हटाए जाने के बाद तनाव की स्थिति के कयास लगाए जा रहे थे, लेकिन अभी तक कोई अप्रिय घटना नहीं हुई है और उम्मीद भी यही की जा राही । जम्मू से जहां धारा-144 हटा ली गई वहीं, कश्मीर में कुछ जगहों पर ढील दी गई है । बकरीद को देखते सरकार ने अहम कदम उठाए हैं । प्रशासन की ओर से पहल करते हुए घरों पर एलपीजी और सब्जियां भेजी जा रही हैं । छुट्टी के दिन घाटी में बैंक और करीब 3500 राशन की दुकानें खुली रहेंगी ।

राज्यपाल ने दी ईद-उल-अजहा की बधाई

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने ईद-उल-अजहा के शुभ अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं देते हुए उनकी सलामती और समृद्धि की कामना की है । और उम्मीद जताई है कि जम्मू-कश्मीर के लोग अमन चैन से ईद-उल-अजहा का त्यौहार मनाएं।

ये भी देखें : इमरान का RSS पर निशाना, BJP बोली, दो और तीन राष्ट्र के सिद्धांत को किया खत्म

घाटी में पहले से ज्यादा शांति

केंद्रीय मंत्री डॉक्टर जितेंद्र सिंह ने कहा कि धारा 370 हटने के बाद घाटी में पहले से ज्यादा शांति है । वहां के स्थानीय लोग इसका समर्थन कर रहे हैं । ईद से पहले यहां हालात सामान्य हैं। पहले ऐसे मौके पर ज्यादा तनाव रहता था ।

जम्मू और कश्मीर में फहराएंगे तिरंगा

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के केंद्र सरकार के फैसले को भारतीय जनता पार्टी पूरे जोर-शोर से मनाना चाहती है । इसी के चलते बीजेपी की प्रदेश इकाई ने हर पंचायत में तिरंगा फहराने के लिए सिल्क और खादी के 50 हजार खास झंडे दिल्ली से मंगवाए हैं और इसे कार्यकर्ताओं और पंचायतों को दिए जाएंगे । नए बने केंद्र शासित प्रदेश में 15 अगस्त के मौके पर चार हजार से ज्यादा पंचायतों में ये झंडे फहराए जाएंगे ।

इसके साथ ही सभी गांवों में रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे । स्वतंत्रता दिवस पर इतने बड़े पैमाने पर तिरंगा फहराने की योजना के मद्देनजर केंद्र सरकार ने जबरदस्त सुरक्षा के इंतजाम किए हैं, जिसकी निगरानी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और उनकी टीम कर रही है ।

घाटी में माहौल ठीक, बकरीद पर खुली रहेंगी 3500 राशन की दुकानें

बकरीद के मद्देनजर कश्मीर में प्रशासन मुस्तैद है । प्रशासन की ओर से एलपीजी और सब्जियां घरों में भेजी जा रही हैं । इसके अलावा जरूरी सामान भी मुहैया कराए जा रहे हैं । घाटी में छुट्टी के दिन बैंक खुले रहेंगे । साथ ही 3500 राशन की दुकानें खुली रहेंगी । इधर, पुलिस प्रशासन ने लोगों से किसी भी तरह की 'शरारती और भड़काऊ खबरों' पर विश्वास नहीं करने का आग्रह किया है। जम्मू एवं कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने एक वीडियो में कहा, 'पुलिस ने बीते छह दिनों में अब तक एक भी गोली नहीं चलाई है । लोगों को घाटी में गोलीबारी की घटनाओं से संबंधित किसी भी शरारती और भड़काऊ खबर पर विश्वास नहीं करना चाहिए। ' दिलबाग सिंह ने यह भी बताया कि जम्मू के 10 जिलों से निषेधाज्ञा हटा दी गई है ।

ये भी देखें : बुलेट फाईनेंस वो भी बिना किस्तों के, बेरोजगारों के लिए बनी ऐसी स्कीम

घाटी में छुट्टी के दिन खुले रहेंगे बैंक

बकरीद के मद्देनजर कश्मीर में प्रशासन मुस्तैद है । घाटी में छुट्टी के दिन बैंक खुले रहेंगे । साथ ही 3500 राशन की दुकानें भी खुली रहेंगी ।

देखें श्रीनगर में क्या है हलचल

श्रीनगर में हालात सामान्य दिख रहे हैं । बकरीद को लेकर लोग खरीदारी कर रहे हैं । यहां सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं । राज्य के डीजीपी ने जनता से अपील की है कि वे अफवाहों पर ध्यान ना दें ।

अमित शाह बोले-अनुच्छेद-370 बिल को लेकर मन में डर था

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को खत्म करने वाले बिल को पेश करने के दौरान उनके मन में डर था । चेन्नई में एक कार्यक्रम में अमित शाह ने कहा कि इस बिल को पेश करते वक्त उनके मन में आशंका थी कि जब वे इस बिल को राज्यसभा में पेश करेंगे तो राज्यसभा चलेगी कैसे?

चेन्नई में राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू की जिंदगी पर एक किताब 'Listening, Learning and Leading' का विमोचन करते हुए अमित शाह ने कहा, 'आंध्र के विभाजन का दृश्य आज भी देश की जनता के सामने है मुझे मन में थोड़ा आशंका थी कि कहीं ऐसे दृश्य का हिस्सेदार मैं भी तो नहीं बनूंगा यही भाव के साथ यही डर के साथ मैं राज्यसभा में खड़ा हुआ वेंकैया जी की कुशलता का ही परिणाम है कि सभी विपक्ष के मित्रों को सुनते सुनते इस बिल को डिवीजन तक कहीं भी कोई ऐसा दृश्य खड़ा नहीं हुआ जिसके कारण देश की जनता को ये लगे कि उच्च सदन की गरिमा नीचे आई है।' इससे पहले अमित शाह ने कहा कि राज्यसभा में हमारा पूर्ण बहुमत नहीं है, फिर भी मैंने तय किया था कि बिल पहले हम राज्यसभा में लेकर जाएंगे, उसके बाद लोकसभा में लेकर जाएंगे।

ये भी देखें : अरुण जेटली की हालत: दौरा रद्द कर इलाज करने पहुंचे AIIMS के डॉक्टर

अमित शाह बोले- कश्मीर से अब आतंकवाद का खात्मा होगा

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि अनुच्छेद-370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर से अब आतंकवाद का खात्मा होगा। अब कश्मीर में विकास होगा। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को बहुत पहले हटा देना चाहिए था, लेकिन नहीं हटाया गया।

भारत-पाक तनाव के बीच कराची में सिंगर मीका सिंह ने किया परफॉर्म

भारत-पाकिस्तान के बीच इन दिनों तनाव काफी बढ़ गया है। भारत के बैन लगाने के बाद पाकिस्तान ने भी इंडियन आर्ट‍िस्ट पर बैन लगा दिया है। ऐसे में सिंगर मीका सिंह का कराची जाकर कंसर्ट करना चर्चा में बना हुआ है। पा‍किस्तानी सिंगर फाकिर महमूद ने सोशल मीडिया पर मीका का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, कश्मीर पूरी तरह से लॉकडाउन है लेकिन एक इंडियन सिंगर आता है, परफॉर्म करता है, पैसे कमाता है और चला जाता है जैसे कि कुछ हुआ ही नहीं। लेकिन धर्म और देशभक्ति तो सिर्फ गरीबों के लिए है।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी ने कहा- घाटी में हालात सामान्य

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी और मुख्य सचिव ने कहा है कि राज्य में हालात सामान्य है। लोग बकरीद की खरीदारी कर रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे अफवाहों पर ध्यान ना दें और गलत सूचना से बचें।

6 दिन में नहीं चली गोलीकुछ अंतरराष्ट्रीय न्यूज एजेंसी ने दावा किया था कि जम्मू और कश्मीर में प्रतिबंधों में ढील दिए जाने के बाद श्रीनगर में 10 हजार लोग सड़कों पर उतर आए थे। इस सभी मीडिया रिपोर्ट्स का गृह मंत्रालय ने खंडन किया था। मंत्रालय ने इसे पूरी तरह गलत और मनगढ़ंत बताया था। अब जम्मू-कश्मीर पुलिस ने भी साफ कर दिया है कि राज्य में हालात पर काबू पाने के लिए पिछले 6 दिनों में गोली का इस्तेमाल नहीं किया गया है। जम्मू और कश्मीर में ईद को ध्यान में रखते हुए प्रतिबंधों में ढील दी गई जिसके बाद लोगों ने खरीदारी भी की।

ये भी देखें : बकरीद 2019: नहीं आता बकरा तो हो जाता बेटा कुरबान, ऐतिहासिक है ये पर्व

लेह में धोनी फहरा सकते हैं तिरंगा

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लद्दाख के लेह में तिरंगा फहरा सकते हैं। भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि पा चुके धोनी इस समय टेरिटोरियल आर्मी के साथ जम्मू कश्मीर में ड्यूटी पर हैं। धोनी ने टेरिटोरियल आर्मी में काम करने के लिए क्रिकेट से दो महीने का आराम ले रखा है। उन्होंने 30 जुलाई को ड्यूटी संभाली थी और वे 15 अगस्त तक अपनी बटालियन के साथ लेह में रहेंगे। सेना के एक अधिकरी ने कहा, ' धोनी भारतीय सेना के ब्रांड एंबेसडर हैं। वह अपनी यूनिट के सदस्यों को प्रेरित करने में लगे हुए हैं। वह कोर के साथ अभ्यास भी कर रहे हैं।' हालांकि अधिकारी ने यह नहीं बताया कि धोनी 15 अगस्त को किस स्थान पर तिरंगा फहराएंगे।

शांति से मनाई जाएगी बकरीद: राज्यपाल

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के साथ मुकालात के इतर राज्य के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा, 'कश्मीर घाटी में शांति के साथ ईद मनाई जाएगी। मैं यहां कश्मीरी लोगों दी जा रही सुविधाओं की जांच कर रहा हूं। हम स्थिति को सामान्य बनाने की कोशिशों में लगे हैं, लेकिन यह दोनों तरफ (सरकार और सुरक्षा बल तथा लोग) से निर्भर करेगा।'

ये भी देखें : कश्मीरः आनेवाले तूफान के मुकाबले की पता नहीं कितनी तैयारी है?

घाटी में सुरक्षा व्यवस्था टाइट

घाटी में अमन-चैन के लिए बकरीद पर सुरक्षा व्यवस्था टाइट कर दी गई है। शोपियां, पुलवामा, अनंतनाग और सोपोर जैसे एरिया में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंताजम किए गए हैं। इधर, जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक बयान जारी कर राज्य में पुलिस की ओर से फायरिंग की खबरों को बेबुनियाद और अफवाह करार दिया है। पुलिस ने कहा है कि पिछले 6 दिनों में पुलिस की ओर से एक भी गोली नही चलाई गई है।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story