कर्नाटक: सुप्रीम कोर्ट ने तत्काल सुनवाई से किया इनकार, कल हो सकता है विचार

कांग्रेस-जद(एस) सरकार से समर्थन वापस लेने वाले दो निर्दलीय विधायकों ने राज्य विधानसभा में जल्द से जल्द शक्ति परीक्षण कराने का निर्देश देने का अनुरोध करते हुए न्यायालय में अर्जी दी है।

Published by Manali Rastogi Published: July 22, 2019 | 12:02 pm
Modified: July 22, 2019 | 12:25 pm

नई दिल्ली: कर्नाटक में जल्द से जल्द शक्ति परीक्षण कराने की दो निर्दलीय विधायकों की याचिका पर तत्काल सुनवाई करने से उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को इनकार कर दिया। हालांकि शीर्ष अदालत ने कहा कि वह याचिका पर मंगलवार को विचार कर सकती है। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा, ‘‘असंभव। हमने पहले ऐसा कभी नहीं किया है। हम कल इसपर विचार कर सकते हैं।’’

यह भी पढ़ें: इमरान खान इस मकसद से डोनाल्ड ट्रंप से करेंगे मुलाकात

निर्दलीय विधायकों आर. शंकर और एच. नागेश की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने पीठ से कहा कि उन्होंने कर्नाटक मामले में ताजा याचिका दायर की है और मामले की तुरंत सुनवाई का अनुरोध कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: सावन स्पेशल शिवलिंग की मान्यताएं:12 ज्योतिर्लिंग की 12 कहानियां, कुछ सुनी, कुछ अनुसुनी

इसपर जवाब देते हुए पीठ ने उक्त बात कही। रोहतगी ने कहा कि शक्ति परीक्षण को किसी न किसी कारण से टाला जा रहा है। उन्होंने कहा कि जब जद(एस) गठबंधन को पहले शक्ति परीक्षण का आदेश दिया जा सकता है तो, वही आदेश फिर से दिया जा सकता है। सपर पीठ ने कहा, ‘‘हम कल देखेंगे।’’

यह भी पढ़ें: वाराणसी: होटल में छात्रा की गोली मारकर हत्या, आरोपी हाेटल मालिक गिरफ्तार

कांग्रेस-जद(एस) सरकार से समर्थन वापस लेने वाले दो निर्दलीय विधायकों ने राज्य विधानसभा में जल्द से जल्द शक्ति परीक्षण कराने का निर्देश देने का अनुरोध करते हुए न्यायालय में अर्जी दी है। उन्होंने कहा कि उनके समर्थन वापस लेने और गठबंधन के 16 विधायकों के इस्तीफे के बाद राज्य में राजनीतिक संकट पैदा हो गया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App