×

पागल हुआ पाकिस्तान: चीन से मांग रहा मदद, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

पाक ने अपने मित्र देश चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स (Global Times) में एक लेख के जरिए फिर से जम्‍मू-कश्‍मीर का राग अलापा है।

Shreya
Updated on: 13 Aug 2020 1:37 PM GMT
पागल हुआ पाकिस्तान: चीन से मांग रहा मदद, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब
X
PM Modi-Imran Khan
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: जम्मू और कश्मीर मामले पर हमेशा ही पाकिस्तान की बौखलाहट देखने को मिलती है। कश्मीर मुद्दे पर इंटरनेशनल बेइज्जती होने के बाद भी पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आता। वहीं अब पाक ने अपने मित्र देश चीन के सरकारी अखबार ग्‍लोबल टाइम्‍स (Global Times) में एक लेख के जरिए फिर से जम्‍मू-कश्‍मीर का राग अलापा है।

पाकिस्तानी राजदूत ने किया वैश्विक कार्रवाई करने का आग्रह

इस लेख में चीन में पाकिस्तानी राजदूत मोइ- उल-हक ने भारत सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म करने के एक साल बाद कश्मीरी लोगों की पीड़ा को कम करने के लिए वैश्विक कार्रवाई करने का आग्रह किया है। वहीं ये मामला सामने आने के बाद भारत भी चुप नहीं बैठा और भारतीय राजदूत ने पाकिस्तान को इस मामले पर मुंहतोड़ जवाब दिया है।

यह भी पढ़ें: बिहार एनडीए में भी महाभारत, नीतीश के करीबी नेता ने चिराग को बताया कालिदास

India-pak

कश्मीर मामला भारत का अंदरूनी मसला

भारतीय राजदूत ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों की दुहाई देने वाले पाकिस्‍तानी राजदूत मोइन-उल-हक को पहले अपने अंदर झांककर देखना चाहिए कि पाकिस्‍तानी सेना कैसे अपने कब्जे वाले इलाकों में बकसूर लोगों को परेशान करती है। साथ ही उन्होंने कश्मीर मसले को भारत का अंदरूनी मामला बताया है।

यह भी पढ़ें: कोविड-19: देश में एक दिन में सामने आए रिकॉर्ड मामले, लेकिन बढ़ा रिकवरी रेट

india-pak2

किसी भी देश को दखल देने का अधिकार नहीं

पाकिस्तानी राजदूत मोइन-उल-हक को जवाब देते हुए भारतीय राजदूत ने कहा कि जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाया जाना भारत का अंदरूनी मामला है। इस मुद्दे पर पाकिस्तान या दुनिया के किसी भी देश को दखल देने का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्‍छेद 370 को हटाए हुए एक साल शांतिपूर्ण तरीके से बीत चुके हैं। ऐसे में मोइन-उल-हक की बेचैनी अप्रत्‍याशित नहीं है।

यह भी पढ़ें: अटल पेंशन योजना: डेथ क्लेम प्रोसेसिंग की तारीख बढ़ी, PFRDA ने जारी किया सर्कुलर

आर्टिकल 370 हटाए जाने के एक साल पूरे

उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्‍छेद 370 को हटाए जाने से राज्‍य में हेल्थ और एजुकेशन के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर और मौकों में बढ़ोतरी हुई है। गौरतलब है कि 5 अगस्त, 2019 में केंद्र की मोदी सरकार ने आर्टिकल 370 को हटाकर जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म कर दिया था। अनुच्छेद 370 को खत्म किए जाने के शांतिपूर्वक एक साल पूरे हो चुके हैं।

यह भी पढ़ें: अजी जनाब! अब चाट, चटनी की प्लेट मत चाटिए, इसे पूरा खाने को हो जाइए तैयार

imran

भारत के फैसले ने पाकिस्तान को दिया तगड़ा झटका

इस एक साल के दौरान जम्मू कश्मीर में कोई भी बड़ी आतंकी घटना नहीं हुई है। हालांकि इस फैसले से पाकिस्तान की बौखलाहट बुरी तरह बढ़ी। जिसके चलते ना केवल उसने इस मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय मसला बनाना चाहा, बल्कि पाक सेना ने आंतिकयों की घुसपैठ भी करानी चाही। हालांकि भारतीय सेना के जाबाज जवानों ने पाकिस्तान के इन नापाक मंसूबों को कामयाब नहीं होने दिया।

यह भी पढ़ें: 15 अगस्त को ये खास रिकॉर्ड बनाएंगे PM मोदी, इन प्रधानमंत्रियों को देंगे टक्कर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story