Forbes की इस लिस्ट में, इन दो बिहारियों ने बनाई जगह

र्ब्स (Forbes) मैगजीन ने टॉप 20 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट जारी कर दी है। इसमें उन्होंने दो बिहारियों को भी जगह दी है। फोर्ब्स ने जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को इस लिस्ट में जगह दी है।

Forbes की इस लिस्ट में, इन दो बिहारियों ने बनाई जगह

Forbes की इस लिस्ट में, इन दो बिहारियों ने बनाई जगह

पटना: फोर्ब्स (Forbes) मैगजीन ने टॉप 20 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट जारी कर दी है। इसमें उन्होंने दो बिहारियों को भी जगह दी है। जी हां, फोर्ब्स ने जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर को इस लिस्ट में जगह दी है। दोनों ही चेहरे पिछले कुछ दरिनों से गलियारों में चर्चा का विषय भी बने रहे हैं। फोर्ब्स के मुताबिक, ये दोनों ही लोग आने वाले दशक में भारतीय राजनीति में निर्णायक चेहरे साबित हो सकते हैं।

Forbes की लिस्ट में मिला ये स्थान

Forbes की टॉप 20 प्रभावशाली लोगों की इस लिस्ट में कन्हैया कुमार को 12वां और प्रशांत किशोर को 16वां स्थान प्राप्त हुआ है। कन्हैया कुमार और प्रशांत किशोर के अलावा मैग्जीन में 5 अन्य भारतीय मूल के लोगों को भी लिस्ट में जगह मिली है।

यह भी पढ़ें: PCS:उम्र सीमा व अवसर में कटौती पर आयोग ने दिया जवाब, जानिए क्या है पूरा मामला

इन लोगों को भी मिली जगह

अगर राजनीतिक हस्तियों की बात की जाए तो इस लिस्ट में कन्हैया कुमार और प्रशांत किशोर के अलावा श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे, सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान, पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग, न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और फिनलैंड की प्रधानमंत्री सना मारिन का नाम भी शामिल किया गया है।

Forbes ने कन्हैया कुमार के बारे में लिखा

Forbes ने जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के बारे में कहा कि, भविष्य में कन्हैया भारतीय राजनीति में शक्तिशाली पहचान बनाने की कोशिश कर रहे हैं। वह जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्र राजनीति का चेहरा उस समय बन गए, जब 2016 में देशद्रोह के आरोपों का जवाब दिया था।

यह भी पढ़ें: पठान परिवार में पैदा हुआ ब्राह्मण, आखिर ऐसा क्यों कहते थे इरफान के पापा

कन्हैया ने जेएनयू से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की है। कन्हैया ने अपनी पहली राजनीतिक लड़ाई 2019 में बिहार के बेगूसराय लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से लड़ी। लेकिन वो उस वक्त बीजेपी के गिरिराज सिंह से हार गए थे। हालांकि उन्होंने कुल मतों का 22.03 प्रतिशत प्राप्त किया था।

Forbes ने प्रशांत किशोर के बारे में लिखा…

वहीं जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर के बारे में फोर्ब्स ने लिखा कि, चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने साल 2011 में बीजेपी को गुजरात चुनाव में जीत दिलाने में मदद की थी। अब एक संगठन के संरक्षक के तौर पर काम कर रहे हैं। प्रशांत ने अपनी कम्पनी CAG के तहत बीजेपी के लिए काम किया और साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी को जीत दिलाने में अहम योगदान निभाया।

हालांकि CAG का नाम बदलकर बाद में i-pac कर दिया गया। फिर साल 2019 में प्रशांत की कम्पनी i-pac ने जगमोहन रेड्डी के लिए आंध्र प्रदेश और शिवसेना के लिए महाराष्ट्र चुनाव में कैंपेनिंग की। फिलहाल प्रशांत अब 2020 विधानसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी और दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के लिए कैंपेन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: अमेरिका-ईरान के हालात ठीक नहीं, PM मोदी ने ट्रंप से की बातचीत

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App